Connect with us

हेल्थ

पेट से लेकर चर्म तक हर रोग की दवा है ये पौधा, खेती से भी होगा दोगुना लाभ

Published

on

लखनऊ। गठिया रोग हो या स्तन की गांठ, चेहरे का तिल हो या साटिका अथवा पेचिस अधिकांश रोगों में काम आने वाला अरंडी सिर्फ गड्ढों के किनारे उगने वाला पौधा नहीं, इसकी खेती से आप मालामाल हो सकते हैं। अनुपयुक्त खेत में भी इसकी खेती से डेढ़ लाख रुपये प्रति हेक्टेयर से ज्यादा लाभ कमा सकते हैं। इसकी खेती द्विफसली के रूप में भी किया जाता है और जिस खेत में यह होता है, वहां कीड़ों का प्रकोप खुद ही कम हो जाता है, क्योंकि इसमें पाया जाने वाला रिसिन नामक विषैला पदार्थ हर भाग में उपस्थित रहता है। यूपी में इसकी खेती पहले बहुतायत में बुंदेलखंड, लखनऊ और पूर्वी यूपी में होती थी लेकिन अब कुछ रकबा इसका कम हो गया है।

इस संबंध में आयुर्वेदाचार्य डाक्टर एसके राय ने बताया कि अरंडी में चालिस से 60 प्रतिशत तक तेल उपस्थित होता है। यह शुद्ध ऍल्कालोइड़स के लिये एक उत्कृष्ट सॉल्वैंट के रूप में नेत्र शल्य चिकित्सा में प्रयुक्त होता है। इससे साबून भी बनाये जाते हैं। यह अस्थायी कब्ज, पेट के दर्द और तीव्र दस्त मे धीमी पाचन के कारण प्रयोग किया जाता है। इसका तेल दाद, खुजली, आदि विभिन्न रोगों में रामबाण है।

कानपुर कृषि विश्वविद्यालय के डाक्टर मुनीष कुमार ने बताया कि अरंडी का हर भाग दवा व व्यवसाय के रूप में उपयोगी है।अरंडी के तेल का उपयोग साबुन, रंग, वार्निश, कपड़ा रंगाई उद्योग, हाइड्रोलिक ब्रेक तेल, प्लास्टिक, चमड़ा उद्योग में होता है| अरण्डी की पत्तियां रेशम के कीटों को पालने व हरी खाद बनाने में काम आती हैं। खली खाद के रूप में काम आती है। अरंडी की खेती सिंचित और असिंचित दोनो ही स्थितियों में की जाती है| इसकी जड़ें गहरी जाती हैं, जिससे फसल में सूखा सहन करने की क्षमता बढ़ जाती है|

खेती

डाक्टर मुनीष ने बताया कि अरंडी की खेती विभिन्न प्रकार के जलवायु में की जा सकती है। इसकी बुवाई खरीफ व कटाई रबी मौसम में होती है। इसके लिए अगस्त माह उपयुक्त समय है। यह किसी भी खेती के साथ मेड़ों पर उगाया जा सकता है। यह सूखा सहन कर सकती है, परन्तु जल भराव के प्रति संवेदनशील है। अरंडी अच्छे जल निकास वाली लगभग सभी भूमियों में उगायी जा सकती है। अच्छे फसल उत्पादन के लिये भूमि का पी एच मान 5 से 6 के बीच होना चाहिये।

मिश्रित फसल पद्धति

अरंडी की खेती खरीफ की फसल सोयाबीन, मूँग, लोबिया, उड़द, गुआरफली और अरहर  के साथ किया जा सकता है। मिश्रित फसल के लिए अरंडी का छह किलोग्राम प्रति हेक्टेयर बीज उपयुक्त रहता है। इसकी कई किस्में हैं, जिसमें अरूणा, ज्योति, क्रान्ति आदि प्रमुख रूप से बोयी जाती हैं।

