Connect with us

हेल्थ

लिगामेंट इंजरी को नजरअंदाज करना हो सकता है खतरनाक

Published

on

लखनऊ। सॉकर, फुटबॉल और बास्केटबॉल खेलने वाले खिलाडिय़ों में अक्सर घुटने के लिगामेंट चोटिल हो जाते हैं और छोटी सी लगने वाली ये चोट बहुत तकलीफदेह होती है। लिगामेंट इंजरी किसी को भी हो सकती है लेकिन अक्सर खिलाडिय़ों को इस तकलीफ से गुजरना पड़ता है। ज्यादातर मामलों में देखा गया है कि एक्स-रे में हड्डी तो सही दिखाई देती है लेकिन वास्तव में वह सामान्य नहीं होता।

यही नहीं हमारे द्वारा किए जाने वाले रोजमर्रा के काम भी लिगामेंट इंजरी के लिए जिम्मेदार होते हैं। लिगामेंट इंजरी आज के समय में युवा वर्ग के लोगों में ज्यादा देखने को मिल रही है। उक्त बातें केजीएमयू के स्पोट्र्स मेडिसिन विभाग के विभागाध्यक्ष व आर्थोपेडिक्स के प्रोफेसर डॉक्टर आशीष कुमार श्रीवास्तव ने कही।

ऐसा होता है

डॉक्टर आशीष कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि लिगामेंट इंजरी के कई कारण हो सकते हैं जैसे कि चलते.चलते पैरों का लचक जानाए पैर को मोड़ते वक्त फंसनाए कंधे का उतरना या मोच का आ जाना। ऐसे में किसी को भी इसे इग्रोर नहीं करना चाहिए। यदि आप ऐसा करते हैं तो आगे चलकर आपको बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

आपको तुरंत ही डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए और बिना देर किए इलाज शुरू कर देना चाहिए। उन्होंने बताया कि आगे चलकर ऐसा देखा गया है कि जोड़ जाम हो सकते हैंए ढीलापन या फिर मांसपेशियों का घटना भी हो सकता है। उन्होंने कहा कि इस्ट्रेस व्यूज के बाद एमआरआई की सहायता से इसका सही पता लगाया जा सकता है।

उपाय

हड़बड़ी में कोई काम ना करें। रहा सवाल खेलने का तो सही तरीके से खेलने के लिए ट्रेनिंग की जरूरत होती है। कभी.कभी खेलकूद में (लम्बी कूद) दोनों घुटनों को नुकसान पहुंच सकता है। शुरुवाती दिनों में तो इसका असर नहीं दिखता लेकिन बाद में गहरा असर दिखाता है।

दूरबीन विधि से इलाज

शरीर के किसी भी हिस्से में यदि लिगामेंट इंजरी होती है तो दूरबीन की विधि ज्यादा कारगर साबित होती है। अब बड़े चीरे की जरूरत नहीं है और आपको अस्पताल में ज्यादा दिनों तक रुकने की भी जरूरत नहीं है। अब आथ्र्रोस्कोपिक जैसी आधुनिक और दर्दरहित विधि से बिना चीरफाड़ किए ही लिगामेंट को आसानी से रिपेयर किया जा सकता है।

बाहर जाने की क्या जरूरत

उन्होंने कहा कि स्पोट्र्स मेडिसिन अब राजधानी के केजीएमयू में ही उपलब्ध है। अब मरीज को दिल्ली और मुंबई के अलावा कहीं और जाने की जरूरत नहीं है। इससे पैसों के साथ ही साथ समय की भी काफी बचत होती है।

हेल्थ

शोध में खुलासा, दिल को रखना चाहते हैं दुरुस्त तो करें ये काम, मिलेगा फायदा

Published

on

न्यूयार्क। यह आम धारणा है कि दिल को दुरुस्त रखने के लिए शारीरिक सक्रियता जरूरी है, लेकिन हाल ही में एक अध्ययन में खुलासा हुआ है कि दिल को बीमारियों से दूर रखने के लिए वेटलिफ्टिंग (वजन उठाना) से टहलने और साइकिल चलाने के मुकाबले ज्यादा फायदा होता है। अध्ययन में सामने आया कि दोनों तरह की गतिविधियों मसलन वेटलिफ्टिंग के साथ ही टहलने और साइकिल चलाने जैसी गतिविधियां करते रहने से हृदयसंबंधी बीमारियों का खतरा 30 से 70 फीसदी कम हो जाता है।

