डॉ. सूर्य कान्त: कोरोना टीकाकरण लगवाते समय बुजुर्ग व बीमार बरतें सावधानी

– रजिस्ट्रेशन कराने में भी बरतें खास सावधानी, साइबर ठगों से रहें सावधान

लखनऊ। देश में कोविड-19 टीकाकरण के तीसरे चरण की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है । इस चरण में उच्च जोखिम समूह में आने वाले 60 साल से ऊपर के बुजुर्गों और पहले से किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित 45 से 59 साल के लोगों का टीकाकरण होना है ।

टीके की दो डोज लेना है जरूरी
टीकाकरण के लिए दी गयी लिंक और आरोग्य सेतु पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था की गयी है । सरकारी केन्द्रों पर टीकाकरण सभी के लिए मुफ्त होगा और निजी अस्पतालों में टीका लगवाने पर 250 रूपये प्रति डोज भुगतान करना होगा । टीके की दो डोज लेना जरूरी है । दोनों डोज के बीच 28 दिन का अंतर रखना भी जरूरी है ।

टीकाकरण के ब्रांड अम्बेसडर डॉ. सूर्य कान्त ने कहा
किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के रेस्परेटरी मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष व राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के कोविड टीकाकरण के ब्रांड अम्बेसडर डॉ. सूर्य कान्त का कहना है कि टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य केंद्र पर जाने से पहले बुजुर्गों और बीमार को खास सतर्कता बरतने की जरूरत है, क्योंकि मौसम में बदलाव का दौर चलने के कारण संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है ।

भीडभाड़ से बचने की करें कोशिश
इसलिए सर्दी-गर्मी से बचने के लिए मौसम के अनुकूल कपड़े को पहनकर ही टीकाकरण को जाएँ, घर से बाहर निकलते समय मास्क से नाक व मुंह को अच्छी तरह से ढक लें, इस दौरान भीडभाड़ से बचने की भी कोशिश करें । अपने साथ सेनेटाइजर अवश्य रखें, किसी सतह या वस्तु के संपर्क में आने पर हाथों की स्वच्छता का ख्याल रखें ।

बिना कुछ खाए न लगवाएं टीका
टीकाकरण में लगने वाले समय को ध्यान में रखते हुए कुछ खाकर ही घर से निकलें और साथ में पीने का पानी अवश्य रखें क्योंकि टीका लगने के बाद आधा घंटा तक निगरानी कक्ष में भी रुकना है । खाली पेट टीका लगवाने से चक्कर आदि आने का खतरा बना रहता है, इसलिए कुछ खाकर ही टीका लगवाने जाएँ । रक्तचाप, डायबीटीज या किसी अन्य बीमारी की दवा लेते हैं तो उसका सेवन करके ही जाएँ ।

बुखार के समय बिलकुल न लगवाएं टीका
इसके अलावा टीका लगवाने वाले दिन अगर बुखार है तो उस दिन टीका न लगवाकर अगली तारीख ले सकते हैं। इसी तरह गंभीर रूप से बीमार की श्रेणी में आने वाले भी अगर उस दिन उस बीमारी का अटैक पड़ता है तो टीका की तारीख आगे बढ़ा सकते हैं यानि उस दिन टीका लगवाने से बचना चाहिए ।

पहचान पत्र व आयु प्रमाणपत्र ले जाना अनिवार्य
डॉ. सूर्य कान्त का कहना है कि टीकाकरण के लिए जाते समय पहचान पत्र व आयु प्रमाणपत्र के लिए जरूरी कागज साथ ले जाएँ । गंभीर रूप से बीमार को भी अपने साथ बीमारी के सम्बन्ध में जारी प्रपत्र को मेडिकल काउंसिल से रजिस्टर्ड चिकित्सक से सत्यापित कराकर ले जाना होगा । मदद के लिए अपने साथ किसी को सहयोगी के रूप में लेकर जाना श्रेयस्कर होगा ।

केंद्र पर भीडभाड से बचने के लिए पहले करा लें रजिस्ट्रेशन
केंद्र पर सीधे जाकर टीका लगवाने की प्रक्रिया पूरी करने से अच्छा है कि दिए गए लिंक या आरोग्य सेतु एप पर पहले से रजिस्ट्रेशन कराकर और टीकाकरण के लिए मिले समय पर ही केंद्र पर जाएँ। रजिस्ट्रेशन के समय खास सावधानी बरतने की जरूरत है क्योंकि साइबर ठग कहीं कोई बेजा इस्तेमाल न कर सकें ।

मोबाइल पर मिलेगी टीका लगने की तिथि, स्थान और समय की जानकारी
रजिस्ट्रेशन के लिए लिंक एचटीटीपी://सेल्फरजिस्ट्रेशन.कोविन.जीओवी.इन पर जाने पर मोबाइल नम्बर देना होगा जिस पर वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) आएगा जिसको डालने पर पहचान और आयु प्रमाण के लिए आधार या मतदाता पहचान पत्र देना होगा जिसके आधार पर टीका लगने की तिथि, स्थान और समय की जानकारी मोबाइल पर मिलेगी ।

इसलिए इस काम में सावधानी बरतें, क्योंकि किसी अन्य से ओटीपी और आधार कार्ड का डिटेल शेयर करने से बैंक खाते से छेड़खानी भी हो सकती है । इसके अलावा आरोग्य सेतु एप पर भी रजिस्ट्रेशन किया जा सकता है । पहला टीका लगने के बाद दूसरे टीके की तारीख, केंद्र और समय सम्बंधित सन्देश भी मोबाइल पर आएगा ।

Previous articleदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 14,989 नए मामले, 98 लोगों की मौत
Next articleलखनऊ मेट्रो ने युवाओं को दिया रोज़गार का अवसर, निकाली 292 पदों के लिए भर्ती