खाद और उर्वरक

डाक्टर मुनीष कुमार ने बताया कि असिंचित फसल में 50 किलोग्राम नत्रजन और 25 किलोग्राम फास्फोरस प्रति हैक्टेयर प्रयोग किया जाना चाहिए। आधा नत्रजन और पूरा फास्फोरस बुवाई के समय गहरा ऊर कर दें एवं शेष बची आधी नत्रजन को खड़ी फसल में 30 दिन की अवस्था पर वर्षा होने पर दें। वहीं अरंडी की सिंचित फसल के लिये 100 किलोग्राम नत्रजन और 45 किलोग्राम फास्फोरस प्रति हैक्टेयर प्रयोग करना उपयुक्त होता है। अरंडी का प्रति हेक्टेयर 12 से 15 किलोग्राम बीज की बोआई की आवश्यकता होती है। यदि बीज को हाथ से एक-एक कर बाेया जाता है तो छह से आठ किलोग्राम बीज प्रति हेक्टेयर चाहिए।

बुवाई का समय व विधि

अरंडी की बुवाई अगस्त माह में हल, सीड्रिल या हाथ से की जाती है। सिंचित फसल के लिए लाइन से लाइन की दूरी 95 से 118 सेंटीमीटर और पौधे से पौधे के बीच की दूरी 65 सेंटीमीटर, वहीं असिंचित के लिए 60 गुणे 46 सेमी रखना उपयुक्त होता है। डाक्टर मुनीष कुमार ने हिन्दुस्थान समाचार से बताया कि इसमें झुलसा रोग के उपचार के लिए दो किग्रा मैन्कोजेब पानी में मिलाकर छिड़काव करना चाहिए, जबकि उखटा रोग के लिए ट्राइकोडर्मा व गोबर की खाद उपयुक्त होती है। इसकी पैदावार असिंचित खेती में 20 से 25 क्वींटल तथा सिंचित खेती में 35 से 40 क्वींटल प्रति हेक्टेयर हो जाती है। https://www.kanvkanv.com

हेल्थ

अगर आप चाहते हैं लंबी आयु, तो लेना शुरू करे ये ‘एंटी एजिंग फूड्स’

Published

on

नई दिल्‍ली। आज के समय में हर व्यक्ति में तरह—तरह की एलर्जी पनपती ही रहती है। जिसके चलते वह अस्पताल के चक्कर लगाने को मजबूर है। लेकिन वहीं कुछ प्रकृतिक फल, सब्जियां ऐसी भी है जो, आयुर्वेदिक दवाएं के रूप में आपना कार्य करती है। आज हम इसी के बारे में आपसे चर्चा करेंगे और मुख्य रूप हमारे चर्चा का विषय भी यही है।

उम्र बढ़ने के साथ शारीरिक परिवर्तन होना स्वाभाविक

बताते चलें कि, उम्र बढ़ने के साथ शारीरिक परिवर्तन होना स्वाभाविक है। प्रकृति द्वारा प्रदत्त कुछ आहार उम्र बढ़ने के लक्षण अर्थात एजिंग की प्रक्रिया को धीमा कर सकते हैं। स्वास्थ्य और सौंदर्य दोनों की दृष्टि से यह महत्वपूर्ण हैं..

बात अगर हम करें, बीटा कैरोटीन और आइसोथियोसायनेट नामक पोषक तत्व कि, यह हमारे ब्रोकोली कैंसर की रोकथाम में सहायक होता है और यह एंटीएजिंग की प्रक्रिया में भी सहायक है। वहीं बात आगर हम विटामिन सी युक्त फल शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने कि करते हैं। तो ये एलर्जी से बचाव तथा त्वचा में कसाव लाने के लिए संतरा, मौसमी, नींबू आदि विटामिन सी के उत्तम स्रोत हैं। इनमें बायोफ्लेवोनॉइड और लाइमोनीन भी पाया जाता है।

एनीमिया अर्थात शरीर में खून की कमी होने पर रक्त में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में अनार सहायक है। इसे खाने से त्वचा स्वस्थ रहती है। इसमें पाए पाए जाने वाले सूक्ष्म पोषक तत्व शरीर के आंतरिक अंगों को सशक्त बनाए रखते हैं।https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

