Connect with us

देश

मध्य प्रदेश के इंदौर में “कोरोना वॉरियर्स” पर हमला, मेडिकल टीम पर फेंके पत्थर

Published

on

इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर में स्वास्थ्यकर्मियों (कोरोना वॉरियर्स) से मारपीट और पथराव का मामला एक बार फिर सामने आया है। ताजा मामला टाटपट्टी बाखल इलाके का है। यहां स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच के लिये पहुंची थी।

इसी बात पर स्थानीय लोग भड़क गये कथित तौर पर उन्होंने पुलिस के बैरिकेड को तोड़ा और स्वास्थ्यकर्मियों पर पथराव कर दिया, बाद में पुलिसवालों ने मौके पर पहुंचकर मामला शांत करवाया। इससे पहले, सोमवार को रानीपुरा इलाके में कोविड की जांच में जुटी टीम ने आरोप लगाया था कि मोहल्ले के लोगों ने उनके साथ गाली-गलौच की उनपर थूका गया था।

मामला सामने आने के बाद ज़िले के कलेक्टर मनीष सिंह ने सख्त कार्रवाई करने की बात कही है। उन्होंने क​हा कि “डॉक्टर और मेडिकल स्टॉफ से कोई भी अभद्रता करेगा तो उसे छोड़ा नहीं जाएगा। हमारी टीम-डॉक्टर, पुलिसकर्मी दिन रात मेहनत कर रहे हैं और शहर की जनता के स्वास्थ्य के लिए घूम रहे हैं. इनके साथ यदि कोई बदतमीजी होगी तुरंत एफआईआर होगी, गिरफ्तारी होगी और जेल भी भेजा जाएगा।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश

उद्धव ठाकरे के घर में कोरोना की सेंध, मातोश्री का कर्मचारी निकला पॉजिटिव

Published

on

By

मुंबई। कोरोना वायरस (कोविड 19) ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर घर पर भी सेंध लगा दी। उनके बंगले मातोश्री का एक कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव मिला है। इसके बाद तो हड़कंप मच गया। आनन- फानन में कर्मचारी को अस्पताल में भर्ती करा कर मातोश्री को सैनेटाइज कराया गया।

उद्धव ठाकरे और उनका परिवार मातोश्री बंगले में ही रह रहा है। इसी बंगले में कुत्ते को संभालने वाले एक कर्मचारी की तबीयत कुछ दिनों से खराब चल रही थी। उसकी जांच कराई गई तो वह कोरोना पाॅजिटिव निकला।

बताउ दें कि मातोश्री के बाहर ही चाय का स्टॉल लगाने वाला व्यक्ति भी कोरोना मरीज हो गया था। इसी तरह मातोश्री में कार्यरत तीन पुलिसकर्मी भी कोरोना पाॅजिटिव पाए गए थे। इन सभी का इलाज किया गया और स्वस्थ हो गए हैं। उद्धव ठाकरे व उनका पूरा परिवार पूरी ऐहतियात बरत रहा है।

Continue Reading

देश

महाराष्ट्र में कहर बरपा रहा निसर्ग तूफान, तेज हवाओं के साथ भारी बारिश, कई जगह पेड़ गिरे

Published

on

By

मुंबई। महाराष्ट्र के तटीय इलाकों से टकराने के बाद निसर्ग तूफान ने तबाही मचानी शुरू कर दी। तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है। मौसम विभाग के अनुसार, यह प्रकिया अगले तीन घंटों तक चलेगी। हवा 120 से 140 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही है।

निसर्ग के चलते कई जगहों पर नुकसान की खबर आ रही है। कई जगहों पर पेड़ जड़ से उखड़ गए तो वहीं कच्चे मकानों को काफी नुकसान हुआ है। कुछ जगहों से निसर्ग तूफान के चलते बिजली गुल हो गई है।

तबाही को देखते हुए मुंबई और गुजरात में रेड अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग ने बताया कि यह गंभीर रूप धारण कर सकता है। मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया कि निसर्ग चक्रवात महाराष्ट्र के तट पर अलीबाग के निकट पहुंच गया है और इस प्रक्रिया के अपराह्न 4 बजे तक पूरा हो जाने का अनुमान है।

चक्रवात के पहुंचने की प्रक्रिया अपराह्न करीब साढ़े 12 बजे आरंभ हो गई थी। चक्रवात मुंबई से 95 किलोमीटर की दूरी पर स्थित अलीबाग से करीब 40 किलोमीटर दूर है। आईएमडी ने एक बयान में कहा, ‘बादल का दाहिना हिस्सा महाराष्ट्र के तटीय क्षेत्र, खासकर रायगढ़ जिले से होकर गुजर रहा है।

यह आगामी तीन घंटे में मुंबई और ठाणे जिलों में पहुंचेगा।’ वहीं, गुजरात और महाराष्ट्र के तटीय क्षेत्रों से 40 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। महाराष्ट्र में लोगों को तटीय इलाकों में जाने से रोका गया है।

Continue Reading

देश

चीन विवाद पर बोले राजनाथ सिंह, डोकलाम​ ​​की ही तरह वार्ता से निकलेगा​ हल

Published

on

नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने माना है कि लद्दाख में गलवान वैली और पैंगोग त्सो के चार पाइंट्स पर भारत-चीन के सैनिक डटे हुए हैं। हालांकि इस बीच तनाव बढ़ाने वाली कोई नई घटना नहीं हुई है लेकिन फिर भी तनाव बरकरार है।​ रक्षामंत्री ने उम्मीद जताई कि 6 जून को फिर दोनों सेनाओं के वरिष्ठ अधिकारियों के स्तर पर ​होने वाली ​बातचीत में विवाद का कुछ न कुछ हल​ ​जरूर निकलेगा।

कूटनीतिक स्तर पर भी बातचीत जारी

उन्होंने कहा कि अब तक कई दौर की वार्ता में दोनों देशों के सैन्य अधिकारी किसी ऐसे नतीजे तक नहीं पहुंच पाए हैं जिससे समाधान निकल सके। इसलिए साथ-साथ ​​भारत-चीन के बीच ​कूटनीतिक स्तर पर भी बातचीत जारी है।

बातचीत का नेतृत्व करने के लिए तैयार जनरल हरिंदर सिंह

लेह स्थित 14 कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह अगले दौर की बातचीत का नेतृत्व करने के लिए तैयार हैं। इस बार चीनी कर्नल, ब्रिगेडियर और प्रमुख जनरलों को स्पष्ट संदेश दिया गया है कि वार्ता से समस्या का हल निकलना चाहिए क्योंकि इससे पहले कई दौर की बातचीत लंबे सैन्य गतिरोध को तोड़ने में विफल रही है। वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारी चीनी सैन्य निर्माण को लेकर चल रहे तनाव के बीच दोनों देशों की सेनाओं ने संकट को हल करने के लिए मंगलवार को भी बातचीत की लेकिन यह वार्ता भी पिछली बैठकों की तरह बेनतीजा रही।

राजनाथ सिंह ने जताई उम्मीद

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि इससे प​हले भी ​डोकलाम​ ​विवाद का हल ​दोनों देशों के सैन्य ​अधिकारियों के बीच वार्ता से कूटनीतिक स्तर पर निकला है। पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन की सेनाओं के बीच लगभग एक महीने से चल रहे गतिरोध का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि चीनी सैनिक एक ‘बड़ी संख्या’ उन क्षेत्रों में स्थानांतरित हो गए हैंं जिस पर चीन का दावा है कि यह उसका क्षेत्र है। चीन के बाद वहां भारत की तरफ से भी ज्यादा सैनिकों की तैनाती की गई है और भारत ने भी स्थिति से निपटने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए हैं।
उन्होंने कहा ​कि ​अब तक सैन्य ​अधिकारियों के बीच​ वार्ताओं में समस्या का हल नहीं निकल पाया है लेकिन वार्ता के रास्ते अभी बंद नहीं हुए हैं। ​​रक्षामंत्री ने उम्मीद जताई कि 6 जून को फिर दोनों सेनाओं के वरिष्ठ अधिकारियों के स्तर पर ​होने वाली ​बातचीत में विवाद का कुछ न कुछ हल​ ​जरूर निकलेगा।
Continue Reading

Trending