Connect with us

हेल्थ

धूप में रहे बिना भी हो सकता है त्वचा कैंसर, जानें डॉक्टरों की राय

Published

on

नई दिल्ली। हाल के एक शोध के मुताबिक, सनलैस टैनिंग या फेक टैनिंग उत्पाद जैसे स्प्रे, मल्हम, क्रीम, फोम या लोशन जो स्किन कैंसर के खतरे के बिना टैन स्किन का वादा करते हैं, वास्तव में कैंसर को रोकने में मदद नहीं करते हैं। जिन वयस्कों ने सनलैस टैनिंग उत्पादों का उपयोग किया था, उनकी इनडोर टैनिंग बैड्स उपयोग करने की अधिक संभावना रहती है और ऐसे लोगों ने बाहर निकलते समय न तो सुरक्षात्मक कपड़े पहने थे और न ही छाया में रहते थे। त्वचा कैंसर दुनिया में कैंसर के सबसे आम प्रकारों में से एक है।

डॉक्टर ने यह कहा

महिलाओं की तुलना में भारतीय पुरुषों में इस कैंसर के मामले लगभग 70 प्रतिशत अधिक हैं। यह कंडीशन तब होती है, जब अप्राकृतिक त्वचा कोशिकाओं या ऊतकों की वृद्धि अनियंत्रित तरीके से होने लगती है। इसके पीछे जेनेटिक फैक्टर्स से लेकर अल्ट्रावायोलेट रेज के एक्सपोजर तक कुछ भी हो सकता है। हार्ट केयर फाउंडेशन आफ इंडिया (एचसीएफआई) के अध्यक्ष पद्मश्री डॉ. केके अग्रवाल ने कहा, “त्वचा कैंसर के सबसे घातक रूपों में से एक है मेलेनोमा। यह मेलेनोसाइट्स या त्वचा में मौजूद वर्णक कोशिकाओं में विकसित होता है। शरीर के अन्य हिस्सों (मेटास्टेसाइज) में फैलने की प्रवृत्ति के कारण त्वचा रोग कैंसर के अन्य रूपों से अधिक गंभीर हो सकता है और गंभीर बीमारी और मृत्यु का कारण बन सकता है।

यह भी होता है

उन्होंने कहा, “मेलेनोमा के संकेतों को पकड़ने के लिए एबीसीडीई नियम का उपयोग किया जा सकता है : एसिमेट्री या विषमता – तिल या बर्थमार्क के एक हिस्से का दूसरे से मेल न खाना, बॉर्डर या सीमा – अनियमित किनारे, कलर या रंग – पूरी त्वचा का रंग एक जैसा नहीं रहता, कहीं कहीं पर भूरे, काले, गुलाबी, लाल, सफेद या नीले रंग के धब्बे हो सकते हैं, डायामीटर या व्यास – एक चैथाई इंच से अधिक, इवोल्विंग या विकसित होना- तिल के आकार, बनावट या रंग में बदलाव हो रहा हो।” कुछ अन्य आम लक्षण इस प्रकार हैं- त्वचा में परिवर्तन, त्वचा का घाव जो ठीक नहीं होता, त्वचा में दर्द, खुजली या खून आना, किसी थक्के या स्पॉट से का चमकदार, मोम जैसा, चिकना या पीला होना, एक कठोर लाल गांठ जिसमें से खून बहता हो और एक सपाट, लाल धब्बा जो खुरदुरा, सूखा या परतदार होता है।

यूवी विकिरण के हानिकारक प्रभावों से सुरक्षित नहीं

डॉ. अग्रवाल ने कहा, “त्वचा में कम वर्णक (मेलेनिन) होने का मतलब है कि आप यूवी विकिरण के हानिकारक प्रभावों से सुरक्षित नहीं हैं। यदि आपके बाल सुनहरे या लाल है, हल्के रंगी की आंखें हैं और आसानी से सनबर्न हो जाता है, तो आप गहरे रंग वाले व्यक्तियों की तुलना में मेलेनोमा की अधिक संभावना रखते हैं। लेकिन मेलेनोमा गहरे रंग वाले लोगों में विकसित हो सकता है, जिनमें हिस्पेनिक्स और ब्लैक्स शामिल हैं। कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगों में त्वचा कैंसर का खतरा अधिक होता है। इसमें ऐसे लोग शामिल हैं जिन्हें एचआईवी या एड्स हैं और जिन्होंने अंग प्रत्यारोपण करवाया है।

