दुनिया को जल्द मिल सकती है कोरोना की दवा , Medicine Company Merck ने अमेरिका से मांगी मंजूरी

कोरोना वायरस को मात देने वाली पहली दवा जल्द आ सकती है। इसके लिए दवा निर्माता कंपनी मर्क ने अमेरिकी औषधि नियामक (एफडीए) से मंजूरी मांगी है।
 
medicine of Corona
कोरोना वायरस की दवा

वाशिंगटन। कोरोना वायरस को मात देने वाली पहली दवा जल्द आ सकती है। इसके लिए दवा निर्माता कंपनी मर्क ( Medicine Company Merck )ने अमेरिकी औषधि नियामक (एफडीए) से मंजूरी मांगी है। एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका की नियामक एजेंसी एफडीए अगले कुछ सप्ताह में इसपर फैसला कर सकती है। एफडीए ने कोरोना संक्रमण के खिलाफ अबतक जिन उपचारों को मंजूरी दी है उसमें इंजेक्शन देने की जरूरत होती है।

एफडीए से मंजूरी के बाद लोग कोविड-19 से संक्रमण की स्थिति में इस एंटीवायरल गोली को मरीज घर पर ही ले सकता है। इस दवा के आने से कमजोर स्वास्थ्य ढांचे वाले गरीब देशों को भी महामारी से लड़ने में मदद मिलेगी। मर्क के आवेदन पर एफडीए कोई फैसला लेने से पहले दवा की सुरक्षा और प्रभावी होने के आंकड़ों की जांच परख करेगा।

मर्क और उसकी सहयोगी कंपनी रिजेबैक बायोथेरेपेटिक की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि उन्होंने नियामक एजेंसी एफडीए से कोविड-19 के हल्के से लेकर मध्यम स्तर के संक्रमण के मामलों में वयस्कों के लिए दवा के आपात इस्तेमाल को मंजूरी देने की गुजारिश की है। कोरोना संक्रमण के चलते इस समूह के लोगों के अस्पताल में भर्ती होने का जोखिम ज्यादा रहता है।

उधर, अमेरिकी स्वास्थ्य अधिकारी कोविड-19 से रोकथाम में टीकाकरण को बेहतर उपाय बता रहे हैं। महामारी विशेषज्ञ डॉ. एंथनी फाउची का कहना है कि संक्रमण का उपचार कराने की तुलना में खुद का बचाव करना ही ज्यादा बेहतर है। रिपोर्टों के मुताबिक इस दवा के परीक्षण के दौरान दुष्प्रभाव के बारे में कंपनी ने जानकारी नहीं दी है।