गतिशील व्यायाम से ज्यादा फायदेमंद

ग्रेनाडा में सैंट जॉर्ज यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर माइया पी. स्मिथ ने कहा, “दोनों तरह की गतिविधियां जैसे शक्ति प्रशिक्षण और एरोबिक गतिविधियां हृदय को स्वास्थ्य लाभ देती नजर आईं, चाहें कम मात्रा में ही क्यों ना किया हो। उन्होंने कहा, “स्थिर व्यायाम हालांकि गतिशील व्यायाम से ज्यादा फायदेमंद नजर आया। शोधकर्ताओं ने कहा कि चिकित्सकों को मरीजों विशेषकर बुजुर्गो को विभिन्न प्रकार के व्यायाम करने की सलाह दी क्योंकि दोनों प्रकार के व्यायाम करने वाले मरीजों ने सिर्फ एक प्रकार का व्यायाम करने वाले मरीजों की अपेक्षा ज्यादा सुधार किया।

शोध में 21 से 44 या 45 तक की आयु के 4,086 वयस्कों को शामिल किया गया

स्मिथ ने कहा, “महत्वपूर्ण बात ये है कि वे शारीरिक गतिविधि में संलिप्त हैं। शोध के परिणाम पेरू में हुए एसीसी लैटिन अमेरिका कॉन्फ्रेंस 2018 में पेश किए गए। इसके लिए शोधकर्ताओं ने शोध में 21 से 44 या 45 तक की आयु के 4,086 वयस्कों को शामिल किया। शोध दल ने उच्च रक्तचाप, मोटापा, मधुमेह और उच्च कॉलेस्ट्रॉल जैसी हृदय संबंधी बीमारियों का विश्लेषण किया। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

हेल्थ

75 फीसदी मधुमेह रोगियों को होती है रेटिनोपैथी, जानिए इसके लक्षण और रोकने के उपाय

Published

on

नई दिल्ली । भारत में डायबिटीज मेलिटस काफी व्यापक है और इसके रोगियों की संख्या चिंताजनक रूप से बढ़ रही है। डायबिटीज यानी मधुमेह के कारण डायबेटिक मैक्युलर एडीमा (डीएमई) हो सकता है, जो रेटिना का तेजी से फैलने वाला रोग है, जिससे दृष्टिहीनता भी हो सकती है। मधुमेह से पीड़ित लोगों में अन्य लोगों की तुलना में दृष्टिहीन होने का जोखिम 25 प्रतिशत अधिक होता है। यह तथ्य एक शोध में सामने आया है।

डायबेटिक मैक्युलर एडीमा (डीएमई) में रेटिना में तरल संचित हो जाता है। ऐसा रिसती रक्त वाहिकाओं के कारण होता है। यदि किसी व्यक्ति में डायबेटिक रेटिनोपैथी (डीआर) पाई जाती है तो उसे डीएमई हो सकता है। डीएमई डीआर का सबसे आम रूप है।

यह होता है लक्षण

मधुमेह से पीड़ित प्रत्येक रोगी को डीआर होने का जोखिम रहता है। डीएमई के लक्षणों में धुंधला या अस्पष्ट दिखना, सीधी लाइनों का लहरदार दिखना, कॉन्ट्रैस्ट कम होना या रंग समझने की क्षमता जाना, एक दूरी से देखने में कठिनाई, दृष्टि के केंद्र में छोटा, लेकिन बढ़ता हुआ धब्बा शामिल है।

मधुमेह की रोकथाम के उपाय

मधुमेह से पीड़ित रोगियों को प्रत्येक 6 माह में ऑफ्थेल्मोलॉजिस्ट को दिखाना चाहिए और तय अपॉइंटमेंट से चूकना नहीं चाहिए।

रोगियों को डीएमई के लक्षणों के प्रति सचेत रहना चाहिए, जैसे धुंधला या अस्पष्ट दिखाई देना, सीधी लाइनें लहरदार दिखाई देना, रंगों के प्रति असंवेदनशीलता, केंद्रीय दृष्टि में धब्बे, आदि और ²ष्टि में परिवर्तन होने पर तुरंत विशेषज्ञ को दिखाना चाहिए। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

