Monday, June 27, 2022
spot_img
Homeराज्यउत्तराखंडचारधाम यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए जरुरी गाइडलाइन जारी, 50...

चारधाम यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए जरुरी गाइडलाइन जारी, 50 साल से अधिक उम्र वालों की यात्रा मुश्किल !

देहरादून। चारधाम यात्रा पर भारी संख्या में श्रद्धालु पहुँच रहे हैं। इस बीच चारधाम जाने वाले यात्रियों के लिए बड़ी खबर है की 50 साल से अधिक उम्र के लोगों को यात्रा करना मुश्किल हो सकता है। अब 50 साल से अधिक उम्र वालों का स्वास्थ्य परीक्षण अनिवार्य कर दिया गया है। स्वस्थ पाए जाने के बाद ही अब उन्हें यात्रा की इजाजत दी जाएगी। स्वास्थ्य सचिव राधिका झा ने चारधाम से जुड़े सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिए कि चारधाम में बिगड़ते मौसम को देखते हुए यात्रा मार्ग पर शुरू में ही तीर्थयात्रियों का स्वास्थ्य परीक्षण सुनिश्चित कर लिया जाए।

यात्रा को लेकर लोगों को किया जाए सतर्क

स्वास्थ्य सचिव राधिका झा ने निर्देश देते हुए कहा कि जिन लोगों को कोई बीमारी है उन्हें यात्रा के खतरे को लेकर सतर्क किया जाए। स्वास्थ्य विभाग की ओर से चारधाम में स्वास्थ्य सुविधाओं का इंतजाम किया गया है लेकिन खराब हालात की वजह से कई लोगों का स्वास्थ्य अचानक खराब हो रहा है। अभी तक एक लाख से अधिक लोगों की हेल्थ स्क्रीनिंग जा चुकी है। उन्होंने बताया कि 73 यात्रियों को लौटाया गया है जबकि 1800 से अधिक यात्रियों ने शपथ पत्र देकर अपने रिस्क पर यात्रा की है। 206 यात्रियों को हायर सेंटर रेफर किया गया जबकि 26 यात्रियों को एयर लिफ्ट कराया गया है।

केदारनाथ यात्रा : चार श्रद्धालु ने गवाईं जान

केदारनाथ यात्रा पर आए चार तीर्थयात्रियों की मौत हो गई। केदारनाथ की विषम परिस्थिति में उनकी मौत का कारण हृदयगति रुकना बताया जा रहा है। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ बीके शुक्ला ने बताया कि मंगलवार को केदारनाथ में 4 यात्रियों की मृत्यु हुई है। जिसमें 56 वर्षीय रविन्द्र नाथ मिश्रा, प्रताप नगर यूपी, 65 वर्षीय अनिता राय सिन्धे, ग्राम भागला जिला औरंगाबाद महाराष्ट्र, 60 वर्षीय मानकुंवर नागर, एमपी तथा 56 वर्षीय लता कमावत, थाना नथवाड़ा राजस्थान की मृत्यु हुई है।

अब तक कुल 34 यात्रियों की गई जान

उन्होंने बताया कि अब तक कुल 34 यात्रियों की मौत हो चुकी है। सीएमओ ने बताया कि केदारनाथ धाम में दर्शन करने आ रहे तीर्थयात्रियों में यदि किसी के भी स्वास्थ्य खराब होने पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा तत्परता से स्वास्थ्य परीक्षण करते हुए उपचार किया जा रहा है जिसके लिए यात्रा मार्ग से लेकर केदारनाथ धाम तक डॉक्टरों की तैनाती की गई है। डॉक्टरों द्वारा ओपीडी के माध्यम से श्रद्धालुओं का स्वास्थ्य परीक्षण एवं उपचार किया जा रहा है। मंगलवार को 522 श्रद्धालुओं का स्वास्थ्य परीक्षण और100 यात्रियों को ऑक्सीजन उपलब्ध कराया गया।

यमुनोत्री धाम : दो और तीर्थयात्रियों की मौत

यमुनोत्री धाम यात्रा पर आए दो और तीर्थ यात्रियों की हृदय गति रुकने से मौत हो गई है। यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के बाद अब तक यमुनोत्री यात्रा मार्ग पर 19 यात्रियों मृत्यु हो चुकी है। यमुनोत्री यात्रा मार्ग पर सोमवार शाम के दौरान विनायक गुलाब राव मांडवे (77) पुत्र गुलाब राव मांडवे निवासी सिंघवा, बाड़वानी मध्यप्रदेश तथा दिलीप रोड़ (63) पुत्र किशन चंद सेठ, बी-12 अल्का दादा भाई रोड बिले पारले मुंबई यमुनोत्री जाते समय नौ कैंची के पास चक्कर आने पर गिर पड़े। दोनों यात्रियों की हृदय गति रुकने से मौत हो गई।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments