Connect with us

हेल्थ

सोते समय मन में चल रही हैं ये तीन चीजें तो नहीं आएगी नींद, करें ये उपाय

Published

on

नई दिल्ली। अगर आप मानसिक तनाव, दबी हुई इच्छाएं और मन में तीव्र कड़वाहट लिए हुए बिस्तर पर लेटे हैं तो आप अनिद्रा का शिकार हो सकते हैं। उच्च रक्तचाप, कंजेस्टिव हार्ट फेल्योर, डायबिटीज व अन्य बीमारियों से भी अनिद्रा का सीधा संबंध है।

डाक्टरों के मुताबिक, आयुर्वेद में नींद का वर्णन वात और पित्त दोष के बढ़ने के रूप में मिलता है। इसका सबसे प्रमुख कारण है मानसिक तनाव, दबी हुई इच्छाएं और मन में तीव्र कड़वाहट। इसके अलावा अनिद्रा के अन्य कारणों में कब्ज, अपच, चाय, कॉफी और शराब का अधिक सेवन तथा पर्यावरण में परिवर्तन, यानी अधिक सर्दी, गर्मी या मौसम में बदलाव। ज्यादातर मामलों में ये सिर्फ प्रभाव होते हैं न कि अनिद्रा के कारण। अनिद्रा तीन प्रकार तीव्र, क्षणिक और निरंतर चलने वाली होती है।

अनिद्रा से तात्पर्य है सोने में कठिनाई

अनिद्रा से तात्पर्य है सोने में कठिनाई। इसका एक रूप है, स्लीप-मेंटीनेंस इन्सोम्निया, यानी सोये रहने में कठिनाई, या बहुत जल्दी जाग जाना और दोबारा सोने में मुश्किल। पर्याप्त नींद न मिलने पर चिंता बढ़ जाती है, जिससे नींद में हस्तक्षेप होता है और यह दुष्चक्र चलता रहता है। उच्च रक्तचाप, कंजेस्टिव हार्ट फेल्योर, डायबिटीज व अन्य बीमारियों से भी अनिद्रा का सीधा संबंध है।

93 प्रतिशत भारतीय अच्छी नींद से वंचित

एक हालिया शोध में पता चला है कि लगभग 93 प्रतिशत भारतीय अच्छी नींद से वंचित हैं। इसके कारक जीवनशैली से जुड़ी आदतों से लेकर स्वास्थ्य की कुछ स्थितियों तक हैं। अनिद्रा को आमतौर पर एक संकेत व एक लक्षण दोनों रूपों में देखा जाता है, जिसके साथ नींद, चिकित्सा और मनोचिकित्सा विकार सामने आ सकते हैं। इस तरह के व्यक्ति को नींद आने में लगातार कठिनाई होती है।

नींद उचट जाए तो घड़ी को अपनी निगाह से दूर कर दें

अगर आप कैफीन के प्रति संवेदनशील हैं तो एक या दो बजे के बाद कैफीनयुक्त पेय पदार्थ लेने से बचें। अल्कोहल की मात्रा सीमित करें और सोने से दो घंटे पहले अल्कोहल न लें। टहलने, जॉगिंग करने या तैराकी करने जैसे नियमित एरोबिक व्यायाम में हिस्सा लें। इसके बाद आपको गहरी नींद आ सकती है और रात के दौरान नींद टूटती भी नहीं है। जितनी देर आप सो नहीं पाते हैं उन मिनटों का हिसाब रखने से दोबारा सोने में परेशानी हो सकती है। नींद उचट जाए तो घड़ी को अपनी निगाह से दूर कर दें।

शाम को जल्दी सोने लगें, तो रोशनी को तीव्र कर दें

एक या दो सप्ताह के लिए अपने नींद के पैटर्न को ट्रैक करें। अगर आपको लगता है कि आप सोने के समय में बिस्तर पर 80 प्रतिशत से कम समय बिना सोये बिता रहे हैं, तो इसका अर्थ है कि आप बिस्तर पर बहुत अधिक समय बिता रहे हैं। बाद में बिस्तर पर जाने की कोशिश करें और दिन के दौरान झपकी न लें।