हेल्थ

अगर आपके शरीर में हो रहे एेसे लक्षण तो जरूर कराएं जांच, नहीं तो हो सकती है मौत

Published

on

नई दिल्ली । डायबिटीज में मरीजों को टखनों, पैरों और पेट में सूजन, लगातार थकान महसूस होना, अनियांत्रिक ग्लूकोज स्तर, सांसों की कमी जैसे लक्षणों को लेकर सजग रहना चाहिए। देश में करीब 7.20 करोड़ लोग डायबिटीज से पीड़ित हैं। टाइप-2 डायबिटीज के 70 फीसदी से ज्यादा मरीज की मौत हृदयधमनी रोगों के कारण होती है। वैश्विक मेडिकल पत्रिका, लांसेट में प्रकाशित एक हालिया रिपोर्ट के अनुसार भारतीय लोगों के कार्डियो वस्कुलर डिजीज (सीवीडी) में 50 फीसदी की वृद्धि हुई है।

डायबिटीज के उपचार के कारण ये लक्षण दब जाते हैं

डायबिटीज के मरीजों में अक्सर हार्ट फेलियर के लक्षण पता नहीं चल पाते क्योंकि डायबिटीज के उपचार के कारण ये लक्षण दब जाते हैं। इसके चलते निदान में विलम्ब हो सकता है और डॉक्टर से मिलते-मिलते हार्ट फेलियर का रोग उन्नत अवस्था में पहुंच सकता है। ऐसी स्थिति में अस्पताल में भर्ती होना पड़ता है।

हार्ट फेलियर के मामले बढ़ रहे

विश्व मधुमेह दिवस (14 नवंबर) के अवसर पर चिकित्सकों ने बताया कि इस्कीमिक हृदयरोगों और डायबिटीज एवं हाइपरटेंशन जैसी गंभीर अवस्थाओं में वृद्धि के कारण हार्ट फेलियर के मामले बढ़ रहे हैं। डायबिटीज जैसे खतरनाक घटकों पर निवेश करने की जरूरत है, नहीं तो हमें विशेषकर युवाओं को हृदयधमनी रोगों का भारी संकट झेलना पड़ेगा।

डायबिटीज में मरीजों को टखनों, पैरों और पेट में सूजन, लगातार थकान महसूस होना, अनियांत्रिक ग्लूकोज स्तर, सांसों की कमी जैसे निम्नलिखित लक्षणों को लेकर सजग रहना चाहिए। चिकित्सकों के मुताबिक, डायबिटीज, हाइपरटेंशन आदि जैसी गंभीर अवस्थाओं वाले मरीजों के लिए जरूरी है कि वे अपनी नियमित जांच कराते रहें। समय पर निदान होने से डायबिटीज के मरीजों में हार्ट फेलियर का प्रभावकारी प्रबंधन किया जा सकता है। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
राज्य8 hours ago

श्रावस्ती : भाजपा ने ‘कमल बाइक रैली’ के साथ किया शक्ति प्रदर्शन

हेल्थ8 hours ago

शोध में खुलासा, दिल को रखना चाहते हैं दुरुस्त तो करें ये काम, मिलेगा फायदा

वीडियो8 hours ago

यूपी : भाजपा विधायक की दबंगई, इंस्पेक्टर को दी जूते से मारने की धमकी, एसपी नतमस्तक, देखें वीडियो

राज्य8 hours ago

बहराइच  : मां-बच्चे की खुशहाली के लिए 26 से लगवाएं मीजेल्स-रुबैला का टीका

राज्य9 hours ago

आंवला में निकली गई कमल संदेश बाइक रैली, जुटे भाजपा के दिग्गज नेता

राज्य9 hours ago

अयोध्या को जोड़ते हुए जनकपुर को जाने वाली बस सेवा एक साल बाद फिर शुरू

राज्य9 hours ago

अयोध्या : घास काटने गयी महिला की करंट लगने से मौत, लोगों ने जमकर किया हंगामा

राज्य12 hours ago

बहराइच : तहसीलदार प्रकरण पर सुसंगत धाराओं में जल्द होगी कार्यवाही : एसपी

राज्य12 hours ago

बहराइच : 179 ओडीएफ ग्रामों में आयोजित हुई ‘गौरव यात्रा’

राज्य12 hours ago

बलरामपुर : इविन ऑर्डर प्रबंधन का जिला स्तरीय प्रशिक्षण संपन्न

राज्य12 hours ago

अयोध्या परिक्रमा से लौट रहे श्रद्धालुओं से भरी टैक्सी पलटी, चार की मौत, दो दर्जन लोग घायल

राज्य13 hours ago

सांसद और जिलाधिकारी ने अयोध्या में किया सरस मेले का उद्घाटन

लाइफ स्टाइल13 hours ago

रेसिपी : नाश्ते में ऐसे बनाएं कच्चे केले के कटलेट, खाने में होते हैं बेहद स्वादिष्ट

