Connect with us

हेल्थ

दिल की सेहत ना बिगड़े, इसलिए अपनाएं ये तरीके, हमेशा रहेंगे स्वस्थ

Published

on

नई दिल्ली। आज के समय में बदलती जीवनशैली, बढ़ता तनाव और फास्ट फूड का सेवन हमें बीमारियों की तरफ ढकेल रहा है। यह मामला पिछले दो दशक में ज्यादा बढ़ा है। इससे दिल से संबंधित बीमारियों का खतरा बढ़ रहा है। डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के मुताबिक, दिल की बीमारियों में 1970 से 2000 के बीच 300 फीसदी बढ़ोतरी हुई है। ऐसे में आपका ये जानना बेहद जरूरी है कि दिल की बीमारी से बचने के लिए हमें किन चीजों से समय रहते दूरी बना लेनी चाहिए।

नॉन वेज के मामले में संभल जाएं—-

लाल मांस

लाल मांस यानी कि रेड मीट में ढेर सारा सैचुरेटेड फैटए कोलेस्ट्रॉल और नमक होता है। ऐसे में लाल मांस महीने में एक बार खाने की सलाह दी जाती है।

तला हुआ चिकन

किसी भी तरह के तले-भुने खाने में भरपूर मात्रा में ट्रांस फैट पाया जाता है। यह न सिर्फ हमारी हेल्थ के लिए खतरनाक है, बल्कि हमारी कमर को जरूरत से ज्यादा चौड़ा करने के लिए भी जिम्मेदार है। इस तरह की चीजें हमारे शरीर में ऑक्सीडेंट ले आती हैं जो एंटी-ऑक्सीडेंट की दुश्मन हैं। खाने को डीप फ्राई करने के लिए गरम तेल का इस्तेमाल किया जाता है। गरम तेल भोजन के विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट को नष्ट कर ऐसे ऑक्सीडेंट बनाता हैए जिससे कोशिकाओं को नुकसान पहुंचता है।

आलू और मकई के चिप्स

आलू और मकई के चिप्स में भरपूर मात्रा में ट्रांस फैट, सोडियम, काब्र्स और ऐसी बहुत सी चीजें पाई जाती हैं, जो आपकी सेहत और दिल के लिए बिल्कुल भी अच्छी नहीं हैं। शोधों में इस बात का खुलासा हो चुका है कि जो लोग एक दिन में 200 मिलिग्राम से ज्यादा सोडियम खाते हैं वो दिल की बीमारी से मरने वाले 10 लोगों में से एक होते हैं। आलू और मकई के चिप्स में सैचुरेटेड फैट होता है जो पेट बढऩे का सबसे बड़ा कारण है। यही नहीं, इन चिप्स में जरूरत से ज्यादा नमक होता है, जो दिल की कई बीमारियों के लिए जिम्मेदार है।

एनर्जी ड्रिंक्स से दूरी ही अच्छी

एनर्जी ड्रिंक्स में ग्वाराना और टॉराइन जैसे नैचुरल एनर्जी बूस्टर्स होते हैं। ये जब कैफीन के संपर्क में आते हैं तो आपके दिल की धड़कन एकदम से बढ़ जाती है। एनर्जी ड्रिंक्स में बहुत ज्यादा मात्रा में कैफीन होती है, जिससे अरिदमिया यानी कि अतालता की शिकायत हो सकती है। अतालता का मतलब है आपके दिल की धड़कनों की लय में परिवर्तन। जब धड़कनें बहुत तेज होती हैं तो इसे त्रैकार्डिया कहा जाता है और जब हृदय धीमी गति से धड़कता है तो इसे ब्राडीकार्डिया कहते हैं। अतालता का सबसे प्रमुख लक्षण है दिल की अनियमित धड़कन।

सोडा

सोडा पीने से जलन होने के साथ ही ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। यही नहीं सोडा आर्टरी (दिल से शरीर के बाकी हिस्सों तक खून ले जाने वाली धमनी) की दीवारों पर तनाव पैदा कर दिल की बीमारी का खतरा बढ़ा देता है। रोजाना के खान-पान में सोडा का इस्तेमाल जानलेवा साबित हो सकता है।

दिल के मरीजों के लिए ठीक नहीं ब्लेंडेड कॉफी

ब्लेंडेड कॉफी में काफी मात्रा में कैलोरीज और फैट पाया जाता है। इसमें चीनी भी भरपूर मात्रा में होती है जो ब्लड शुगर लेवल को बढ़ाने के लिए काफी है। यही नहीं इस तरह की कॉफी में मौजूद कैफीन भी ब्लड शुगर लेवल बढ़ा देती है और इसका सेवन खासतौर पर डायबिटीज और हार्ट पेशेंट के लिए बहुत ज्यादा हानिकारक है।