यदि आप शाम को जल्दी सोने लगें, तो रोशनी को तीव्र कर दें। अगर आपका दिमाग सोच-विचार में लगा है या आपकी मांसपेशियां तनाव में हैं, तो आपको सोने में मुश्किल हो सकती है। दिमाग को शांत करने और मांसपेशियों को आराम देने के लिए, ध्यान करना, गहरी सांस लेना या मांसपेशियों को आराम देने से लाभ हो सकता है। https://www.kanvkanv.com

हेल्थ

त्वचा के रोगों को दूर करता है बबूल, जानें इसके अन्य फायदे

Published

on

नई दिल्ली। बबूल का पेड़ हम सब जानते होंगे। इसके ढेरों फायदे भी हैं। यह कई रोगों को दूर करने में कारगर साबित होते हैं। खांसी, खूनी दस्त, फोड़े-फुंसी में भी फायदेमंद है। बबूल अलग-अलग रोगों के लिए अलग-अलग इस्तेमाल किया जाता है। ये तासीर में गर्म और स्वाद में कसैला होता है।

आतुन बनाकर करते हैं प्रयोग

बबूल, आयुर्वेद के अनुसार देसी बबूल के पंचतत्व (बीज, फली, पत्ते, फूल और गोंद) रोगों को दूर करने में अलग-अलग तरीके से इस्तेमाल में लिए जाते हैं। भारत में बबूल को कीकर के नाम से भी जाना जाता है। आमतौर पर इसकी मुलायम टहनियों को दातुन बनाकर प्रयोग में लेते हैं। इसके कई अन्य फायदे भी हैं।

त्वचा रोगों में यह लाभदायक

10 ग्राम बबूल की कोपलें, 10 ग्राम गोखरू को दरदरा कर आधा लीटर पानी में भिगो लें। सुबह इसे हाथों से मलने के बाद छानकर पी लें। यूरिन में जलन, रक्त की शुद्धि के अलावा फोड़े-फुंसी, एग्जिमा जैसे त्वचा रोगों में यह लाभदायक है।

नजला-खांसी : 10 ग्राम गोंद को चूसने से राहत मिलेगी।

पेचिस व खूनी दस्त : 5 ग्राम इसके गोंद को आधा गिलास बकरी के दूध या सादा पानी से सुबह-शाम लेने से जल्द आराम मिलता है।

मुंह के छाले : बबूल के एक ग्राम फूलों के चूर्ण को शहद में मिलाकर दिन में 2-3 बार मुंह के छालों पर लगाएं।

पायरिया व मुंह की बदबू : इसकी कोमल टहनी की दातून दांतों को मजबूत रखती है। साथ ही पायरिया, मुंह से बदबू की समस्या भी दूर होती है।

पीलिया : इसके फूलों के चूर्ण में मिश्री के पाउडर को बराबर मात्रा में मिलाएं। 5 ग्राम चूर्ण दिन में 3 बार पानी से लें।

तलवों में जलन : 100 ग्राम सूखे पत्तों के चूर्ण में बराबर मात्रा में पिसी मिश्री मिलाएं व पानी से आधा चम्मच सुबह-शाम लें।

Continue Reading

हेल्थ

दिल को रखना है दुरुस्त तो करें नाड़ी शोधन प्राणायाम

Published

on

नई दिल्ली। करेंगे योग तो रहेंगे निरोग। आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में आपका हृदय सबसे अधिक प्रभावित होता है। यह रोग बच्चों और युवाओं को भी अपनी चपेट में ले रहा है। इस लेख में हम आपको बताएंगे कि योग ही एकमात्र ऐसा उपाय है, जो मानसिक तथा भावनात्मक असंतुलन का स्थायी निदान प्रस्तुत करता है। योग उनके लिए भी लाभप्रद है, जो किसी भी तरह के हृदय रोग से पीडि़त हैं। इसके लिए नाड़ी शोधन प्राणायाम काफी लाभदायक साबित होता है। इस योगासन को अनुलोम विलोम प्राणायाम के रूप में भी जाना जाता है।