सुझाव

दिन के मध्य के दौरान धूप से बचें। दिन के बाकी समय, यहां तक कि सर्दियों में या आकाश में बादल होने पर बाहरी गतिविधियों में हिस्सा लें। बादल हानिकारक किरणों से थोड़ी सी सुरक्षा प्रदान करते हैं। तेज सूरज से बच कर आप सनबर्न और सनटैन्स से सुरक्षित रहते हैं और इससे त्वचा में क्षति होती है और त्वचा कैंसर होने का जोखिम बढ़ जाता है।

साल भर सनस्क्रीन लगाएं। सनस्क्रीन सभी हानिकारक यूवी विकिरणों को फिल्टर नहीं करती है, विशेष रूप से ऐसे विकिरण जो मेलेनोमा का कारण बन सकते हैं। लेकिन वे धूप से बचाती हैं। कम से कम 15 एसपीएफ वाली सनस्क्रीन का उपयोग करें।

सुरक्षात्मक कपड़े पहनें। अपनी त्वचा को गहरे रंग के, ठोस बुनावट वाले कपड़ों से ढंकें जो आपकी बाहों और पैरों को कवर कर सकें और एक चैड़े किनारे वाला टोप लगाएं, जो बेसबॉल कैप या विजर की तुलना में अधिक सुरक्षा प्रदान करता है। धूप का चश्मा ऐसा लें जो दोनों प्रकार के यूवी विकिरण – यूवीए और यूवीबी किरणों को रोक सकता हो।

टैनिंग बैड्स से बचें। टैनिंग बैड यूवी किरणों का उत्सर्जन करते हैं और त्वचा के कैंसर के जोखिम को बढ़ा सकते हैं। अपनी त्वचा की जानकारी रखें, ताकि आप बदलाव को पकड़ सकें। त्वचा में किसी भी तरह के बदलाव पर गौर करें, जैसे कि कोई नया तिल, बर्थमार्क आदि।

हेल्थ

प्लास्टिक की बोतल में पानी पीना है बेहद खतरनाक, हो सकते हैं ये गंभीर परिणाम

Published

on

नयी दिल्ली। अगर आप प्लास्टिक की बोतल से पानी पीते हैं तो आज ही छोड़ दें क्योंकि यह हमारे शरीर के लिए बेहद खतरनाक है। बता दें कि एक अध्ययन के मुताबिक प्लास्टिक चाहे किसी भी तरह की हो, नुकसानदायक ही है। प्लास्टिक की बोतलें केमिकल्स और बैक्टीरिया से भरी हुईं होती हैं और स्वास्थ्य के लिए बहुत खतरनाक हैं।

हों सकते हैं ये गंभीर नुकसान

  1. नुकसानदायक रसायनों के अलावा प्लास्टिक फ्लोराइड, आर्सेनिक और एल्युमीनियम जैसे पदार्थ भी रिलीज करती है, जो मानव शरीर के लिए जहरीले होते हैं. प्लास्टिक की बोतल में पानी पीने का मतलब है कि आप अपनी सेहत को धीमा जहर दे रहे हैं.
  2. प्लास्टिक गर्म वातावरण में पिघलती है. जब हम कार या बाइक में प्लास्टिक की बोतल रखते हैं तो ये सूर्य की सीधी रोशनी के संपर्क में आ जाता है. इस हीटिंग से डाऑक्सिन निकलता है जो ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बढ़ा सकता है.
  3. बाइफिनाइल ए एक ऐसा रसायन है जो डायबिटीज, फर्टिलिटी, व्यवहार से संबंधित समस्याएं पैदा कर सकता है. अच्छा होगा कि आप प्लास्टिक की बोतलों में पानी स्टोर करना छोड़ दें.
  4. प्लास्टिक में फैथलेट्स जैसे केमिकल की मौजूदगी की वजह से लिवर कैंसर का खतरा भी बढ़ जाता है. यही नहीं, इससे स्पर्म काउंट भी घट जाता है.
  5. जब हम प्लास्टिक की बोतलों में पानी पीते हैं तो इससे हमारा इम्यून सिस्टम भी प्रभावित होता है. प्लास्टिक की बोतलों से केमिकल हमारे शरीर में पहुंच जाते हैं और प्रतिरक्षा तंत्र को डिस्टर्ब कर देते हैं.https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