पिज्जा

पिज्जा फैट और सोडियम का घर है। इसके क्रस्ट में भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट और सोडियम पाया जाता है। पिज्जा में मौजूद चीज इस सोडियम और फैट को और ज्यादा बढ़ाने का काम करती है। यही नहीं पिज्जा सॉस में भी जरूरत से ज्यादा सोडियम होता है। इन चीजों के सेवन से आर्टरी ब्लॉक हो सकती है। अगर आप पिज्जा के शौकीन हैं तो मैदे के बजाए गेहूं के आटे और ऑलिव ऑयल से बने क्रस्ट का इस्तेमाल करें।

त्याग दें इंस्टेंट नूडल्स का मोह

दो मिनट में बनने वाले इंस्टेंट नूडल्स बच्चों और बैचलर्स का पसंदीदा खाना है, लेकिन यह उन लोगों के शरीर को खासा नुकसान पहुंचाता है जो इसे आए दिन खाते हैं। इंस्टेंट नूडल्स की पैकिंग करने से पहले उन्हें डीप फ्राइड किया जाता हैए जो आपके दिल के लिए तो किसी भी लिहाज से अच्छा नहीं है। यही नहीं इसमें नमक भी बहुत ज्यादा होता है। स्टडी के मुताबिक इंस्टेंट नूडल के एक पैकेट में 875 मिलिग्राम सोडियम पाया जाता है। यह मात्रा दिनभर के सोडियम इनटेक के बराबर है। ज्यादा नमक खाने से ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है जिससे दिल पर दबाव बढऩे लगता है।

मार्जरीन

मार्जरीन का इस्तेमाल मक्खन के विकल्प के तौर पर किया जाता है। इसे हाइड्रोजनेटेड ऑयल से बनाया जाता है, जो ट्रांस फैट का प्रमुख स्रोत है। यह हमारे शरीर के कोलेस्ट्रॉल को बढ़ा देता है। यह न केवल हमारी दिल की सेहत के लिए हानिकारक है बल्कि यह स्किन एजिंग प्रॉसेस को तेज कर देता है। यानी कि समय से पहले हमारी त्वचा बूढ़ी होने लगती है। मार्जरीन के बजाए ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल करना चाहिए।

चाइनीज फूड

चाइनीज फूड कैलोरी, फैट, सोडियम और कार्बोहाडड्रेट से भरपूर होता है। यह हमारे शरीर के ब्लड शुगर लेवल को लंबे समय के लिए बढ़ा देता है। यानी कि आप एक बार चाइनीज फूड खाएंगे और लंबे समय तक आपका ब्लड शुगर लेवल बढ़ा रहेगा। https://www.kanvkanv.com

हेल्थ

अनचाहे गर्भ से महिलाएं पा सकेंगी छुटकारा, विशेषज्ञों ने एक सुई को दी स्वीकृति

Published

on

नई दिल्ली। महिलाएं अब अनचाहे गर्भ से छुटकारा पा सकती हैं। अब एक सुई से एक माह तक अनचाहे गर्भ से बची रहेंगी। यह एक सुई महिलाओं को गोली या कंडोम के बार-बार हाने वाले इस्तेमाल से छुटकारा मिल जाएगा। विशेषज्ञों ने एक खास सुई को स्वीकृति दी है, जिसको महीने में एक बार लेने के बाद महिलाएं पूरे महीने अनचाहे गर्भ से बची रहेंगी। यह सुई 25 मिलीग्राम कृत्रिम एस्ट्रोजेन, प्रोजेस्टेरोन व मेड्रोक्सीप्रोजेस्टेरोन तथा 5 मिलीग्राम एस्ट्रैडियोल साइपोनेट की निर्धारित खुराक वाले मिश्रण (एफडीसी) से बनी है।

नसबंदी की दर में कमी आई

यह सुई उन्हें अपने शरीर पर और ज्यादा अधिकार तथा अनचाहे गर्भ से मुक्ति दिलाने में प्रभावी होगी। हालांकि गर्भनिरोध का बोझ अब भी महिलाओं पर ज्यादा बना रहेगा, क्योंकि पुरुषों में कंडोम के इस्तेमाल और नसबंदी की दर में कमी आई है।

गोलियों के उपयोग में भी 39 फीसदी की गिरावट

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसारए साल 2016 तक बीते आठ साल में कंडोम के इस्तेमाल में 52 फीसदी की कमी आई है। जबकि पुरुषों की नसंबंदी के मामले भी 73 फीसदी कम हो गए हैं। साल 2008 से 2016 के बीच गर्भनिरोधक गोलियों के उपयोग में भी 39 फीसदी की गिरावट आई है।