आनुवांशिक भी हो सकता है कारण

हृदय संबंधी समस्याएं जैसे उच्च रक्तचाप, निम्न रक्तचाप, हृदय शूल, हृदय की धड़कन का असामान्य होना, हृदय की वॉल्व संबंधी समस्याएं, हृदय की मांसपेशियों का कमजोर होना आदि आज बेतहाशा बढ़ रही हैं। इनका कारण आनुवंशिक भी हो सकता है, किन्तु इनका प्रतिशत कम है। इसका मूल कारण मानसिक तथा भावनात्मक असंतुलन है। आधुनिक पाश्चात्य चिकित्सा विज्ञान हृदयाघात जैसी समस्याओं के तात्कालिक निदान में मदद कर जीवन की रक्षा करता है, किन्तु वह इसके मूल कारणों को दूर नहीं करता।

नाड़ी शोधन प्राणायाम की अभ्यास विधि

पद्मासन, सिद्धासन, सुखासन या कुर्सी पर रीढ़, गला व सिर को सीधा कर बैठ जाएं। दोनों हाथों को घुटनों पर स्थिरतापूर्वक रख लें। अब अपने दाएं हाथ को उठाकर इसके अंगूठे को दाईं नासिका तथा अनामिका को बाईं नासिका पर रखें। तर्जनी तथा माध्यमिका अंगुलियों को माथे पर या हथेलियों की ओर मोड़ लें। कनिष्ठिका अंगुली को सीधा छोड़ दें। इसके पश्चात बाईं नासिका से एक लम्बी, धीमी तथा गहरी श्वास अंदर लें। पूरी श्वास भर लेने के बाद बाईं नासिका को बंद कर दाईं नासिका से लम्बी गहरी तथा धीमी प्रश्वास बाहर(रेचक) निकालें। रेचक के तुरंत बाद दाईं नासिका से पूरक तथा बाईं नासिका से रेचक करें। यह नाड़ीशोधन प्राणायाम का एक चक्र है। प्रारम्भ में इसके छह चक्रों का अभ्यास करें। धीरे-धीरे इसके चक्रों का अभ्यास छह के गुणांक में बढ़ाते जाना चाहिए।

आहार

सभी प्रकार के रोगों से बचने के लिए आहार नियमित तथा सात्विक रखें।

Continue Reading

हेल्थ

शुगर को नियंत्रित करना है तो अपनाएं ये घरेलू उपाय

Published

on

नई दिल्ली। आज के बदलते दौर में शुगर तेजी से पांव पसार रहा है। बड़े से लेकर युवाओं में भी यह बीमारी देखी जा रही है। यह अब आम समस्या हो गई है। व्यायाम कम करने वालों को भी यह समस्या उठानी पड़ती है। शुगर से कई और तरह की बीमारियां भी बढऩे लगती हैं। इस बात का ध्यान रहे कि संतुलित जीवनशैली और खानपान को अपनाया जाए इससे निजात पाई जा सकती है। यहां हम कुछ ऐसे घरेलू उपायों के बारे में बता रहे हैं जो शुगर को नियंत्रित करने में काफी मददगार होते हैं।

5 घरेलू उपाय

1 भिंडी
4 से 5 भिंडी एक कांच के बर्तन में पानी में काट कर रख दीजिए। सुबह तक उसमें भिंडी गल जाएगी अब आप उस पानी को पी लीजिये इस पानी से शुगर लेवल कंट्रोल हो जाता है।

2 नीम
नीम व गिलोय की दातुन करें दातुन करते समय जो पानी मुंह में आए उसे बाहर ना निकालें बल्कि अंदर ही गटक लें। इसे आप अपनी दिनचर्या में शामिल कीजिए। इससे भी शुगर लेवल काबू में रहता है।