हेल्थ

अगर आप भी झड़ते बालों से हैं परेशान तो घर बैठे करें ये आसान उपाय

Published

on

नयी दिल्ली। आज के समय में धूल, प्रदूषण व खान पान की वजह से शरीर में बहुत सी बीमारियां प्रवेश करती हैं। उनमें से एक बड़ी समस्या है बालों का झड़ना। बालों की झड़ने की वजह से लोग हीन भावना से ग्रसित हो जाते हैं। इसके शादियों के रिश्ते भी टूट जाते हैं।  बालों का झड़ना रोकने के लिए किसी भी किस्म का उपाय आजमाने से पहले बालों के झड़ने की वजह मालूम करें। हम आपको बता रहे हैं इसकी कुछ वजहें, जो समस्या तक पहुंचने में आपकी मदद कर सकती हैं। साथ ही इन उपायों को करने से आपके बाल झड़ना बंद हो जाएंगे।

विटामिन डी की भूमिका

विटामिन डी बालों को बढ़ने ने के लिए यह बहुत ज़रूरी  तत्व है। विटामिन डी की खासियत है कि ये आयरन और कैल्शियम को सोख लेता है। बालों के गिरने की एक वजह आयरन की कमी भी है। यदि आप प्रतिदिन 15 मिनट भी सूर्य की किरणों से सीधे संपर्क में रहेंगे तो इससे आपको विटामिन डी की जरुरी खुराक मिल जाएगी। लेकिन बहुत ज्यादा गर्मी में सूर्य की किरणों के सीधे सम्पर्क में आने से बचें।

पौष्टिक खाना खाइए

पौष्टिक खाना आपको कई तरह की समस्याओं से बचाने का काम करता है। यहां ये बताना आवश्यक है कि जंक फ़ूड, डब्बाबंद आहार, तैलीय खाना, वगैरह में पौष्टिक तत्वों  की कमी होती है। इसलिए इन्हें खाने से आपके शरीर को सही मात्रा  में आयरन, कैल्सियम, जिंक, विटामिन  सी  और प्रोटीन वगैरह नहीं मिल पाते हैं। बालों के वृद्धि और विकास के लिए ये बेहद जरुरी हैं। इसीलिए हरी सब्जियां, फल, सूखे मेवे, दूध, अंडे खाइए ताकि पौष्टिक आहारों की कमी को पूरा किया जा सके।

धूम्रपान से बचिए

धूम्रपान करने से अथेरोसेलेरोसिस की स्थिति बनती है। इसमें आपके शरीर की नसों और रगों पर मैल की परत जमा हो जाती है। इसकी वजह से पूरे शरीर के रक्तसंचार में बाधा पहुँचती है। ऐसे में यदि आप पौष्टिक आहारों का सेवन कर भी कर रहे हैं तो भी पौष्टिक तत्व आपके बालों की जड़ों तक नहीं जा पाते हैं। क्योंकि अथेरोसेलेरोसिस की वजह से आपके सिर तक पर्याप्त मात्रा में  रक्त नहीं पहुँचता है। और इससे आपके बाल कमज़ोर होकर गिरने लगते हैं।