साइक्लोफेम प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजन का संयोजन

अगस्त 1989 में एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन के संयोजन को प्रतिबंधित कर दिया था। साल 2017 में आईसीएमआर के तत्कालीन महानिदेशक डॉक्टर सौम्य स्वामीनाथन की अध्यक्षता में भारत के दवा महानियंत्रक (डीसीजीआई) सुई के जरिये दिए जाने वाले गर्भनिरोधक साइक्लोफेम से प्रतिबंध हटा दें। ताकि इसे व्यावसायिक रूप से मुहैया कराया जा सके। साइक्लोफेम प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजन का संयोजन होता है।

Continue Reading

हेल्थ

सीतामढ़ी : दिव्यांग पुनर्वास केन्द्र में 42 दिव्यांगों का हुआ परीक्षण, डायबिटीज मरीजों की भी हुई जांच

Published

on

राजेश कुमार सुन्दरका

सीतामढ़ी। रेडक्रॉस की सीतामढ़ी जिला शाखा की जिला दिव्यांगता पुनर्वास केन्द्र ईकाई द्वारा दिव्यांगता जाँच हेतु शिविर का सफल आयोजन किया गया। रेडक्रॉस चैयरमेन डॉ0 महावीर ठाकुर की अध्यक्षता में जिला दिव्यांग पुनर्वास केन्द्र में रविवार सुबह से दिव्यांगों के शारिरिक अक्षमता की जाँच शुरू हुई। शिविर में केंद्राधीक्षक डॉ0 धर्मेश कुमार की टीम की देख रेख में पंजीकृत दिव्यांग पुरूष, महिला व बच्चों ने हिस्सा लिया।

42 दिव्यांगों का परीक्षण किया गया

जाँच के लिए ऑर्थोपेडिक विशेषज्ञ डॉ0 प्रभाकर कुमार तिवारी ने निःशुल्क सेवा दी। डॉ0 प्रभाकर ने सभी दिव्यांगों के दिव्यांग अंग का परीक्षण पूरी सावधानी से किया।
शिविर में सीतामढ़ी जिले के विभिन्न क्षेत्रों से आए भोला राय, कविता कुमारी, पूजा कुमारी, अशोक कुमार मिश्रा, प्रियंका कुमारी, तेतरी देवी, राणाश्रय मंडल, मो0 इरफान, शबनम खातून, सचिन कुमार, नैतिक कुमार, मुसरत खातून समेत 42 दिव्यांगों का परीक्षण किया गया।

शारीरिक अक्षमता के प्रतिशत को देखा गया

जाँच के दौरान दिव्यांगता की वजह से शारीरिक अक्षमता के प्रतिशत को देखा गया। शिविर में 05 दिव्यांगों को 70 प्रतिशत, 03 दिव्यांगों को 60 प्रतिशत, 06 दिव्यांगों को 50 प्रतिशत और 06 दिव्यांगों को 40 प्रतिशत शारिरिक रूप से अक्षम पाया गया। शिविर में डीएमडी एवं ऑस्टियोजेनेसिस इम्पेरफेक्टा जैसे अनुवांशिक रोग से पीड़ित दिव्यांग भी पहुँचे। शिविर के सफल आयोजन हेतु मौके पर नोडल अधिकारी नवीन कुमार, डॉ0 विभा ठाकुर, राजेश कुमार सुन्दरका, नरेन्द्र कुमार, डॉ0 एम0एन0 रहमान, डॉ0 उदय कुमार साह, मनीष कुमार सिंह, दिलीप कुमार शर्मा ने सहयोग दिया।

डायबिटीज मरीजों की जांच की गई

सीतामढ़ी। भारतीय रेड क्रॉस सोसाइटी, सीतामढ़ी द्वारा नियमित मासिक जाँच के अंतर्गत दिसम्बर माह के दूसरे रविवार 09 दिसम्बर को डॉ0 विभा ठाकुर के संयोजकत्व में निःशुल्क मधुमेह और रक्तचाप जाँच शिविर का आयोजन किया गया.
जाँच इंटास के प्रतिनिधि मो0 शमीम अहमद व सदाकत कुमार ने अपनी देख रेख में की. इस अवसर पर चैयरमेन डॉ0 एम0 ठाकुर ने पीड़ित मरीजों को मधुमेह रोग से संबंधीत सलाह भी दी. शिविर में 120 डाइबिटिक व हाइपरटेंशन के मरीजों की जाँच की गई। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

