Connect with us

हेल्थ

एचआईवी पाॅजिटिव होने पर दवाओं और उचित देखभाल से जी सकते हैं सामान्य जीवन : डा. वर्मा

Published

on

राधेश्याम मिश्र

बहराइच। आमजन को एचआईवी और एड्स रोग के प्रति जागरूक किये जाने के उद्देश्य से प्रत्येक वर्ष 01 दिसम्बर को सम्पूर्ण विश्व में ‘‘विश्व एड्स दिवस’’ का आयोजन किया जाता है। जिसके माध्यम से रोकथाम के उपायों पर चर्चा, एड्स होने के कारणों, नियंत्रण और साक्ष्यों के आधार पर लोगों को शिक्षित करने का वृहद कार्यक्रम संचालित किया जाता है।

शरीर में बीमारियों से लड़ने की क्षमता कम होती चली जाती है

यह जानकारी देते हुए नोडल अधिकारी डा. पी.के. वर्मा ने बताया कि एच.आई.वी. एक वायरस है। जब यह शरीर में पाया जाता है तो उस अवस्था को एचआईवी पाॅजिटिव कहा जाता है और जाॅच के द्वारा इसका पता लगाया जा सकता है। उन्होंने बताया कि जब एचआईवी हमारे शरीर में मौजूद शक्तिकणों को कमज़ोर और संख्या में कम कर देता है तो शरीर में बीमारियों से लड़ने की क्षमता कम होती चली जाती है और हमारा शरीर दुर्बल हो जाता है। इस अवस्था में कई बीमारियाॅ एक साथ शरीर में घर कर जाती हैं। इस अवस्था को एड्स कहते हैं। इस प्रक्रिया में कई साल लग जाते हैं। उन्होंने बताया कि जिले में गैर सरकारी संगठन ममता, शरणम् संस्थान और थारू जनजाति विकास समिति भी लोगों को जागरूक करने और परामर्श देने का काम कर रही है।

बच्चों को एचआईवी संक्रमण से सुरक्षित किया जा चुका है

उन्होंने बताया कि सीमावर्ती जनपद होने और पिछड़ेपन के कारण जनपद में एचआईवी/एड्स के प्रति अधिक जागरूकता की आवश्यकता है। आंकड़े बताते हैं कि पिछले वित्तीय वर्ष में 6093 मरीज़ों की एचआईवी की जाॅच में 177 मरीज़ पाॅजिटिव पाए गए वहीं इस वर्ष अभी तक 4667 मरीज़ों की जाॅच में 121 एचआईवी पाजिटिव पाए गए। इनमें से अधिकतर वे व्यक्ति थे जो बाहर अन्य प्रान्तों में मज़दूरी करने जाते हैं।

नोडल अधिकारीने बताया कि एचआईवी पाॅजिटिव व्यक्तियों को मुफ्त में दवाओं एवं उचित परामर्श के साथ-साथ गर्भवती माॅ से बच्चे में एचआईवी संक्रमण के रोकने के उपाय किये जाते हैं। जिला महिला अस्पताल के आॅकड़े बताते हैं कि पिछले वर्ष एचआईवी संक्रमण से पीड़ित 4 महिलाओं का सुरक्षित प्रसव कराया गया और चारों बच्चों को एचआईवी संक्रमण से बचाया भी गया वहीं इस वर्ष अब तक तीन नए जन्मे बच्चों को एचआईवी संक्रमण से सुरक्षित किया जा चुका है।

सावधानी बरतने की आवश्यकता

नोडल अधिकारी डा. पी.के. वर्मा ने बताया कि एचआईवी पाॅजिटिव व्यक्ति के साथ असुरक्षित यौन सम्बन्ध बनाने, एचआईवी संक्रमित रक्त चढ़ाने, एचआईवी संक्रमित सुई के प्रयोग करने तथा एचआईवी संक्रमित गर्भवती महिला से उसके होने वाले बच्चे में एड्स हो सकता है। बचाव के सम्बन्ध में जानकारी देते हुए नोडल अधिकारी ने बताया कि बहुत से लोग एचआईवी पाॅजिटिव होते हुए भी कई सालों तक सामान्य जीवन व्यतीत करते हैं बस आवश्यकता इस बात की है सिर्फ सावधानी बरती जाय और देखभाल की जाय।

एचआईवी से बचने के लिए उन्होंने लोगों को सुझाव दिया है कि असुरक्षित यौन सम्बन्ध यानि कन्डोम के बिना सम्भोग न करें चाहें वह समलैंगिक हो या फिर स्त्री पुरूष के बीच, कंडोम का सही और नियमित प्रयोग ज़रूरी है। उन्होंने बताया कि अपने व अपने परिवार के किसी भी सदस्य चाहे वह बच्चा ही हो आवश्यकता पड़ने पर उन्हें हमेशा नयी सुई/इंजेक्शन लगवाएं।

वायरस के असर को कम कर सकते हैं

इलाज के सम्बन्ध में नोडल अधिकारी ने बताया कि अभी तक एचआईवी का कोई वैज्ञानिक इलाज नहीं मिल पाया है, लेकिन उचित देखभाल और चिकित्सीय परामर्श से इस वायरस के असर को कम कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि जिला अस्पताल बहराइच में आईसीटीसी (एकीकृत परामर्श परीक्षण केन्द्र) सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कैसरगंज, बाबागंज, पयागपुर में एचआईवी की जाॅच मुफ्त में की जाती है तथा मरीज के सम्बन्ध में सभी जानकारी गोपनीय रखी जाती है। डा. वर्मा ने बताया कि जाॅच में एचआईवी पाॅजिटिव होने पर दवाओं और उचित देखभाल द्वारा सामान्य जीवन व्यतीत किया जा सकता है। https://www.kanvkanv.com

