Connect with us

हेल्थ

अच्छी सेहत पाना चाहते हैं तो पालक का करें सेवन, जानें इसके और भी फायदे

Published

on

नई दिल्ली। हरी सब्जियां हमारी सेहत के लिए काफी फायदेमंद है। आज हम आपको पालक के बारे में बताने जा रहे हैं। पालक को साग बनाने के अलावा कई तरीके से इस्तेमाल कर सकते हैं। यह हमारी शरीर के लिए काफी फायदेमंद है। पालक में शरीर के लिए आवश्यक अमीनो एसिड, विटामिन-ए, फोलिक एसिड, प्रोटीन और लौह तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। इसमें बीटा कैरोटिन नामक विटामिन होता है जो आंखो के लिए लाभकारी होता है। इसे सब्जी, सलाद व सूप सभी तरह से बनाकर खाया जा सकता है।

गर्भवती की सेहत

गर्भवती स्त्रियों में फोलिक एसिड की कमी को दूर करने के लिए पालक खाना लाभदायक होता है। इससे हीमोग्लोबिन बढ़ता है। इसमें मौजूद कैल्शियम बढ़ते बच्चों, बुजुर्गों और फीडिंग कराने वाली महिलाओं के लिए फायदेमंद है। इससे याददाश्त भी बढ़ती है।

हृदय रोगों में

पालक में मौजूद फ्लेवेनोएड्स एंटीऑक्सीडेंट का काम करते हैं जो रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि कर हृदय रोगों से लडऩे में भी मददगार हैं। इसमें पाया जाने वाला बीटा कैरोटिन और विटामिन-सी टीबी से बचाता है। यह आर्थराइटिस व ओस्टियोपोरोसिस की आशंका को भी घटाता है।

आंखों के लिए उपयोगी

पालक आंखों के लिए अच्छा होता है। यह त्वचा को रूखा होने से बचाता है। साथ ही बालों को झडऩे से रोकता है। पालक के पेस्ट को चेहरे पर लगाने से झाइयां दूर होती हैं।

डायबिटीज होने पर

एक कटोरी पालक में सात ग्राम कैलोरी होती है जो वजन घटाने में सहायक होती है। यह डायबिटीज के मरीजों के लिए लाभकारी है। इसमें मौजूद विटामिन, मिनरल व अल्फा लिपोइक एसिड (एंटीऑक्सीडेंट) डायबिटीज के मरीजों में ग्लूकोज की मात्रा कम करने में सहायक है।

खाएं उबला पालक

इसे खाने से शरीर में ‘विटामिन-ए’ की कमी दूर होकर त्वचा व बालों को पोषण मिलता है।

सब्जी

इसमें दाल, प्याज और कम मात्रा में मसाले मिलाकर प्रयोग कर सकते हैं। पनीर मिलाकर सब्जी बनाने से प्रोटीन की मात्रा बढ़ती है।

सूप

पालक के सूप को आसानी से पचाया जा सकता है। यह पाचनक्रिया को दुरुस्त रखता है। कब्ज के मरीजों के लिए व सर्जरी के बाद पालक खाना लाभकारी होता है।

कब न खाएं

किडनी में पथरी होने पर पालक न खाएं। दरअसल पालक में ऑक्सालेट नामक पदार्थ होता है जो शरीर में मौजूद कैल्शियम के साथ मिलकर कैल्शियम-ऑक्सालेट (किडनी स्टोंस) बनाता है। पालक में प्रोटीन होता है इसलिए ऐसे रोगी जिन्हें ब्लड यूरिया की वजह से घुटनों में दर्द की समस्या हो वे पालक का सेवन न करें। यह वायुकारक होता है इसलिए मानसून में भी खाने से बचें। https://www.kanvkanv.com

हेल्थ

जानें महिलाओं और पुरुषों में कौन ज्यादा सहन करता है दर्द, इस तरह किया गया चौंकाने वाला शोध

