Connect with us

हेल्थ

गुणों का भण्डार है तरबूज, गर्मी में आपकी सेहत का भी रखेगा ख्याल, जानें इसके फायदे

Published

on

नई दिल्ली। इस मौसम में रसीले फलों की भरमार रहती है। इस मौसम में शरीर को ठंडा रखने के आप कई जतन करते हैं। ऐसे ही एक फल है तरबूज। आज इस लेख में हम आपको मरबूज से जुड़ी हुई जानकारी देंगे कि आपके शरीर के लिए तरबूज कैसे फायदेमंद साबित हो सकता है।
तरबूज में 90 प्रतिशत पानी और ग्लूकोज होता है। यह हमारे शरीर को ठंडक प्रदान करता है। इसमें मौजूद विटामिन, मिनरल, फाइबर जैसे पोषक तत्व, लाइकोपीन, फेनोलिक, बीटा कैरोटीन एंटीऑक्सिडेंट और अमीनो एसिड स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। शोध से साबित हुआ है कि गर्मियो में अगर हम रोज तरबूज खाते हैं, तो हमारी जीवनशैली संबंधी कई बीमारियों की आशंका काफी कम हो जाती है।

हाइपरटेंशन में दे आराम

अमेरिकन जर्नल ऑफ हाइपरटेंशन में प्रकाशित एक रिसर्च के अनुसार, तरबूज को पूरक आहार के तौर पर रोजाना खाने से हमारे शरीर का सर्कुलेशन सिस्टम ठीक होता  है और हाइपरटेंशन वाले मरीज को राहत मिलती है। स्टेज-1 मरीजों की हाइपरटेंशन रिवर्स हो जाती है।

रखे दिल का ध्यान

लाइकोपीन का अच्छा स्रोत होने के कारण तरबूज का नियमित सेवन हार्ट आर्टरीज में ब्लॉकेज को दूर कर ब्लड सर्कुलेशन को सुचारू रूप से चलाने में मदद करता है और हृदय के कई रोगों से बचाव करता है।

करे कैंसर को नियंत्रित

तरबूज में मौजूद विटामिन सी और लाइकोपीन कैंसर कोशिकाओं को विकसित होने से रोकते हंै। नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट ने रिसर्च से साबित किया है कि लाइकोपीन प्रोस्टेट कैंसर की रोकथाम में सहायक है।

किडनी के काम में सहायक

पोटैशियम, कैल्शियम जैसे पोषक तत्वों से भरपूर तरबूज किडनी को स्वस्थ बनाए रखता है। किडनी ब्लड में मौजूद विषाक्त पदार्थों को फिल्टर कर शरीर से बाहर निकालती है। तरबूज के नियमित सेवन से ब्लड सर्कुलेशन अच्छी तरह होता है, जो किडनी को सुचारू रूप से काम करने और शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

से बचाए

गर्मियों में शरीर में पानी की कमी से होने वाले डीहाइड्रेशन और हीट स्ट्रोक की आशंका से बचाने में तरबूज बेहद कारगर साबित होता है। इसके लिए इस मौसम में इसका नियमित सेवन जरूरी है। तरबूज में 90-92 प्रतिशत पानी होता है, जो शरीर में इलेक्ट्रोलाइट बैलेंस बनाए रखता है।

कब्ज करे दूर

पानी और फाइबर से भरपूर तरबूज का नियमित सेवन पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है और कब्ज की शिकायत को दूर करता है। यह पाचन तंत्र को बेहतर कर आंतों के कार्य को बेहतर करता है, जिससे शौच में दिक्कत  नहीं आती।

सूजन में दे आराम

तरबूज में एल-सिट्रलीनऔर एल-अर्जीनाइन नामक अमीनो एसिड और एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं, जो ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाकर मसल्स की सूजन दूर करने में सहायक हंै। अपने इन्हीं गुणों के कारण तरबूज डायबिटीज, हार्ट डिजीज, फाइब्रोम्याल्जिया जैसी बीमारी में होने वाली सूजन में आराम पहुंचाता है। एथलीट्स को यह अमीनो एसिड दिया जाता है, ताकि उनकी मसल्स में सूजन दूर हो और रिकवरी जल्दी से जल्दी हो।

पैरों की झनझनाहट करे दूर

पोटैशियम से भरपूर तरबूज का नियमित सेवन तंत्रिका तंत्र के कार्यों को सुचारू रूप से चलाने में मदद करता है। इससे पैरों में ऐंठन, सुन्नपन, झनझनाहट को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

त्वचा व बालों के लिए फायदेमंद

तरबूज में मौजूद विटामिन ए और पानी त्वचा और बालों को मॉइस्चराइज रखने में मदद करते हंै और उनकी चमक बढ़ाते हंै। यह बॉडी टिशूज को विकसित करने में मदद करता है। इसमें मौजूद बीटा कैरोटीन त्वचा को स्वस्थ बनाए रखता है। विटामिन सी की अच्छी मात्रा से भरपूर होने के कारण तरबूज का नियमित सेवन नए कोलेजन और इलास्टिक कोशिकाओं के स्वस्थ विकास में मदद
करता है।

मोटापे को करे नियंत्रित

तरबूज में कैलरी और फैट न होने से यह भरपेट खाने पर भी मोटापा नहीं बढ़ाता। फाइबर और पानी टमी फुलर का एहसास दिलाते हंै। वेट लॉस सेशन में शामिल लोगों के लिए यह बहुत अच्छा फल है। तरबूज में मौजूद एल-सिट्रलीन और एल-अर्जीनाइन नामक अमीनो एसिड अतिरिक्त वसा के संचय को कम करने में काफी मदद करते हंैै।

आंखों के लिए फायदेमंद

तरबूज में विटामिन ए अल्फा कैरोटोनॉयड और बीटा कैरोटोनॉयड के रूप में मिलता है, जो आंखों के लिए बहुत फायदेमंद साबित होता है। यानी आप तरबूज का नियमित सेवन कर अपनी आंखों की सेहत को भी बेहतर कर सकते हैं। https://www.kanvkanv.com
Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हेल्थ

डायबिटीज रोगी अपनी बीमारी से हैं अनजान, ऐसे रख सकते हैं ध्यान

Published

on

नई दिल्ली। भारत में मधुमेह को लेकर जागरुकता की कमी है। यही कारण है कि ज्यादातर लोगों को यह मालूम ही नहीं है कि वे मधुमेह से पीडि़त हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन की मानें तो वर्तमान में भारत में करीब 6.2 करोड़ लोग मधुमेह से पीडि़त हैं। ऐसा माना जा रहा है कि यह संख्या 2025 में बढ़कर 7 करोड़ तक पहुंच सकती है।

जीवनशैली की बीमारी कही जाने वाली डायबिटीज, दुनिया में दूसरे सबसे अधिक आबादी वाले देश के लिए एक विशाल सार्वजनिक स्वास्थ्य बाधा है। मधुमेह से गुर्दे की क्षति और हृदय रोग सहित जानलेवा जटिलताओं का खतरा बढ़ा सकता है।

युवाओं की बढ़ती संख्या के कुछ प्रमुख कारण हैं

इस बारे में बात करते हुए, पद्म श्री अवार्डी, डॉ. के के अग्रवाल, अध्यक्ष, एचसीएफआई ने कहा कि प्रोसेस्ड एवं जंक फूड से भरपूर उच्च कैलोरी वाला आहार, मोटापा और निष्क्रिय जीवन, देश में मधुमेह पीडि़त युवाओं की बढ़ती संख्या के कुछ प्रमुख कारण हैं। समय पर ढंग से जांच न कर पाना और डॉक्टर के निर्देषों का पालन न करना उनके लिए और भी जटिल हो जाता है, जिससे उन्हें अपेक्षाकृत कम उम्र में अन्य संबंधित परेशानियों में फंसने का खतरा हो जाता है।

एक धारणा यह भी है कि क्योंकि टाइप 2 मधुमेह वाले युवाओं को इंसुलिन की आवश्यकता नहीं होती है, इसलिए यह उतना भयावह नहीं है जितना कि लगता है। हालांकि, यह एक गलत धारणा है। इस स्थिति में तत्काल उपचार और प्रबंधन की आवश्यकता होती है।

टाइप 2 मधुमेह के लक्षण समय के साथ धीरे-धीरे विकसित होते हैं। उनमें से कुछ में प्यास और भूख में वृद्धि, बार-बार पेशाब आना, वजन कम होना, थकान, धुंधली नजर, संक्रमण और घावों का धीमी गति से उपचार और कुछ क्षेत्रों में त्वचा का काला पडऩा शामिल हैं।