हेल्थ

मधुमेह रोगियों के लिए खास खबर, ये लक्षण दिखते ही तोड़ दें व्रत

Published

on

नई दिल्ली। इस माह में आने वाला है नवरात्र। नवरात्र में मधुमेह के रोगियों के लिए यी खबर खास है। ऐसा हो सकता है कि ऐसे रोगियों के लिए व्रत रखना जोखिम भरा हो सकता है। मधुमेह रोगियों को पहली बार डॉक्टरों ने चेताया है कि शुगर का स्तर 70 एमजी से कम होते ही वे उपवास तोड़ दें। इस संबंध में उन्होंने बकायदा दिशा-निर्देश तैयार किए हैं।

ब्लड शुगर जांचते रहना चाहिए

इन दिशा-निर्देशों को जर्नल ऑफ एसोसिएशन ऑफ फिजिशियन ऑफ इंडिया में प्रकाशित किया गया है। इसके मुताबिक, उपवास के दौरान बीच-बीच में ब्लड शुगर जांचते रहना चाहिए। परिजनों को भी बीमारी की जानकारी देनी चाहिए।

ऐसा करें

टाइप-2 मधुमेह के ऐसे मरीज जिनका ब्लड शुगर स्थिर रहता है, वे उपवास कर सकते हैं लेकिन डॉक्टरों की सलाह पर दवा की डोज में कुछ बदलाव करें। उपवास से पहले अप्रसंस्कृत अनाज, फल, नट्स, दालें और प्रोटीन युक्त आहार लेने चाहिए, ताकि शरीर को ऊर्जा मिलती रहे। यदि उपवास के दौरान पानी नहीं पीना है जो व्रत से पहले पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन करें। उपवास के बाद चावल, ब्रेड जैसे पदार्थों का उपयोग करें।

ये हैं आंकड़े

-6.92 करोड़ भारतीय वर्ष 2015 में मधुमेह रोगी थे।
-7.29 करोड़ भारतीय साल 2017 में मधुमेह रोगी थे।
-40.6 करोड़ लोग साल 2018 में विश्व में मधुमेह का शिकार थे।
-9.8 करोड़ भारतीयों के 2030 तक मधुमेह से पीडि़त होने का अनुमान
-51.1 करोड़ लोगों के विश्वभर में 2030 तक मधुमेह पीडि़त होने का अनुमान
– 12 साल में दुनिया में मधुमेह रोगियों की संख्या 20 फीसदी से ज्यादा बढऩे की आशंका

त्योहार के अनुसार लें सलाह

-दिन में तीन बार मेटाफॉर्मिन लेने वाले नवरात्र या रमजान में उपवास के दौरान रात में कुल डोज का दो-तिहाई व सुबह एक-तिहाई लें।
-करवाचौथ, एकादशी और सोमवार जैसे एक दिन के उपवास में मरीजों को दिन की खुराक नहीं लेनी चाहिए।
-जैन धर्मावलंबियों को मेटाफॉर्मिन को पूरी तरह छोडऩे एवं दवा के डोज में फेरबदल न करने की सलाह दी है।
– इनसुलिन लेने वाले मरीजों के लिए सभी प्रकार के उपवासों में अलग-अलग मात्रा में इनसुलिन की डोज कम करने की सलाह दी गई है। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

हेल्थ

बैली फैट को कम करने में अंडा है बेहद कारगर, अपनाएं ये रेसिपी

Published

on

नई दिल्ली। प्रोटीन की जरूरत को पूरा करने के लिए सबसे अच्छा स्रोत है अण्डा। प्रोटीन शरीर का वजन घटने के लिए जरूरी माना जाता है। शरीर का मेटाबॉलिज्म भी प्रोटीन से ठीक रहता है। इसके अलावा ये बैली फैट भी कम करता है। अण्डे में कई मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है। अंडा खाने से आप आसानी से वजन घटा सकते हैं।