Published

on

नयी दिल्ली। पुरुषों की तुलना में महिलाएं सहन किए गए ज्यादा दर्द को जल्दी भूल जाती हैं। चूहे व मानव पर किए गए एक शोध में इसकी पुष्टि हुई है। कनाडा की टोरंटो मिसिसॉगा विश्वविद्यालय (यूटीएम) के शोधकर्ताओं के शोध में पता चला है कि महिला व पुरुष पूर्व के कष्टदायी अनुभवों को अलग-अलग तरीके से याद रखते हैं।

पुरुष पूर्व के कष्टदायी अनुभवों स्पष्ट तौर पर याद रखते हैं, जबकि महिलाएं दर्द के प्रति बेपरवाह रवैया अपनाती हैं। इसी तरह के परिणाम नर व मादा चूहों में देखने को मिले। पुरुष जब दर्द का अनुभव दोबारा करने पर अतिसंवेदनशील रवैया दिखाते हैं, लेकिन महिलाएं अपने दर्द के पूर्व अनुभव से तनाव नहीं लेती हैं।

यूटीएम के सहायक प्रोफेसर लोरेन मार्टिन ने कहा, “अगर दर्द की याद, दर्द के लिए प्रेरक का कार्य करती है और हम समझते हैं कि दर्द को कैसे याद रखा जाए तो यादाश्त पर क्रियाविधि का इस्तेमाल करके हम कुछ पीड़ितों की मदद करने में समर्थ हो सकते हैं।

इस तरह किया गया अध्ययन

अध्ययन को करेंट बायलॉजी जर्नल में प्रकाशित किया गया है। अध्ययन के दौरान उन्हें विशेष कमरे में आग की लौ के जरिये हल्का सा जलने का दर्द दिया गया। एक दिन बाद दोबारा उतनी ही तेज लौ से पुरुषों ने ज्यादा जलन महसूस की। वहीं महिलाओं की प्रतिक्रिया में पिछले अनुभव की कोई विशेष भूमिका नहीं देखी गई। उन्हें दूसरी बार भी उस लौ से समान दर्द का ही अनुभव हुआ। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

हेल्थ

बस एक ब्लड टेस्ट और 16 साल पहले ही इस खतरनाक बीमारी का लग जाएगा पता, आप भी जानें

Published

on

नई दिल्ली। अब आपका एक बार ब्लड टेस्ट होने से वक्त से पहले ही एक खतरनाक बीमारी का पता चल जाएगा। यह बीमारी है डिमेंशिया। हैरान कर देने वाली बात तो यह है कि बढ़ती उम्र से जुड़ी भूलने की इस बीमारी का पता दो दशक पहले ही चल जाएगा। एक हालिया अध्ययन के मुताबिक साधारण ब्लड टेस्ट के जरिए बीमारी के लक्षण दिखने से 16 साल पहले ही डिमेंशिया की जांच की जा सकेगी। इस तरह रोग की आहट से पहले ही रोग का पता चल सकेगा और वक्त रहते रोकथाम कर पाना संभव होगा।

डिमेंशिया की बीमारी में यह होता है

दरअसल शोधकर्ता लंबे समय से यह जानते हैं कि डिमेंशिया की बीमारी में एक निश्चित प्रोटीन की मात्रा बढ़ जाती है, जो मस्तिष्क की कोशिकाओं में लीक होने के बाद सेरेब्रोस्पाइनल फ्लूड में चला जाता है। लेकिन इस प्रोटीन को कैसे मापा जाए, इस बारे में पता नहीं लगा सके थे। मगर, वैज्ञानिकों का कहना है कि वह रक्त जांच में अब इस प्रोटीन को डिटेक्ट कर सकते हैं। इतना ही नहीं, इस प्रोटीन के स्तर के साथ ही उसके बढऩे की गति की भी जांच की जा सकती है। टेस्ट में देखा जा सकेगा कि क्या प्रोटीन उसी गति से बढ़ रहा है, जिस गति से मस्तिष्क के न्यूरॉन खत्म हो रहे हैं और मस्तिष्क सिकुड़ रहा है।