इन बातों का रखें ध्यान

  • 1. बीपी कम ही रखें। एलडीएल यानी ‘खराब’ कोलेस्ट्रॉल का स्तर, रैस्टिंग हृदय गति, चीनी और पेट के निचले स्तर की चौड़ाई को 80 से कम रखें।
  • 2. प्रतिदिन 80 मिनट पैदल चलें। सप्ताह में 80 मिनट (कम से कम) प्रति मिनट 80 कदम की गति से तेज दौड़ें।
  • 3. भोजन कम ही खाएं। प्रत्येक भोजन में 80 ग्राम या एमएल से अधिक कैलोरी न लें।
  • 4. वर्ष में 80 दिन बिना अनाज वाला उपवास करें।
  • 5. धूम्रपान न करें। वरना उपचार के लिए रु. 80,000 अलग करके रखें।
  • 6. एल्कोहॉल ना पिएं। यदि आप इसे लेते हैं, तो पुरुषों के लिए प्रति दिन 80 मिलीलीटर (महिलाओं के लिए 50 प्रतिशत) या प्रति सप्ताह 80 ग्राम से अधिक का उपभोग न करें। 30 मिलीलीटर शराब या एक औंस 80 प्रूफ लिक्वर में दस ग्राम अल्कोहल मौजूद होता है।
  • 7. यदि आप हृदय रोगी हैं, तो एक दिन में 80 मिलीग्राम एस्पिरिन और 80 मिलीग्राम एटोरवास्टेटिन लेने पर विचार करें।
  • 8. किडनी और फेफड़े के कार्य को 80 प्रतिशत से अधिक रखें।
  • 9. पीएम 2.5 और पीएम 10 के स्तर वाले धूल कणों से बचें।
  • 10. शोर के 80 डीबी स्तर के संपर्क में आने से बचें।
  • 11. साल में 80 दिन धूप से विटामिन डी लें।
  • 12. प्राणायाम (पैरासिम्पेथेटिक ब्रीदिंग) के 80 चक्र प्रति दिन 4 मिनट की गति से करें।
  • 13. हर दिन खुद के साथ 80 मिनट बिताएं (विश्राम, ध्यान, दूसरों की मदद करना आदि)। https://www.kanvkanv.com
Continue Reading

हेल्थ

जानें कैसे होता है स्किन कैंसर, बचाव के लिए इन टिप्स को करें फॉलो

Published

on

नई दिल्ली। कैंसर का नाम सुनते ही हम सहम जाते हैं। आज हम बात करेंगे त्वचा के कैंसर की। गौरतलब है कि भारत में महिलाओं से ज्यादा पुरुषों में त्वचा कैंसर का मामला 70 फीसदी अधिक पाया जाता है। यह आम कैंसरों में से एक है। यह नियमित रूप से सूरज की रोशनी के बिना भी हो सकता है। आज इस लेख में हम आपको कुछ खास टिप्स बताएंगे।

मेलेनोमा त्वचा कैंसर का सबसे सामान्य रूप

त्वचा कैंसर तब होता है जब अप्राकृतिक त्वचा कोशिकाओं या ऊतकों की अनियंत्रित वृद्धि होती है। इसके कारण आनुवांशिक कारकों से लेकर पराबैंगनी विकिरण के संपर्क में आना है। हालांकि मेलेनोमा त्वचा कैंसर का सबसे सामान्य रूप है, और यह इस स्थिति के कारण होने वाली अधिकांश मौतों का कारण भी है। ज्यादातर त्वचा कैंसर सूरज से सुरक्षा उपायों के जरिये आसानी से रोका जा सकता है।

मृत्यु का बन सकता है कारण

इस बारे में बात करते हुए, पद्म श्री अवार्डी, एचसीएफआई के अध्यक्ष डॉ. के के अग्रवाल ने कहा, मेलानोमा त्वचा के कैंसर के सबसे घातक रूपों में से एक है और यह मेलानोसाइट्स या त्वचा में मौजूद वर्णक कोशिकाओं में विकसित होता है। यह शरीर के अन्य भागों (मेटास्टेसाइज) में फैल सकता है और गंभीर बीमारी और मृत्यु का कारण बन सकता है।