हानिकारक रसायनों के इस्तेमाल से बचें

अपने झड़ते हुए बालों को बचाने के लिए कई लोगों को सबसे आसान उपाय लगता है शैम्पू बदल लेना। भ्रामक विज्ञापनों के जाल में फंसकर कई बार हानिकारक केमिकल वाले शैम्पू भी लगा लेते हैं। इससे बालों का झड़ना तो क्या ही रुकेगा इसमें और वृद्धि हो जाती है। इसलिए ये बेहद जरुरी है कि इसके लिए उचित उपचार करें।

ज्यादा गर्मी और बाल रंगने से बचें

यदि आपके बाल झड़ रहे हैं तो आपको अत्यधिक गर्मी और बालों को  बहुत ज्यादा  रंगने या डाई करने से बचना चाहिए। इसलिए जब तक बहुत जरुरी न हो आपको बालों पर केमिकल लगाने से बचना चाहिए।

व्‍यायाम की भूमिका

व्यायाम आपके शरीर में रक्तसंचार को बढ़ाता है। इसका फायदा ये होता है कि जिन छिद्रों तक रक्त नहीं पहुँच पाता है वहां भी रक्तसंचार होना शुरू हो जाता है। सिर के बाल दरअसल हमारे शरीर के सबसे उपरी हिस्से में स्थित होते हैं। यहाँ रक्त छिद्रों में कई बार उचित पोषण और रक्त नहीं पहुंच पाता है। इसलिए जब हम व्यायाम करते हैं तो रक्त संचार में आई तीव्रता की वजह से सिर के उपरी हिस्से में भी खून और पोषक तत्वों की सही मात्रा पहुंचती है। इससे आपके बालों का झड़ना रुकता है।

पानी की भूमिका

आपकी त्वचा, बाल, रक्त, शुक्राणु, इन सबको स्वस्थ रहने के लिए और अपना कार्य सक्षमता से करने के लिए पानी की ज़रुरत पड़ती है। जब आप पानी पीते हैं तो आप अपने कोशिकाओं और इन्द्रियों को एक तरह से सींचते हैं। इससे आपके रक्तसंचार में सुधार होने के साथ ही किसी भी रोग को रोकने की शक्ति पैदा होती है। आपके बालों की जड़ें भी मज़बूत हो जाती हैं। लीवर से और आपकी त्वचा की कई सतहों के नीचे से विषैले तत्व बाहर निकाल फेंकता है। पानी आपके बालों में एक नयी चमक भी पैदा करता है, और उन्हें स्वस्थ और मज़बूत तो रखता ही है।

तनाव से बचिए

जाहिर है तनाव कई बीमारियों को जन्म देता है। बालों का झड़ना उन बीमारियों में से एक है। इसलिए यदि आप अनावश्यक बीमारियों से बचना चाहते हैं तो तनाव को टाटा बाय-बाय कहिए। हलांकि ये कहना आसान है लेकिन ज्यादा मुश्किल भी नहीं है। बस आपको तय करना है। इसके लिए आप योग या ध्यान की मदद ले सकते हैं।

बालों में लगाएं दही

बालों का झड़ना रोकने के लिए दही एक बेहद कारगर और आसान उपाय है। इसका प्रयोग आप बालों को धोने से पहले करें। बालों को धोने से लगभग 30 मिनट पहले बालों में दही लगा लें। जब बाल पूरी तरह सुख जाएँ तो इसे धो लें। इसके लिए आप पांच बड़े चम्मच दही, एक बड़ी चम्मच नीम्बू का रस और दो बड़े चम्मच कच्चे चने का पाउडर मिलाकर इस पेस्ट को भी नहाने से आधे घंटे पहले लगाएं।

शहद

कई बीमारियों को दूर करने में सक्षम शहद को बालों लगाने पर ये बालों का झड़ना भी कम करता है। इसके अलावा आप दालचीनी और शहद के को मिलाकर भी बालों में लगा सकते हैं। गरम जैतून के तेल में एक चम्मच शहद और एक चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर उनका पेस्ट नहाने से पहले सिर पर लगायें। कुछ समय बाद सिर को धो लीजिए। इससे बाल झड़ने की समस्या से निजात मिलेगा।