सस्ता, आसान और अच्छा है ब्लड टेस्ट

सेंट लुई में वाशिंगटन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिकल की टीम द्वारा किए गए इस अध्ययन के बाद वैज्ञानिकों का कहना है कि ब्लड टेस्ट बेहद आसान है। इसके नतीजे अच्छे हैं, फास्ट है और सबसे बड़ी बात सस्ता है। क्लीनिक में ब्रेन कंडीशन की रुटीन जांच में यह ब्लड टेस्ट अहम भूमिका निभा सकता है। प्रोटीन की जांच करने वाला यह ब्लड टेस्ट मिडिल एज में किया जाएगा। ठीक उस अवस्था से पहले, जबअधिकतर लोगों में एल्जाइमर जैसी बीमारी का पता चलता है।

शुरुआती लक्षणों का पता लगाया जा सकेगा

वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि यह परीक्षण अल्जाइमर के शुरुआती लक्षणों और अन्य न्यूरोडिजेनरेटिव डिसऑर्डर का पता लगाने में मददगार साबित होगा। कुछ वर्षों में इसे क्लीनिक में इस्तेमाल होते देखा जा सकेगा। वैज्ञानिकों का कहना है कि अभी हम उस पड़ाव पर नहीं हैं, जहां इस जांच के बाद व्यक्ति को कह सकें कि पांच साल बाद आपको डिमेंशिया होगा। लेकिन, उस कदम की ओर बढ़ जरूर रहे हैं और जल्द कामयाबी मिलने की संभावना है।

लाइलाज है डिमेंशिया

अनुमान के हिसाब से सभी उम्र के करीब 5.7 लाख अमेरिकी 2019 में अल्जाइमर से पीडि़त हुए। अल्जाइमर एसोसिएशन के अनुसार, 2050 तक यह आंकड़ा 1.4 करोड़ तक होने की संभावना है। इससे जूझ रहे रोगी की याददाश्त में कमी आ जाती है और संज्ञानात्मक बोध कम हो जाता है।

न्यूरॉन में देखी गई कमी

अध्ययन में हिस्सा लेने वाले प्रतिभागियों में दोषपूर्ण जीन वैरिएंट वाले 40 लोग थे। अपनी पिछली क्लीनिकल जांच के दो साल बाद उनका ब्रेन स्केन और संज्ञानात्मक परीक्षण हुआ। शोधकर्ताओं ने पाया कि जिन प्रतिभागियों के प्रोटीन में दो साल के अंतराल पर जादुई इजाफा हुआ, उनके उनके मस्तिष्क में न्यूरॉन की कमी और सिकुडऩ भी देखी गई। मेमोरी टेस्ट और संज्ञानात्मक परीक्षण में भी उनकी प्रस्तुति खराब निकली।

साधारण ब्लड टेस्ट किट से किया परीक्षण

परीक्षण में न्यूरोफिलामेंट नाम के प्रोटीन का पता लगाया गया है। आमतौर पर मस्तिष्क की कोशिकाओं के क्षतिग्रस्त या मृत होने के बाद यह प्रोटीन रक्त और सेरेब्रोस्पाइनल फ्लुड में लीक होता है। शोधकर्ता स्टेफनी शुल्त्स का कहना है कि लक्षण प्रकट होने से 16 साल पहले बीमारी का पता चलना बहुत प्रारंभिक प्रक्रिया है, लेकिन हम अंतर देख पाए हैं। यह उन मरीजों की पहचान करने के लिए एक अच्छा प्रीक्लिनिकल बायोमार्कर हो सकता है, जिनमें इस बीमारी से जुड़े लक्षण पनप रहे हैं। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

हेल्थ

एंटीबायोटिक लेने से पहले करें डॉक्टर से संपर्क, नहीं तो हो सकते हैं ये नुकसान

Published

on

नई दिल्ली। दर्द निवारक और एंटीबायोटिक्स खाने वाले संभल जाएं। ऐसा करना आपको गंभीर बीमारी का खतरा हो सकता है। ऐसे लोग मुसीबतों को दावत दे रहे हैं। आमतौर पर देखा जाता है कि सर्दी, जुकाम होते ही लोग मेडिकल स्टोर जाकर दवा ले लेते हैं। जल्दी आराम मिल जाए इसके लिए दर्द निवारक और एंटीबायोटिक्स को डोज परोस दिया जाता है। आप इस बात का ध्यान दें कि खांसी, जुकाम, बुखार होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