मेलानोमा के संकेतों को पहचानने के लिए एबीसीडीई नियम का उपयोग कर सकते हैं- ए सिमेट्री – एक तिल या जन्मचिह्न का एक हिस्सा दूसरे से मेल नहीं खाता, बी क्रम – किनारों पर अनियमित, दांतेदार, नोकदार या धुंधले हैं, सी रंग – यह सभी पर समान नहीं है और इसमें भूरे या काले रंग के शेड शामिल हो सकते हैं, कभी-कभी गुलाबी, लाल, सफेद या नीले रंग के पैच के साथ, डी व्यास – स्पॉट एक चैथाई इंच से बड़ा है – एक पेंसिल इरेजर के आकार के बारे में, ई विकास – तिल आकार या रंग में बदल रहा हो।

एचसीएफआई के कुछ सुझाव

1. दिन में सूरज से बचें। दिन के अन्य समय के लिए, यहां तक कि सर्दियों में या आकाश में बादल छाए रहने पर बाहरी गतिविधियों को शेड्यूल करें। बादल हानिकारक किरणों से थोड़ी सुरक्षा प्रदान करते हैं। सूरज से बचना सबसे अच्छा उपाय है, इससे आपको उन सनबर्न और सनटैन से बचने में मदद मिलती है जो त्वचा को नुकसान पहुंचाते हैं और त्वचा के कैंसर के विकास के जोखिम को बढ़ाते हैं।

2. सनस्क्रीन साल भर लगायें। सनस्क्रीन सभी हानिकारक यूवी विकिरण को फिल्टर नहीं करते हैं, विशेष रूप से विकिरण जो मेलेनोमा का कारण बन सकता है, लेकिन वे समग्र सूर्य संरक्षण देते हैं। कम से कम 15 एसपीएफ वाले ब्रॉड-स्पेक्ट्रम सनस्क्रीन का उपयोग करें।

3. सुरक्षात्मक कपड़े पहनें। अपनी त्वचा को अंधेरे, कसकर बुने हुए कपड़ों से ढंकें जो आपकी बाहों और पैरों को ढंके और चैड़ी-चैड़ी टोपी हो, जो बेसबॉल टोपी की तुलना में अधिक सुरक्षा प्रदान करती है।

4. ऐसे धूप के चश्मे का विकल्प जो दोनों प्रकार के यूवी विकिरण – यूवीए और यूवीबी किरणों को रोकता है।

5. टैनिंग बेड से बचें। टैनिंग बेड यूवी किरणों का उत्सर्जन करते हैं और आपकी त्वचा कैंसर का खतरा बढ़ा सकते हैं।

6. अपनी त्वचा से परिचित हो जाएं ताकि आप बदलावों को नोटिस करें। अपनी त्वचा की नियमित रूप से नई त्वचा की वृद्धि या मौजूदा मोल्स, फ्रीकल्स, बम्प्स और बर्थमार्क में बदलाव की जांच करें। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

हेल्थ

मोटापा है सबसे बड़ी समस्या, हो सकती हैं गंभीर बीमारियां, जानें कारण, आजमाएं ये तरीका

Published

on

नई दिल्ली। दुनिया में मोटापा एक गंभीर समस्या के रूप में फैलता जा रहा है। समय-समय पर इसके लिए जागरुकता लाने के लिए कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाता है। कार्यक्रम में मोटापे से होने वाली बीमारी, रोकथाम, मोटापे के कारण, पोषण व व्यायाम की जरूरतों के बारे में जानकारी दी जाती है। इस बार कार्यक्रम कर आयोजन नोएडा स्थित जेपी मल्टी सुपर-स्पेशियालिटी हॉस्पिटल ने किया था।

10 मुख्य जोखिमों में से एक मोटापा

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने मोटापे को स्वास्थ्य के 10 मुख्य जोखिमों में से एक बताया है। 23 फीसदी से अधिक महिलाएं या तो मोटापे की शिकार हैं या उनका वजन सामान्य से कम है। यह दर पुरुषों (20 फीसदी) की तुलना में अधिक है। मोटापे के बारे में बात करते हुए जेपी हॉस्पिटल के जीआई एंड हेपेटोपेन्क्रिएटोबाइलरी सर्जरी विभाग के निदेशक ने कहा, भारत में ओबेसिटी 21वीं सदी में लगभग महामारी का रूप लेती जा रही है। देश की पांच फीसदी आबादी गंभीर मोटापे की शिकार है। भारत में मोटापे की समस्या आज चीन और अमेरिका के आंकड़ों को भी पार कर चुकी है।