मेथी

बालों का झड़ना रोकने के लिए एक कप पानी में कुछ चम्मच मेथी के दाने को को पीसकर मिला लें। इस मिश्रण को अपने बालों में लगा कर चालिस मिनट बाद सादे पानी से बालों को धोयें। लगभग एक महीने में आपको इसका असर दिखेगा।

रोजमेरी ऑयल

बालों की मजबूती और इसे झड़ने से बचाने के लिए अपने बालों में रोजमेरी आयल से मसाज करें। इससे बाल बढ़ते भी हैं। इसके अलावा जवाकुसुम की पत्तियों को थोड़े से पानी में मिलाकर पेस्ट बना लीजिए, इस पेस्‍ट को सिर की त्वचा और बालों पर लगाइए, इससे बाल बढ़ते और घने होते हैं।

मेंहदी

मेंहदी के पत्ते को पीसकर इसे दही और एक अंडे के साथ मिलाकर बालों में लगाएं। इसे 30 मिनट तक छोड़ दें और इसके बाद इसे पानी से धो लें। इस नुस्खे का असर 15 दिनों के भीतर ही हो जाता है।

प्राकृतिक तरीके

बालों के टूटने का एक कारण बालों का उलझा हुआ होना भी है। आपको दिन में कम से कम 2-3 बार कंघी करना चाहिए। इससे बाल सुलझे हुए भी रहेंगे और टूटने का डर भी काफी हद तक कम हो सकता है। बालों को धुप और धुल से बचाकर रखें। बाहर तेज धूप होने पर छाता लेकर जाएँ। हो सके तो बालों को ढककर बाहर निकलें। ठंडी के मौसम में लोग गर्म पानी से नहाना चाहते हैं। लेकिन जब पानी बहुत गर्म होता है तो इससे भी आपके बाल टूटते हैं। बालों को पोषण देने के लिए आपको डाइट में प्रोटीन, आयरन, जिंक, सल्फर, विटामिन सी, के अलावा विटामिन बी से युक्त खाद्य पदार्थ भरपूर मात्रा में लेने चाहिए। बालों में आंवला, बादाम, ऑलिव ऑयल, नारियल का तेल, सरसों का इत्यादि लगाने से मजबूती आती है। इसे सप्ताह में कम से कम दो बार अवश्य लगाना चाहिए। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

हेल्थ

जो लोग देर तक जगते हैं वे होते हैं बुद्धिमान, वो अक्सर बोल देते हैं…

Published

on

नयी दिल्ली। एक नए शोध में दावा किया गया है कि जो लोग रात में देर तक जगते हैं और देर से सोते हैं तो ये मान लीजिए कि वे लोग एक बुद्धिमान व्यक्ति हैं। इसकी वजह भी है। शोध में बताया गया है कि जिन लोगों में बुद्धि कौशल (स्किल) 123 प्रतिशत से अधिक होता है वे आमतौर पर मध्य रात्रि के बाद तक जगते हैं और कुछ न कुछ सोचते और अध्ययन करते रहते हैं।

जबकि जिन लोगों में यह बुद्धि कौशल 75 प्रतिशत से कम होता है वे लोग रात के 12 बजे से पहले तक सो जाते हैं। जो लोग देर तक जगते हैं वे लोग निश्चित तौर पर अधिक ज्ञानी होतेे हैं और उनके अंदर कल्पनाशीलता ज्यादा होती है। शोध में बताया गया है कि जो लोग अधिक बुद्धिमान होते हैं वे बातचीत में औरों की तुलना में अभद्र शब्‍दों का भी इस्तेमाल कर जाते हैं। जिससे उनकी आलोचना भी होती है।

इस शोध में यह भी कहा गया कि वे जो अधिक बुद्धिमान होते हैं उनका जीवन अस्त-व्यस्त रहता है और उनकी दिनचर्या भी सही नहीं रहती है। इस शोध में यह भी दलील दी गई कि इस तरह के शब्‍दों का प्रयोग उनके भाषा के प्रवाह और शब्‍दावली पर पकड़ को भी दर्शाता है.