अंडा नें कम मात्रा में कैलोरी पाई जाती है साथ ही इसे खाने से काफी समय तक पेट भरा रहता है। अंडे में प्रोटीन, आइरन, फ्रॉसफोरस और कई विटामिन पाए जाते हैं। वेट लॉस डाइट में अंडा खाने का मतलब है आप बिना अपने शरीर को कमजोर करे वजन भी घटा रहे है और आपके शरीर को जरूरी न्यूट्रिएंट भी मिल रहे हैं। यहां हम आपको कुछ ऐसे ही हेल्दी अंडा रेसिपी बता रहे हैं जिससे आपका बेली फैट जल्द घटेगा

स्क्रैम्बल्ड एग

स्क्रैम्बल्ड एग बनाने में बहुत आसान है ये वजन घटाने के साथ आपको हेल्दी भी रखता है। साथ ही इस आप फ्रूट्स, कच्ची सब्जियां किसी के साथ भी खा सकते हैं।

ऑमलेट

ऑमलेट अंडे की सबसे फेमस रेसिपी है। इसे आप अपने हिसाब से बना सकते हैं।

एग बिद बीन्स

बीन्स प्रोटीन का एक अच्छा स्त्रोत है। इसे आप अंडे के साथ बना सकते हैं। इसे साथ में बनाएं और खाएं। इसे खाने से काफी समय तक भूख नहीं लगती।

अंकुरित सलाद के साथ एग

अंकुरित सलाद के साथ एग आपकी सेहत का भी ख्याल रखता है और साथ ही आपको वजन घटाने में भी मदद करता है। ये खाने में टेस्टी और कैलोरी फ्री भी होता है। इस आलेख में दी गई जानकारी का हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य व सटीक है तथा इन्हें अपनाने से अपेक्षित परिणाम मिलेगा। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
देश2 hours ago

फेसबुक पर दोस्ती : युवक ने बुलाया मिलने तो होटल में ले गई युवती, फिर कर डाला ऐसा कांड

बिज़नेस3 hours ago

सऊदी की तेल कंपनी पर हमले के बाद भारत में पेट्रोल-डीजल के दामों में जबरदस्‍त उछाल, जानिए क्या है रेट

हेल्थ3 hours ago

अगर आप चाहते हैं लंबी आयु, तो लेना शुरू करे ये ‘एंटी एजिंग फूड्स’

उत्तराखंड3 hours ago

प्रेमिका की हत्या करने के बाद युवक को सता रहा था ऐसा डर, उठा लिया खौफनाक कदम

खेल3 hours ago

विनेश फोगाट का धमाका, टोक्यो ओलंपिक 2020 में क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय पहलवान बनीं

वीडियो3 hours ago

मोदी को ‘फादर ऑफ कंट्री’ बता ट्रोल हुईं अमृता फडणवीस, देंखे वीडियो

देश4 hours ago

रेलवे कर्मचारियों की बल्ले-बल्ले : मोदी सरकार देगी 78 दिनों का बोनस, पढ़ें-कैबिनेट के अन्य बड़े फैसले

मनोरंजन4 hours ago

शादी से पहले ही दो बच्चों के पिता थें जावेद अख्तर, शबाना आजमी के साथ था इनका…

दुनिया4 hours ago

मोदी-चिनफिंग की बातचीत में कश्मीर नहीं होगा मुख्य विषय 

हेल्थ6 hours ago

मधुमेह रोगियों के लिए खास खबर, ये लक्षण दिखते ही तोड़ दें व्रत

टेक्नोलॉजी7 hours ago

फेसबुक यूजर्स के लिए आया नया फीचर्स, आप भी जाने इसके फायदें

टेक्नोलॉजी8 hours ago

DTH का शानदान तोहफा, 120 दिन मुफ्त में देखें मनचाहे कार्यक्रम

राज्य9 hours ago

कन्नौज : पोषाहार वितरण में धांधली का आरोप, चार कार्मिक निलंबित

लाइफ स्टाइल9 hours ago

राशिफल : इन राशियों के लिए अच्छा होगा आज का दिन, वहीं ये 5 राशियां रहें सतर्क

देश9 hours ago

नेताजी सुभाष चंद्र बोस के साथ क्या हुआ हमें जानने का अधिकार : ममता बनर्जी

मनोरंजन9 hours ago

‘पल पल दिल के पास’ का हुआ प्रमोशन, सनी देओल ने बताया-क्यों किया बेटे करण को लांच

दुनिया9 hours ago

पाकिस्तान में BDS की छात्रा हिन्दू लड़की नम्रता की हत्या, कराची में हुआ विरोध प्रदर्शन