यह हैं कारण

मोटापे के सबसे मुख्य कारण हैं खाने-पीने की गलत आदतें, गतिहीन जीवनशैली, नींद की कमी और तनाव आदि। शारीरिक व्यायाम की कमी और सुस्ती के चलते भारत में मोटापे के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा, मोटापे के कारण शरीर में कुछ हॉर्मोन और अतिरिक्त वसा का निर्माण होने लगता है जो डायबिटीज, उच्च रक्तचाप, डिसलिपिडेमिया, ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एप्निया, प्राइमरी स्टर्लिटी जैसी कई बीमारियों का कारण हो सकता है।

इन रोगों की संभावना

इनसे दिल की बीमारियों (हार्ट अटैक, स्ट्रोक) और कई प्रकार के कैंसर (स्तन, अंडाशय, गर्भाशय, अग्नाशय) तथा गुर्दा संबंधित रोगों की संभावना बढ़ जाती है। इससे पहले कि मोटापे के कारण कई बीमारियां आपको जकड़ लें, सर्जरी के विकल्प पर विचार करना चाहिए। सेहतमंद आहार के महत्व पर बात करते हुए जेपी हॉस्पिटल की बेरिएट्रिक काउंसलर एवं न्यूट्रीशनिस्ट श्रुति शर्मा ने कहा, मोटापा भारत में एक बड़ी समस्या बन चुका है।

ऐसा करें

कम कैलोरी एवं पोषक पदार्थों से युक्त आहार का सेवन करने से वजन घटाने में मदद मिलती है। सेहतमंद भारतीय आहार में दालें, अनाज, सब्जियां, फल, डेयरी उत्पाद और मसाले शामिल हैं। पानी का सेवन भरपूर मात्रा में करें तथा चीनी से युक्त पेय पदार्थों जैसे फलों के रस और पेय पदार्थो का सेवन सीमित मात्रा में करें। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
देश1 hour ago

गांधीनगर लोकसभा सीट से अमित शाह की विराट जीत, आडवाणी का भी तोड़ा रिकॉर्ड

देश1 hour ago

अमेठी सीट : जीत की ओर बढ़ती हुईं स्मृति ईरानी, राहुल गांधी से इतने हजार वोटों से बनाई बढ़त

दुनिया1 hour ago

इजरायल के प्रधानमंत्री नेतन्याहू ने मोदी को दी बधाई, कहा-बहुत अच्छे मेरे दोस्त

राज्य2 hours ago

यूपी विधानसभा उपचुनाव में भी दोनों सीटों पर भाजपा उम्मीदवार आगे

बिज़नेस2 hours ago

नई सरकार के लिए वित्‍त मंत्रालय ने तैयार किया 100 दिन का एजेंडा, बनाई ये रणनीति

राज्य2 hours ago

विकास, राष्ट्रवाद, सुशासन के लिए जनता ने फिर प्रधानमंत्री मोदी पर किया विश्वास : सीएम योगी

राज्य3 hours ago

19वें राउंड में प्रधानमंत्री मोदी 289131 मतों से आगे, जानें गठबंधन और कांग्रेस का हाल

देश3 hours ago

रुझानों में प्रचंड जीत के बाद पीएम मोदी व अमित शाह ने दिया ये बयान, कह दी ये बड़ी बात

राज्य3 hours ago

अयोध्या : बहन के घर शादी में शामिल होने दिल्ली से आई महिला की सड़क दुर्घटना में मौत

राज्य4 hours ago

गोरखपुर-बस्ती मंडल की 8 सीटों पर भाजपा आगे, तीसरे स्थान पर पहुंचे कांग्रेस के आरपीएन सिंह

देश4 hours ago

राजस्थान में कांग्रेस का सूपड़ा साफ, BJP ने जीती सभी 25 सीटें, बस आधिकारिक घोषणा बाकी

देश4 hours ago

भाजपा की सुनामी से नरम पड़ी ममता बनर्जी, दी बधाई, कहा- वीवीपैट पर भरोसा

दुनिया4 hours ago

वैज्ञानिकों का दावा, इस सदी के अंत तक ऊपर उठ जायेगा समुद्र, करोड़ों लोगों का बचना होगा मुश्किल