देश14 hours ago

वसुंधरा के खिलाफ कांग्रेस ने जसवंत सिंह के बेटे को उतारा, दूसरी लिस्ट में देखें कौन कहां से है उम्मीदवार

टेक्नोलॉजी14 hours ago

इस शानदार स्मार्टफोन ने दुनियाभर में मचाया धमाल, बिके 60 लाख से ज्यादा फोन, जानें कीमत

देश14 hours ago

विधानसभा चुनाव में आतंकी खतरा, पंजाब-दिल्ली में हाई अलर्ट देख राजस्थान में घुसा जाकिर मूसा

दुनिया15 hours ago

सीआईए के हवाले से दावा, प्रिंस सलमान के इशारे पर की गई पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या

खेल16 hours ago

भारतीय दिग्गज महिला मुक्केबाज एल सरिता प्री-क्वार्टर फाइनल में पहुंचीं, सांड्रा ब्रूगर को दी मात

राज्य3 weeks ago

सिपाही पिता आईपीएस बेटे का बना मातहत, ठोकेगा सैल्यूट, लखनऊ में दोनों की तैनाती

देश4 weeks ago

अमृतसर ट्रेन हादसा : जिसने निभाया था रावण का किरदार, उसे भी ‘मौत’ खींच ले गयी पटरी के पास

देश4 weeks ago

विधान परिषद सभापति के बेटे की मौत पर बड़ा खुलासा, मां ने ही की थी हत्या, बताया-क्या हुआ था उस रात

मनोरंजन2 weeks ago

अभिनेत्री बोली, कमरे में ले जाकर डायरेक्टर ने कहा-100 करोड़ दूंगा, कुत्ते के साथ शारीरिक संबंंध बनाओगी

देश3 weeks ago

लखनऊ में दिनदहाड़े कैशियर की गोली मारकर हत्या, 10 लाख रुपये लूटे, पुलिस महकमे में हड़कंप

देश1 week ago

दिन में भाजपा में शामिल हुई और रात में ही मिल गया इस मुस्लिम महिला को टिकट, लेंगी बदला

मनोरंजन6 days ago

देखें फोटो : पहलवान से भिड़ना राखी सावंत को पड़ा महंगा, उठाकर एेसा पटका कि पहुंच गईं अस्पताल

मनोरंजन3 weeks ago

‘मुझे धक्का देते हुए मेरे प्राइवेट पार्ट्स छूने लगा’, शूटिंग के दौरान डांसर से छेड़छाड़, अक्षय भी थे मौजूद

देश4 weeks ago

वीडियो : अमृतसर में बड़ा हादसा, ट्रेन से कुचलकर 60 लोगों की मौत, रेलवे और ड्राइवर ने दी सफाई

राज्य4 weeks ago

यूपी : भाजपा पार्षद ने चांटे मार-मार कर दरोगा को पीटा, महिला वकील को भी नहीं बख्शा, देखें वीडियो

राज्य5 days ago

योगी सरकार की बड़ी तैयारी, इलाहाबाद-फैजाबाद के बाद अब बदले जाएंगे इन शहरों के नाम

राज्य2 weeks ago

भाजपा के डिप्टी सीएम व कैबिनेट मंत्री के खिलाफ गैर जमानती वारंट, रीता को गिरफ्तार करने का आदेश

देश2 weeks ago

पहले बने भाई और बहन फिर प्रेमी-प्रेमिका, शारीरिक संबंध के बाद शुरू हुआ विवाहिता दीदी का ‘गंदा खेल’

देश3 weeks ago

वीडियो : सिगरेट को लेकर नशे में धुत मॉडल ने गार्ड को लात-घूसों से पीटा, पुलिस पहुंची तो कपड़े उतारे

खेल4 weeks ago

रांची से इस दिग्गज पार्टी की तरफ से चुनावी मैदान में उतर सकते हैं महेंद्र सिंह धोनी

राज्य3 weeks ago

बरेली : नेताजी के मंच पर फिर चमके वीरपाल

देश4 weeks ago

विधान परिषद सभापति के बेटे की मौत का मामला, बयान से पलटी मां, कहा-मैंने नहीं मारा बल्कि…

राज्य3 weeks ago

बरेली : शुभलेश की कुर्सी जाते ही शुरू हुआ अटकलों का दौर, …तो क्या फिर मिलेगी वीरपाल को सपा की कमान!

Trending