इस रिसर्च में इस तरह के लोगों को स्‍मार्ट कहा गया है. इनके बारे में यह भी कहा गया कि स्‍मार्ट लोगों में बाकियों की तुलना में चीजों और परिस्थितियों के मुताबिक अनुकूलन क्षमता अधिक होती है. ऐसे लोग समस्‍याओं का समाधान खोजने में दिलचस्‍पी रखते हैं. इस संबंध में महान वैज्ञानिक अल्‍बर्ट आइंसटीन ने भी कहा है कि बुद्धिमान लोगों की निशानी उनका ज्ञान नहीं बल्कि कल्‍पनाशीलता होती है.

सकारात्‍मक विजन

रिसर्च के मुताबिक ऐसे लोगों की खास निशानी यह होती है कि इनका चीजों को देखने का नजरिया बहुत सकारात्‍मक होता है. वे हर चीज में सकारात्‍मकता खोजते हुए उसमें से सर्वश्रेष्‍ठ निकालने की कोशिश करते हैं. ऐसे लोग अपनी गलतियों से सीखते हैं.

नैतिकता का तकाजा

इस रिसर्च में यह भी दावा किया गया है कि ऐसे लोग अधिक नैतिक होते हैं. इस संबंध में मार्टिन लूथर किंग जूनियर ने कहा था कि शिक्षा के माध्‍यम से व्‍यक्ति में आलोचनात्‍मक और सघन नजरिया विकसित होना चाहिए. नैतिकता के साथ बौद्धिकता का मनुष्‍य में विकास शिक्षा का मकसद होना चाहिए.https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
राज्य32 mins ago

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर भीषण हादसा, एक ही परिवार के चार लोगों की मौत, पांच घायल

राज्य59 mins ago

गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंजा अंबेडकर नगर, बसपा नेता व चालक की दिनदहाड़े घेरकर हत्या

बिज़नेस1 hour ago

10 दिन भी नहीं टिकी मोदी सरकार की राहत, डीजल के दाम हुए बराबर, जानें आज क्या हुई कीमत

देश2 hours ago

ड्रैगन का डबल अटैक, लद्दाख में घुसा हेलिकॉप्टर, अरुणाचल में भी सैनिकों ने की घुसैपठ

देश2 hours ago

जन्मदिन की पार्टी के बहाने युवती से गैंगरेप, जिससे मांगी मदद उसने भी किया सामूहिक बलात्‍कार

राज्य16 hours ago

यूपी : शाहजहांपुर में गिरी निर्माणाधीन इमारत, 2 की मौत, मलबे में दबे 2 मजदूर

राज्य17 hours ago

बहराइच : स्वच्छता अभियान में SP ने पुलिस लाइन में किया श्रमदान

देश17 hours ago

सिद्धू का पाकिस्तानी प्रेम, बोले-दक्षिण भारत से अच्छा है पाकिस्तान, कहा-पाक आर्मी चीफ को चूम लूंगा

राज्य18 hours ago

नवरात्रि की पंचमी पर विशाल भंडारे का हुआ आयोजन

राज्य18 hours ago

फैजाबाद के नए पुलिस कप्तान जोगेंद्र कुमार ने ग्रहण किया अपना पदभार

राज्य18 hours ago

बलरामपुर : परिवार परामर्श केन्द्र में 4 मामलों का हुआ सफल निस्तारण

राज्य18 hours ago

बलरामपुर : अपराधियों की धर-पकड़ को लेकर शांति भंग में 10 गिरफ्तार

दुनिया18 hours ago

परमाणु समझौते से अलग होकर घाटे में है अमेरिका : रूहानी

Uncategorized19 hours ago

फैजाबाद : आठवीं की छात्रा का कथित प्रेमी ने किया अपहरण, पुलिस ने दर्ज नहीं किया मुक़दमा

