Connect with us

हेल्थ

जाने कितना खतरनाक और क्या होता है साइलेंट हार्ट अटैक

Published

on

हेल्थ । क्या आपने कभी सोचा है कि आपको हार्ट अटैक आए लेकिन आपको उसका पता भी न चले। शायद आपको यह सुनने में अजीब लग रहा होगा लेकिन यह सच है। इस तरह के हार्ट अटैक को साइलंट हार्ट अटैक कहते हैं और इसके लक्षण खुलकर या उभरकर सामने नहीं आते। इसलिए यह जरूरी है कि अटैक आने के कारण, लक्षण और बचने के उपाय को जरूर जाना जाए।

कुछ हल्के-फुल्के लक्षण दिखते हैं जिन्हें नजरअंदाज न करें

नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी के कार्डियॉलजिस्ट डॉ रॉबर्ट ओ बोनो की मानें तो साइलंट हार्ट अटैक हमेशा ही साइलंट नहीं होता बल्कि इसके कुछ लक्षण दिखते हैं जैसे- सीने में असहजता महसूस होना, हार्टबर्न यानी सीने में जलन, चक्कर आना, सांस लेने में तकलीफ होना आदि। इस तरह की चीजें आए दिन बड़ी संख्या में लोगों को होती है लेकिन लोग इसे मामूली गैस या ऐसिडिटी की दिक्कत समझकर नजरअंदाज कर देते हैं। खासकर महिलाओं में इस तरह के लक्षण अस्पष्ट या अज्ञात होते हैं और उन्हें पता भी नहीं चलता कि उन्हें हार्ट अटैक आया है।

दिल तक ऑक्सीजन क्यों नहीं पंहुचा पाता

जब शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने लगता है तो ब्लड़ भी गाढ़ा होने लगता है। इससे धमनियों में ब्लड सर्कुलेशन सही तरीके से नहीं हो पाता। धमिनियों में प्लाक जमने से ये ब्लॉक होने लगती हैं। इससे ब्लड का फ्लो सही नहीं होता। हालांकि कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का संकेत शरीर दे रहा होता है। जब आपको सीने में दर्द महसूस हो, बेचैनी या दिल की धड़कन अचानक से तेज हो जाए तो समझ लें कि कुछ न कुछ शरीर में गड़बड़ी हो रही है। क्योंकि इन समस्याओं का सीधा असर हार्ट पर ही पड़ता है।

क्यों पता नहीं चलता है हार्ट अटैक के दर्द का?

कई बार ब्रेन तक दर्द का अहसास पहुंचाने वाली नसों या स्पाइनल कॉर्ड में प्रॉब्लम के कारण या फिर साइकोलॉजिकल कारणों से व्यक्ति दर्द की पहचान नहीं कर पाता। इसके अलावा ज्यादा उम्र वाले या डायबिटीज के पेशेंट्स में ऑटोनॉमिक न्यूरोपैथी के कारण भी दर्द का अहसास नहीं होता है।

साइलेंट हार्ट अटैक के कारण-

  • स्ट्रेस और टेंशन
  • ज्यादा ऑयली, फैटी और प्रोसेस्ड फूड
  • शराब और सिगरेट पीना
  • डायबिटीज और मोटापा
  • फिजिकल एक्टिविटी न करना

साइलेंट हार्टअटैक के लक्षण-

  • बिना वजह सुस्ती और कमजोरी
  • गैस्ट्रिक प्रॉब्लम, पेट की खराबी
  • अचानक ठंडा पसीना आना
  • थोड़ी सी मेहनत में थकान लगना
  • बार-बार सांस फूलना

साइलेंट हार्ट अटैक से बचाव के उपाय-

  • रेग्युलर मेडिकल चेक-अप करवाएं।
  • डाइट में सलाद, वेजिटेबल्स, ज्यादा शामिल करें।
  • खुश रहें। स्ट्रेस और टेंशन से बचें।
  • सिगरेट, शराब जैसे नशे से दूर रहें।
  • रेग्युलर वॉक, एक्सरसाइज, योगासन करें।

 

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Trending