3 जामुन
जामुन एक ऐसा पेड़ है जिसकी पत्तियाँ, फूल, फल, गुठलियां सब शुगर कंट्रोल करने में काफी अच्छी मानी जाती है। जामुन के बीज आप सुखा कर पीस लीजिये। इनका चूर्ण आप नियमित रूप से लीजिये काफी फायदा करेगा। यह चूर्ण आप दिन में दो बार लीजिये काफी लाभ होगा।

4 एलोवेरा
एलोवेरा भी मधुमेय रोग के लिए काफी अच्छा स्त्रोत है। आप चाहें तो एलोवेरा की सब्जी बना कर भी खा सकते हैं। आप चाहें तो इसका चूर्ण भी बना कर रख सकते हैं या फिर इसका रस भी आप पी सकते हैं। यह शुगर कंट्रोल करने का रामबाण ईलाज है।

5 गेंहू की ज्वारी

गेंहू की ज्वारी यानि के गेंहू को मिट्टी में दबा कर उससे जो हरी हरी घास निकलती है, उसे गेंहू की ज्वारी कहा जाता है। यह शुगर के मरीजों के लिए एक बेहतरीन तोहफा है। इसे भी आप अपनी डाइट में शामिल कीजिए। 5 से 7 दिन की जो ज्वारी है वो आपके लिए और भी फायदा करेगी यह रक्त में शर्करा के प्रभाव को कम कर देती है। इसका जूस निकाल कर या फिर ऐसे ही आप इसे खा सकते हैं।

Continue Reading

देश8 hours ago

‘बल्ला मार’ BJP विधायक भेजा गया जेल, बेटे पर सवाल पूछने पर भड़के कैलाश विजयवर्गीय, कही ये बात

मनोरंजन8 hours ago

सलमान खान फिर मुसीबत में, इस मामले में दर्ज हुआ केस, जानें क्या है पूरा माजरा

वीडियो8 hours ago

वीडियो : दिशा पाटनी ने एक हाथ से किया कार्टव्हील, लोग बोले-वंडर वुमेन तो सोहा के पति ने कही ये बात

राज्य8 hours ago

गोंडा : ईमानदार पुलिस कर्मी होंगे पुरस्कृत, बेईमान होंगे दंडित : डीआईजी

राज्य8 hours ago

बहराइच : दहेज हत्या में वांछित आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

देश8 hours ago

विवाहिता के साथ गैंगरेप, तीन चचेरे ससुर व पति के फूफा पर आरोप

राज्य8 hours ago

अयोध्या : कुछ ही महीने पहले हुई थी युवक की शादी, जानें ऐसा क्या हुआ जो दे दी जान

राज्य9 hours ago

अयोध्या : पुलिस कप्तान ने किया पीआरवी गाड़ियों की औचक चेकिंग, सभी मिलीं नियम के विरुद्ध

खेल9 hours ago

वेस्‍टइंडीज के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज ब्रायन लारा को अस्पताल से मिली छुट्टी, इस वजह से थे भर्ती

राज्य9 hours ago

अयोध्या : बारून चौकी पर आज हुई नये प्रभारी की तैनाती, 31 दारोगा भी हुए इधर से उधर

राज्य9 hours ago

अयोध्या : प्रिंट मीडिया के पत्रकार पर हमले के मामले में रिपोर्ट दर्ज, पत्रकारों ने जताया संतोष

राज्य9 hours ago

बहराइच : जनपद न्यायाधीश, डीएम व एसपी ने किया जिला कारागार का निरीक्षण

राज्य9 hours ago

श्रावस्ती : वीडियो बनाने पर सिपाही ने व्यापारी को पीटा, झूठे केस में फंसाने की दी धमकी

देश10 hours ago

नए और पुराने इंडिया के मुद्दे पर कांग्रेस पर जमकर बरसे PM मोदी, किए चुन-चुन कर वार, पढ़ें बड़ी बातें