कई मुसीबतों की वजह

इसके अलावा मुर्गियों को बीमारियों से बचाने के लिये एंटीबायोटिक दवाइयों से युक्त दानों का बढ़ता प्रचलन भी आम जीवन के लिए खतरनाक साबित हो रहा है। चिकन के सेवन से एंटीबायोटिक लोगों के शरीर में अपनी जगह बना रहे है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को प्रभावित कर रहे हैं। केन्द्र सरकार स्वास्थ्य योजना (सीजीएचएस) में मेडीसिन विशेषज्ञ डॉ. अरूण कृष्णा ने बताया कि फौरन राहत के लिए एंटीबायोटिक्स दवाओं को धड़ल्ले से इस्तेमाल हो रहा है जो भविष्य में कई मुसीबतों की वजह बन सकती है।

यह जरूरी बात

उन्होंने कहा कि देश में लचर कानून भी एंटीबायोटिक्स और दर्द निवारक दवाओं के बढ़ते प्रचलन के लिए जिम्मेदार है। दरअसल, कुछ एक दवाओं को छोड़कर मेडिकल स्टोर संचालक दवाइयों की बिक्री बगैर चिकित्सीय परामर्श के नहीं कर सकता है मगर अधिसंख्य शहरों में मेडिकल स्टोर संचालक डॉक्टरों की तरह मरीजों को दवायें दे रहे हैं जिससे ना सिर्फ मरीजों की जान जोखिम में है बल्कि इसकी आड़ में कई जटिल रोगों को बढ़ावा मिल रहा है। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
देश4 hours ago

मोदी मय हुआ काशी : मेगा रोड शो के बाद प्रधानमंत्री ने की मां गंगा की पूजा, देखें फोटोज और वीडियो

राज्य4 hours ago

वैन का हॉर्न बजाने पर युवक को पीटा, लूटपाट का आरोप

राज्य4 hours ago

अयोध्या : अधिगृहीत परिसर में सम्पन्न हुआ पीएसी का सम्मेलन

राज्य5 hours ago

अयोध्या : मुख्य चुनाव अधिकारी वैकटेश्वर लू ने कसे अधिकारियों के पेंच, समझाई निर्वाचन की शुचिता

राज्य5 hours ago

देवीपाटन मंडल : पेट्रोल पंप पर हो रही है घटतौली, प्रशासन बना अंजान

राज्य5 hours ago

बहराइच : प्रेक्षक मिथलेश कुमार ने किया मतदान केन्द्र का किया निरीक्षण

राज्य5 hours ago

बहराइच : छोटी-छोटी सावधानियों से टाली जा सकती है मानव-वन्यजीव संघर्ष की घटनाएं : डीएफओ

देश8 hours ago

बांदा में गरजे पीएम मोदी, कहा-जो वोट के लिये मरते हैं वो देश को मरवाते हैं, पढ़ें बड़ी बातें

देश9 hours ago

यौन उत्पीड़न केस : CJI के खिलाफ ‘साजिश’ की जांच करेंगे जस्टिस एके पटनायक, SC ने कहा-आग से खेल रहे…

राज्य10 hours ago

निरहुआ के लिए सीएम योगी ने किया प्रचार, बोले, सपा-बसपा ने आजमगढ़ को बनाया ‘आतंक का गढ़’

हेल्थ10 hours ago

जानें महिलाओं और पुरुषों में कौन ज्यादा सहन करता है दर्द, इस तरह किया गया चौंकाने वाला शोध

देश10 hours ago

शादीशुदा महिला के चक्रव्यूह में फंसा युवक, पहले की शादी फिर कर डाला ऐसा कांड

देश10 hours ago

‘आप’ का चुनाव घोषणा-पत्र जारी, ‘दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा’ पर फोकस, पढ़ें और क्या किए वादे

देश11 hours ago

दरभंगा में गरजे पीएम मोदी, कहा-‘भारत माता की जय’ ही भक्ति, ‘वंदे मातरम’ का उद्घोष ही शक्ति है