लाइफ स्टाइल10 hours ago

पंडित और पंचांग एकमत नहीं, जानें किस दिन होगा जीवित्पुत्रिका व्रत

हेल्थ3 weeks ago

रोजाना सुबह खाली पेट करें किशमिश का सेवन, ये 6 फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान

खेल2 weeks ago

पत्नी ने शेयर की फोटो तो अश्विन बोले-‘बंद करो ये सब, अब और बर्दाश्त नहीं होता’

देश4 weeks ago

अपनी पत्नी व बच्चों के लिए इतने करोड़ की संपत्ति छोड़ गए हैं अरुण जेटली

उत्तर प्रदेश3 weeks ago

योगी सरकार ने नए सिरे से नियुक्त किए जिलों के प्रभारी मंत्री, जानें-किसे मिली कहां की जिम्मेदारी

टेक्नोलॉजी3 weeks ago

अब सिर्फ ऐसे डेढ़ लाख में Alto और ढाई लाख में खरीदें Swift कार, यहां चल रहा है शानदार ऑफर

देश3 weeks ago

सीतामढ़ी : नई डीएम अभिलाषा कुमारी शर्मा ने संभाला पदभार, बैठक कर अधिकारियों को दिये ये सख्त निर्देश

हेल्थ1 day ago

बैली फैट को कम करने में अंडा है बेहद कारगर, अपनाएं ये रेसिपी

उत्तर प्रदेश1 week ago

लखनऊ में युवती ने की खुदकुशी, मरने से पहले वाट्सअप पर स्टेटस अपडेट कर लिखी ये बात

देश3 weeks ago

महिला ने दिया सांप के बच्चों को जन्म, करती है बेटों की तरह परवरिश, पढ़ें हैरान करने वाली ये रिपोर्ट

देश5 days ago

गणपति विसर्जन के दौरान बड़ा हादसा, नाव पलटने से 11 लोगों की मौत, देखें हादसे का लाइव वीडियो

दुनिया3 weeks ago

पति के बेइंतहा प्यार से परेशान हुई पत्नी, मांगा तलाक, अदालत में कहा-कभी झगड़ते ही नहीं

हेल्थ1 week ago

आयरन की ओवरडोज लेने से पहले जान लें ये बातें, नहीं तो शरीर को पहुंच सकता है नुकसान

देश2 weeks ago

विधायक ने पत्नी के साथ बनाया बेडरूम में निजी वीडियो, हो गया वायरल, आप भी देखें

देश2 weeks ago

मसाज पार्लर में पुलिस-महिला आयोग की LIVE रेड, वीडियो में देखें कैसे चल रहा था जिस्म का गंदा खेल

टेक्नोलॉजी2 weeks ago

विक्रम लैंडर से ऑर्बिटर हो रहा कनेक्ट, वैज्ञानिक संपर्क साधने में जुटे, पढ़ें और क्या बोलें इसरो चीफ

दुनिया3 weeks ago

लड़के ने की अंतरंग फोटो की डिमांड, लड़की ने भी मानी बात, भेजी ऐसी फोटो देख कर हो गया हैरान

लाइफ स्टाइल3 weeks ago

ललितपुर में नींबू का कारोबार और आंटी के पराठे : घुमक्कड़ अम्बुज पार्ट-2

देश6 days ago

जिस्म के गंदे धंधे का पर्दाफाश : मीनू कार्ड में लिखा था लडकियों के साथ हर पोजिशन का रेट, देखें लाइव वीडियो

Trending