देश10 hours ago

अटल पेंशन योजना की पेंशन रकम को बढ़ा सकती है सरकार, संसद में वित्त मंत्री ने दी जानकारी

राज्य11 hours ago

बरेली : दो रोज़ा उर्स ताजुशारिया को लेकर अज़हरी मेहमानखाने में इमामों की हुई बैठक

देश11 hours ago

कैलाश विजयवर्गीय का विधायक बेटा गिरफ्तार, बल्ले से की थी निगम अधिकारी की पिटाई, देखें वीडियो

देश12 hours ago

भारत के इस राज्य में अब 2 से अधिक संतान वाले नहीं लड़ सकेंगे चुनाव, शैक्षणिक योग्यता भी तय की गई

मनोरंजन1 week ago

भारत-पाकिस्तान मैच को लेकर स्वरा भास्कर ने लगाई ये शर्त, कहा- मुझे क्या मिलेगा…

वीडियो3 weeks ago

नन्हें फैंस को धक्का देने पर सलमान खान ने खोया आपा, सिक्योरिटी गार्ड को जड़ा जोरदार थप्पड़, देखें वीडियो

बिज़नेस3 weeks ago

लगातार पांचवें दिन कम हुए पेट्रोल और डीजल के दाम, जानिए क्या है आज की कीमत

बिज़नेस3 weeks ago

पाकिस्तान में महंगाई से जनता बेहाल, जानें प्याज और नींबू का दाम

राज्य1 week ago

अयोध्या : भाई से दोस्ती रास न आने पर की थी मनोज शुक्ला की हत्या, प्रोफेसर का बेटा गिरफ्तार

हेल्थ2 weeks ago

पनीर खाने से दूर होती हैं ये बीमारियां, जानें पनीर से होते हैं और कौन-कौन से फायदे?

राज्य3 weeks ago

पांडेय की जगह कौन होगा यूपी भाजपा का नया अध्यक्ष? इन 8 नामों में लग सकती है किसी पर मोहर!

हेल्थ4 weeks ago

नए रिसर्च का दावा, ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने में मददगार है ये आसान सा नुस्खा

देश1 week ago

बादल फटने से तीस्टा नदी की बाढ़ में बह गया NHPC का गेस्ट हाउस, 300 पर्यटकों को निकला बाहर

देश5 days ago

रात में टहल रही थीं दो सगी बहनें, 8 लड़कों ने किया रेप, वीडियो भी बनाया

मनोरंजन3 weeks ago

फिल्म आर्टिकल 15 के खिलाफ लामबंद हुआ ब्राह्मण समुदाय, लगाया गंभीर आरोप, जानें क्या है विवाद

देश4 weeks ago

मोदी सरकार में मंत्री बनने के लिए स्मृति सहित इन सांसदों को आया फोन, देखें लिस्ट

राज्य2 weeks ago

योगी कैबिनेट का बड़ा फैसला, अब बीएड डिग्री धारक भी बन सकेंगे प्राइमरी टीचर, पढ़ें 6 बड़े फैसले

हेल्थ1 week ago

इन चीजों का करेंगे सेवन तो तेज होगी याददाश्त, आप भी जानें

हेल्थ2 weeks ago

शोध : बढ़ती उम्र में कमजोरी की वजह से बढ़ जाती है इस बीमारी का खतरा

देश3 weeks ago

‘जय श्री राम’ को लेकर ममता बनर्जी की आपत्ति पर कांग्रेस ने भी उठाया सवाल, कहा- जो दूसरों का घर तोड़ते हैं…

राज्य4 weeks ago

हिंदू युवती को बंधक बनाकर किया बलात्कार, जबरन खिलाया गोमांस, इस्लाम कबूलने पर किया मजबूर

देश4 weeks ago

पति का सिर काटकर थाने ले गई पत्नी, हक्की बक्की रह गयी पुलिस, हत्या की बताई ये बड़ी वजह

Trending