Connect with us

देश

चीन मुद्दे पर बोली सरकार, 6 महीने में नहीं हुई कोई भी घुसपैठ, कांग्रेस ने घेरा

Published

on

कांग्रेस बोली, फिर रक्षामंत्री ने सदन में क्यों मानी चीन के अवैध कब्जे की बात

नई दिल्ली। संसद में मानसून सत्र के तीसरे दिन चीन-भारत सीमा पर पिछले 6 महीने में किसी प्रकार के घुसपैठ की घटना होने को लेकर भाजपा सांसद डॉ. अनिल अग्रवाल के सवाल उठाने पर केंद्र सरकार ने लिखित में जवाब दिया। इसमें बताया गया कि इस दौरान सीमा पर किसी प्रकार की घुसपैठ की घटना नहीं हुई। सरकार के इस जवाब पर कांग्रेस ने उसे निशाने पर लिया है।
लद्दाख में चीनी सैनिकों के हमले और घुसपैठ को लेकर लगातार सीमा पर द्विपक्षीय वार्ता का दौर जारी है। ऐसे में राज्यसभा में अतारांकित प्रश्न पर गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने सरकार की तरफ से लिखित जवाब में कहा कि पिछले छह महीनों के दौरान भारत-चीन सीमा पर घुसपैठ की कोई सूचना नहीं है। सरकार के इस जवाब पर कांग्रेस नेताओं ने पलटवार करते हुए कहा कि एक तरफ रक्षामंत्री जी कहते हैं कि चीन ने भारत की भूमि पर अतिक्रमण किया है जबकि संसद में सरकार लिखित जवाब में अलग बात करती है। आखिर सरकार किसी भी विषय पर स्पष्ट बयान क्यों नहीं देती।
इस दौरान कांग्रेस ने यह भी सवाल उठाया कि बीते दिन संसद में दिए गए राजनाथ सिंह के बयान का क्या अर्थ निकाला जाए। दरअसल रक्षामंत्री ने चीन से सीमा विवाद की स्थिति समझाते हुए यह माना था कि चीन ने लद्दाख में भारत की लगभग 38 हजार वर्ग किमी भूमि पर अनधिकृत कब्जा किया है। उन्होंने सदन को यह भी बताया कि 1963 में तथाकथित सीमा-समझौते के तहत पाकिस्तान ने पीओके की 5180 वर्ग किमी भारतीय भूमि को अवैध रूप से चीन को सौंप दी है। ऐसे में अब लिखित जवाब में सरकार का यह कहना कि उसके पास चीनी अतिक्रमण की कोई सूचना नहीं है, दुखद है।
भारत-पाकिस्तान सीमा पर घुसपैठ को लेकर गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने बताया कि पाकिस्तान की तरफ से फरवरी में जीरो, मार्च में चार, अप्रैल में 24, मई में आठ, जून में शून्य और जुलाई में 11 बार घुसपैठ की कोशिश हुई।
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Trending