हेल्थ

सर्जरी के पहले करें मछली के तेल का सेवन, कम होता है रक्तस्त्राव का जोखिम

Published

on

न्यूयॉर्क। मछली का तेल फायदेमंद तो है ही लेकिन क्या आप जानते हैं कि सर्जरी के दौरान मछली के तेल का क्या काम है। इस लेख में हम आपको मछली के तेल के बारे में बताएंगे और यह भी बताएंगे कि कैसे दिन के रोगों की बीमारी के रोकथाम के लिए लाभदायक है।

रक्तस्त्राव के जोखिम को कम करता है

मछली के तेल में पाया जानेवाला ओमेगा-3एस सर्जरी के दौरान रक्तस्त्राव के जोखिम को कम करता है। मान्यता यह है कि सर्जरी से पहले मछली का तेल खाना बंद कर देना चाहिए। मछली का तेल हाइपरट्रिग्लीसेरीडेमिया या कार्डियोवैस्कुलर (हृदय संबंधी) बीमारी की रोकथाम के लिए सबसे आम प्राकृतिक पूरक है।

हालांकि सर्जरी के दौरान रक्तस्त्राव के जोखिम को कम करने के लिए मरीजों को सर्जरी से पहले मछली का तेल लेने से मना करने की सिफारिश की जाती है। यह शोध सर्कुलेशन नाम के जर्नल में प्रकाशित किया गया है। इसमें बताया गया है कि रक्त में ओमेगा-3 की उच्च मात्रा-ईपीए और डीएचए मिलकर रक्तस्त्राव के जोखिम को कम करता है।

पुनर्विचार करने की जरूरत

यह शोध कुल 1,516 मरीजों पर किया गया, जिनकी सर्जरी होनी थी। आधे मरीजों को ओमेगा-3एस का डोज दिया गया, जबकि आधे मरीजों को प्लेसबो (शोध के लिए झूठी-मूठी दवाई देना) दिए गए। शोध के दौरान पाया गया कि जिन मरीजों को ओमेगा-3एस दिया गया था, उनमें सर्जरी के दौरान चढ़ाने के लिए कम यूनिट रक्त की जरूरत पड़ी। ओमेगाक्वांट के संस्थापक बिल हैरिस ने कहा कि इस अध्ययन में शोधकर्ताओं ने निष्कर्ष निकाला है कि सर्जरी से पहले मछली के तेल का सेवन रोकने या सर्जरी में देरी की जो सिफारिश की जाती है, उस पर पुनर्विचार करने की जरूरत है।

ओमेगा-3एस खासतौर से ईपीए और डीएच, हृदय, मस्तिष्क, आंखें और जोड़ों के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। मगर ज्यादातर लोग इस मूल्यवान फैटी एसिड का पर्याप्त सेवन नहीं करते हैं, जो स्वास्थ्य संबंधी गंभीर खतरों का जोखिम बढ़ाता है। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
देश7 mins ago

मुख्यमंत्री डॉ. रमन ने ली हार की जिम्मेदारी, राज्यपाल को सौंपा इस्तीफा, कहा- निभाऊंगा विपक्ष की भूमिका

राज्य34 mins ago

बाल वैज्ञानिक की उपाधि से सम्मानित हुई खीरी की बेटी दीपिका

देश2 hours ago

राजस्थान में कांग्रेस की सरकार, बीजेपी को लगा बड़ा झटका

वीडियो2 hours ago

सालगिरह पर अनुष्का शर्मा ने शेयर किया शादी का पहला VIDEO, दिखा विराट कोहली का रोमांटिक अंदाज

हेल्थ3 hours ago

अनचाहे गर्भ से महिलाएं पा सकेंगी छुटकारा, विशेषज्ञों ने एक सुई को दी स्वीकृति

देश3 hours ago

मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बननी तय, शुरू हुआ जश्न

देश3 hours ago

परिवार की इजाजत के बाद रेप पीड़िता की पहचान उजागर न करें पुलिस और मीडिया : सुप्रीम कोर्ट

बिज़नेस4 hours ago

मांग कम होने के चलते सोना-चांदी स्थिर, जानें कितनी है कीमत

देश5 hours ago

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार!, राजस्थान में आगे और मध्य प्रदेश में है बीजेपी से कड़ी टक्कर

लाइफ स्टाइल5 hours ago

रेसिपी : नाश्ते में ऐसे बनाएं लाजवाब मुगलई पराठे, खाने में होता है बेहद स्वादिष्ट

राज्य5 hours ago

सुल्तानपुर : उद्योगपतियों के कर्ज सहित कई मामले पर अपनी ही सरकार को घेरते दिखे वरुण गांधी