दुनिया5 hours ago

श्रीलंका के प्रधानमंत्री ने दी नरेन्द्र मोदी को जीत की बधाई, ट्वीट कर कही ये बात

हेल्थ5 hours ago

डायबिटीज रोगी अपनी बीमारी से हैं अनजान, ऐसे रख सकते हैं ध्यान

देश5 hours ago

चुनावी रुझानों को देख मतगणना केंद्र पर ही कांग्रेस जिलाध्यक्ष को आया हार्ट अटैक, मौत

खेल5 hours ago

विश्व कप में टीम इंडिया के लिए गेम चेंजर हैं हार्दिक पांड्या और महेंद्र सिंह धोनी

लाइफ स्टाइल5 hours ago

राशिफल : आज कैसा रहा आपका दिन, जीवन में होंगे क्या-क्या परिवर्तन, जानें अपना भविष्यफल

देश1 week ago

जानिए कौन है नीली ड्रेस वाली खूबसूरत पोलिंग अफसर, खुद किया ये बड़ा खुलासा, देखें 13 तस्वीरें

राज्य3 weeks ago

फेसबुक पर इंस्पेक्टर से प्यार, फिर बने संबंध, होने वाली थी शादी, लड़की ने ये सुसाइड नोट लिख चुन ली मौत

राज्य4 weeks ago

अम्बेडकर नगर : कांग्रेस प्रत्याशी और पूर्व सांसद फूलन देवी के पति उम्मेद निषाद का पर्चा खारिज

राज्य3 weeks ago

यूपी की इस सीट पर यदुवंशी शिफ्ट हो रहे भाजपा में, लगा रहे ये नारे, गठबंधन के चेहरे पर चिंता की लकीरें

देश2 weeks ago

BSF के बर्खास्त जवान तेज बहादुर बोले, 50 करोड़ रुपए दो तो कर दूंगा पीएम मोदी की हत्या, देखें वीडियो

राज्य4 weeks ago

योगी सरकार के मंत्री पर महिला ने लगाये रेप के आरोप, मंत्री बोले-दोषी साबित हुआ तो कुत्ते से नुचवा लेना मांस

देश2 weeks ago

जानिए कौन है पीली साड़ी पहनी खूबसूरत पोलिंग ऑफिसर? जिसे ढूंढ रही पूरी दुनिया, देखें फोटो

राज्य3 weeks ago

रमजान शरीफ के चांद की शहादत को लेकर दरगाह आला हजरत से जारी हुआ हेल्पलाइन नंबर

देश4 weeks ago

देखें वीडियो : जब डिंपल यादव ने मंच पर छुए मायावती के पैर, बसपा सुप्रीमो यह कहकर दिया आशीर्वाद

वीडियो3 weeks ago

तेज रफ्तार बाइक की टंकी पर बैठ कर लड़की ने लड़के को किया किस, IPS अफसर ने शेयर किया वीडियो

देश3 weeks ago

पिता और पुत्र ने मां-बेटी से किया बलात्कार, अश्लील वीडियो बनाकर करने लगे ये काम, जानें पूरा मामला

देश2 weeks ago

सट्टा बाजार में भाजपा को बढ़त, बना रहे मोदी सरकार, जानिए महागठबंधन का क्या है हाल

देश1 day ago

कांग्रेस ने जारी किया अपना एग्जिट पोल, खुद को दिखाईं इतनी सीटें, भाजपा को बताया सत्ता से दूर

राज्य4 weeks ago

बरेली : मुक़द्दस रमज़ान 6 या 7 जून से, बरेलवी हाफिजों की दुनिया भर में मांग

देश3 weeks ago

दोबारा सत्ता में लौटी मोदी सरकार तो इन पांच राज्यों की सरकारों पर मंडराने लगेंगे खतरे का बादल

देश2 weeks ago

पहली बार जंगल में उतरीं महिला कमांडो, 2 वर्दीधारी नक्सलियों को किया ढेर

देश4 weeks ago

रोहित शेखर तिवारी की हत्या के आरोप में पत्नी अपूर्वा शुक्ला गिरफ्तार, कबूला गुनाह

देश3 weeks ago

यूपी की इस लोकसभा सीट को जीते बिना सत्ता में नहीं आती है भाजपा, जानिए क्या है बड़ा कारण

Trending