खेल11 hours ago

आईपीएल : रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने अपने नाम किया ये रिकॉर्ड, लेकिन ये टीम है बेस्ट

दुनिया11 hours ago

राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रम्प को ये शख्स दे सकता है कड़ी टक्कर, मिल चुका है पितामह का दर्जा

खेल11 hours ago

पंजाब से मिली जीत पर भी नहीं दिखी विराट की खुशी, दे दिया ये बड़ा बयान

राज्य11 hours ago

सुनहरे सोने का काला करोबार, इस देश को हुआ अरबों डॉलर का नुकसान

मनोरंजन3 weeks ago

डायरेक्टर ने इस अभिनेत्री से कहा, एक रात…कॉम्प्रोमाइज, एक्ट्रेस बोली-‘आपके साथ सो तो जाऊं लेकिन…’

खेल3 days ago

धोनी ने बनाया नया कीर्तिमान, एसा कारनामा करने वाले बने पहले भारतीय, कोहली ने बोल दी ये बड़ी बात

मनोरंजन4 weeks ago

जानें पहले दिन कैसा रहा फिल्म ‘नोटबुक’ और ‘जंगली’ का प्रदर्शन, दर्शकों ने दिये कितने अंक

मनोरंजन3 weeks ago

टाइगर की गर्लफ्रेंड दिशा पटानी ने किया ऐसा डांस कि वायरल हो गया वीडियो, आप भी देखें

राज्य1 week ago

BJP सांसद हरिओम पाण्डेय का कटा टिकट तो पार्टी के नेताओं पर लगाया लड़की और पैसे पर टिकट बेचने का आरोप

देश2 weeks ago

गृहमंत्री राजनाथ सिंह के खिलाफ कांग्रेस से ये नेता लड़ेगा चुनाव!, खरीदा नामांकन पत्र

देश4 weeks ago

दुल्हन को फेरे लेते समय अचानक होने लगीं उल्टियां, दूल्हे ने जबरन कराया वर्जिनिटी और प्रेग्नेंसी टेस्ट

देश2 weeks ago

यूपी में तीन बजे तक 51 प्रतिशत मतदान, सतीश चन्द्र मिश्रा ने किया DGP को फोन, दर्ज कराई शिकायत

राज्य4 weeks ago

सपा ने जारी एक और उम्मीदवारों की सूची, गोरखपुर व कानपुर से इस दिग्गज नेता को दिया टिकट

देश3 weeks ago

65 साल के बुजुर्ग को जवान लड़की से डेट करना पड़ा महंगा, हो गया ये बड़ा कांड

राज्य5 days ago

समाजवादी पार्टी ने जारी की एक और सूची, अब इस सीट से उम्मीदवार किया घोषित

दुनिया4 weeks ago

महिला ने एक बेटे को जन्म देने के बाद फिर 26 दिन बाद दो जुड़वा बच्चों को दिया जन्म, डाक्टर हुए हैरान

दुनिया2 weeks ago

पति ने घर पर छोड़ा खुला कैमरा, आकर देखा तो दोस्त के साथ पत्नी का दिखा अतरंग वीडियो

राज्य4 weeks ago

यूपी में भाजपा को एक और बड़ा झटका, 2 घंटे पहले इस सांसद ने छोड़ी पार्टी, कांग्रेस ने दिया टिकट

देश3 weeks ago

आडवाणी ने तोड़ी चुप्पी, भाजपा को दी नसीहतें, टिकट न मिलने का भी छलका दर्द, राहुल-ममता ने किया स्वागत

वीडियो2 weeks ago

बॉयफ्रेंड संग नजर आईं एमी जैक्सन, दिख रहा बेबी बंप, बिकिनी पहन कर खेला गोल्फ, देखें वीडियो

देश3 weeks ago

फिर बहुमत से आएगी मोदी सरकार, कांग्रेस-सपा-बसपा सिमट जाएगी इतनी सीटों पर, पढ़ें सर्वे की ये रिपोर्ट

देश2 weeks ago

महिला आयोग ने देह व्यापार के रैकेट का किया भंडाफोड़, चार नाबालिग लड़कियां मुक्त कराईं

Trending