देश6 hours ago

राजस्थान में बीजेपी-कांग्रेस के बीच कड़ी टक्कर, कांग्रेस 91 तो बीजेपी 86 सीटों पर चल रही आगे

खेल6 hours ago

संदिग्ध गेंदबाजी को लेकर इस धांसू स्पिनर को ICC ने किया निलंबित

देश6 hours ago

माहौल भाजपा के खिलाफ, जनता ने कांग्रेस को बेहतर विकल्प के तौर पर किया पसंद : पूर्व मुख्यमंत्री

राज्य7 hours ago

जन्मदिन पर ही चौकी प्रभारी ने सर्विस रिवाल्वर से खुद को गोली से उड़ाया, जांच में जुटी पुलिस

राज्य7 hours ago

अखिलेश का भाजपा पर कसा तंज, कहा- बड़े-बड़ों की सत्ता हो जाती है ‘नौ दो ग्यारह’

देश7 hours ago

मध्य प्रदेश : रुझानों में कांग्रेस-बीजेपी के बीच कांटे की टक्कर, कांग्रेस 110 तो बीजेपी को 111 पर बढ़त

देश7 hours ago

छत्तीसगढ : विधानसभा चुनाव के रुझानों में रमन राज खत्म, कांग्रेस ने पार किया जादुई आंकड़ा

देश1 week ago

यूपी : बुलंदशहर में प्रदर्शनकारियों और पुलिस की भिड़ंत, इंस्पेक्टर शहीद, स्थिति तनावपूर्ण

देश1 week ago

देखें : इंस्पेक्टर की मौत का वीडियो आया सामने, घटना स्थल पर मौजूद सिपाही ने सुनाई खौफनाक कहानी

मनोरंजन4 weeks ago

देखें फोटो : पहलवान से भिड़ना राखी सावंत को पड़ा महंगा, उठाकर एेसा पटका कि पहुंच गईं अस्पताल

राज्य2 weeks ago

यूपी : पांच साल का बच्चा बना एक दिन का विधायक, कोतवाली का किया निरीक्षण, सुनीं शिकायतें

देश3 weeks ago

डीएम की पत्नी पहनती है छोटे कपड़े और करती है अंग्रेजी में बात, रोका तो धरने पर बैठी

देश2 weeks ago

सीएम योगी आदित्यनाथ ने हनुमानजी को बताया दलित, मिला कानून नोटिस

राज्य4 weeks ago

योगी सरकार की बड़ी तैयारी, इलाहाबाद-फैजाबाद के बाद अब बदले जाएंगे इन शहरों के नाम

देश1 week ago

छोटी सी दुकान में आयकर का छापा, मिले 300 लॉकर्स, एक महीने से हो रही नोटों की गिनती

दुनिया4 days ago

किस्मत हो तो एेसी, घर से निकली थी गोभी खरीदने वापस आई तो बन गई 1.5 करोड़ की मालकिन

वीडियो3 weeks ago

यूपी : भाजपा विधायक की दबंगई, इंस्पेक्टर को दी जूते से मारने की धमकी, एसपी नतमस्तक, देखें वीडियो

वीडियो2 weeks ago

देखें वीडियो : एेसे भी आती है मौत, स्टेज पर नाचते हुए 12 साल की लड़की ने तोड़ा दम

दुनिया3 weeks ago

ब्वॉयफ्रेंड को मारकर किए छोटे-छोटे टुकड़े फिर बिरयानी बनाकर लोगों को खिला दिया, एेसे हुआ खुलासा

देश4 weeks ago

पहले फौजी से फेसबुक पर की दोस्‍ती, एक मुलाकात के बाद लड़की भेजने लगी अपनी ही अश्‍लील तस्‍वीरें

राज्य3 weeks ago

अयोध्या : भारत जैसा लोकतंत्र और एकरसता पूरी दुनिया में नहीं : हाफिज उस्मान

राज्य3 weeks ago

यूपी : अवैध संबंध के शक में महिला हेड कांस्टेबल को पति ने चापड़ से काटा डाला, गिरफ्तार

राज्य4 weeks ago

यूपी : काम के बोझ से अवसाद में आकर डिप्टी सीएमओ ने की आत्महत्या, प्रशासन में खलबली

देश21 hours ago

डीएम की पत्नी ने लगाई आरोपों की झड़ी, कहा-यूपी की इस एसडीएम के साथ पति के हैं अवैध संबंध

देश1 week ago

बुलंदशहर हिंसा : खेत में मारी गई थी इंस्पेक्टर को गोली, निर्दोष था मारा गया छात्र सुमित, एसआईटी गठित

Trending