राज्य19 hours ago

मुज़फ्फरपुर अब सिंघम के हवाले, अपराधियों की उड़ी नींद, पूरी रात सड़कों पर पुलिस

राज्य19 hours ago

दुर्गा पूजा के अवसर पर ग्लेज इंडिया ने किया डांडिया सह सांस्कृति कार्यक्रम का आयोजन

राज्य19 hours ago

लखीमपुर-खीरी : भारत-नेपाल के नागरिकों के बीच आपसी भाईचारे को बनाए रखने के लिए दो संस्थाओं ने की संधि

राज्य19 hours ago

लखीमपुर-खीरी : नेपाल सीमा पर पकड़े गए दो तस्कर, लाखों का सामान बरामद

देश2 days ago

VIDEO : मोदी के मंत्री ने एक्टिंग कर चौंकाया, लंबी मूंछें और राजशाही लिबास में आए नजर

राज्य1 week ago

विवेक हत्याकांड : अब इंस्पेक्टर ने लिखा फेसबुक पर पोस्ट, ‘मैं पुलिस में हूं जिसे जानकारी नहीं वो समझ ले’…

देश3 days ago

शिवपाल पर मेहरबान हुई योगी सरकार, मायावती का खाली बंगला किया उनके नाम, सियासी हलचल तेज

देश2 weeks ago

लखनऊ गोलीकांड : योगी बोले कराएंगे सीबीआई जांच, DGP बोले, बर्खास्त होंगे दोनों आरोपी सिपाही

राज्य4 weeks ago

मेरा किसी से बुआ-भतीजे का रिश्ता नहीं, सम्मानजक सीटें मिलीं तभी गठबंधन : मायावती

देश2 days ago

वीडियो : पुलिसवाले ने सरेराह न्यायाधीश की पत्नी और बेटे को मारी गोली, बोला-ये शैतान हैं

देश2 weeks ago

यूपी : SDM ने गोली मारकर तो महिला सिपाही ने फांसी लगाकर की खुदकुशी, सुसाइड नोट से मचा हड़कंप

राज्य3 weeks ago

योगी आदित्यनाथ के गढ़ में शोहदों का आतंक, गोरखपुर का इंटर कॉलेज बंद

देश4 days ago

गैर मर्द के साथ शारीरिक संबंध बना रही थी पत्नी, अचानक आया पति और फिर…

देश2 weeks ago

लखनऊ शूटआउट : पत्नी बोली-अपना जुर्म छिपाने के लिए पति को चरित्रहीन साबित करने में जुटी पुलिस

राज्य3 weeks ago

मुलायम सिंह यादव बने दादा, छोटी बहू ने बेटी को दिया जन्‍म

राज्य3 weeks ago

1986 से अब तक AK-47 की गोलियों से दहलता रहा है मुजफ्फरपुर

राज्य2 weeks ago

विवेक तिवारी के हत्यारोपी सिपाही प्रशांत के रोम-रोम में भरी है दबंगई, लोग बुलाते हैं ‘छोटा डॉन’

दुनिया1 week ago

बेहोश होने तक ISIS के आतंकी करते थे रेप, पढ़ें, 2018 की नोबेल विजेता नादिया की दर्दभरी कहानी

राज्य1 week ago

विवेक हत्याकांड के आरोपी सिपाही के समर्थन में उतरी लखनऊ पुलिस, देखें तस्वीरें

देश1 week ago

विवेक हत्याकांड : आरोपी के समर्थन में बगावत पर उतरे पुलिसकर्मी, एक सस्पेंड, लीडर हिरासत में

देश1 week ago

बच्ची से बलात्कार के बाद गुजरात में हिंसा, रोजी-रोटी छोड़ घर लौटने को मजबूर हुए UP-बिहार के लोग

देश1 week ago

यूपी पुलिस के ‘बगावती’ तेवर से योगी नाराज, पुलिसकर्मी अब नहीं कर सकेंगे आपत्तिजनक पोस्ट

Trending