हेल्थ

जवां दिखने के लिए इन आसनों को करना न भूलें, जानें इनके बारे में

Published

on

जोड़ों का दर्द अक्सर लोगों को परेशान करता है। यह उन लोगों को अधिक होता है जिनकी उम्र अधिक हो चुकी होती है। ऐसा इसलिए भी होता है क्योंकि जीवनशैली निष्क्रिय हो गई है। लेकिन आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। कुछ आसान योगासन व प्राणायाम से शरीर को लचीला व मजबूत बना सकते हैं। आइए जानते हैं ऐसे आसनों के बारे में-

कटिचक्रासन

ऐसे करें : सीधे खड़े होकर पैरों के बीच डेढ़ फुट की दूरी बनाएं। कंधों की सीध में दोनों हाथों को सामानांतर फैलाएं। इसके बाद बाएं हाथ को दाएं हाथ के कंधे पर रखें और दाएं हाथ को पीछे से बाईं ओर ले जाकर शरीर से स्पर्श करें। सामान्य सांस लेते हुए मुंह घुमाकर बाएं कंधे के बराबर ले आएं। 10-15 सेकंड इस स्थिति में खड़े रहने के बाद दाईं ओर से भी इसे दोहराएं। इस क्रिया को दोनों हाथों से 5-5 बार कर सकते हैं। इस आसन को करते समय ध्यान रखें कि कमर से ऊपरी शरीर को पीछे की ओर घुमाते समय घुटने न मोड़ें। साथ ही पैरों को अपनी जगह से न हिलाएं।
ध्यान रहे : जल्दबाजी में इस योगासन को न करें
वर्ना संतुलन बिगडने से चोट लग सकती है। चक्कर आने की स्थिति में इससे परहेज करें।

अनुलोम विलोम

सांस संबंधी समस्याओं में यह काफी फायदेमंद है।
ऐसे करें : सुखासन या वज्रासन की मुद्रा में आंखें बंद करके बैठें। बाईं हथेली को बाएं घुटने पर रखें। अब दाएं हाथ के अंगूठे से नासिका के दाएं नथुने को बंद करें। बाएं नथुने से सांस लें। अब दाएं हाथ के बीच की दो अंगुलियों से बाएं नथुने को बंद करें और दाएं नथुने से सांस छोड़ें। अब इसी प्रक्रिया को दूसरे नथुने से भी दोहराएं। एक समय में इस क्रिया को 10-15 बार करें।
ध्यान रहें : जल्दबाजी में सांस लेने-छोडऩे की क्रिया न करें। सांस की गति पर ध्यान देकर इस प्राणायाम को करें। जिन्हें सांस संबंधी या फेफड़ों से जुड़ा रोग है, वे सावधानी बरतें।

Continue Reading

हेल्थ

जमीन पर बैठकर भोजन करने पर मिलते हैं गजब के फायदे, सेहत के साथ दूर हो जाती हैं ये बीमारियां

Published

on

लखनऊ। भारत की पुरानी परंपरा रही है कि बैठकर आसन की मुद्रा में भोजन करें। लेकिन धीरे-धीरे अब यह परंपरा लोग छोड़ते जा रहे हैं। डाक्टरों की मानें तो जमीन पर बैठकर भोजन करने और जलपान करने के कई फायदे हैं।

एक तो बैठकर भोजन करने से शरीर में रक्त संचार सुचारू रहता है और इससे वजन भी नियंत्रित रहता है। दूसरा बड़ा फायदा ये है कि इस मुद्रा में खाने पीने से पाचन क्रिया जहां दुरुस्त रहती है तो वहीं मन: स्थिति भी ठीक रहती है। आइए जानते हैं कि जमीन पर बैठकर भोजन करने से कौन-कौन से फायदे मिलते हैं।

वजन को नियंत्रित रखना 

जमीन पर बैठना और उठना, एक अच्छा व्यायाम माना जाता है। भोजन करने के लिए तो आपको जमीन पर बैठना ही होता है और फिर उठना भी, अर्ध पद्मासन का ये आसन आपको धीरे-धीरे खाने और भोजन को अच्छी तरह पचाने में सहायता देता है। जिससे वसा के कारण वजन अनियंत्रित नहीं हो पाता।

स्वास्थ्य के लिए लाभप्रद 

जमीन पर बैठकर खाना एक प्रकार का योगासन कहा जाता है। जब भारतीय परंपरानुसार हम जमीन पर बैठकर भोजन करते हैं तो उस तरीके को सुखासन या पद्मासन की तरह देखा जाता है। यह आसन हमारे स्वास्थ्य की दृष्टि से बहुत लाभप्रद है।

रक्तचाप में कमी 

जमीन पर बैठने से रीढ़ की हड्डी के निचले भाग पर जोर पड़ता है, जिससे आपके शरीर को आराम अनुभव होता है। इससे आपकी सांस थोड़ी धीमी पड़ती है, मांसपेशियों का खिंचाव कम होता है और रक्तचाप में भी कमी आती है।

पाचन क्रिया में सुधार 

जमीन पर बैठकर भोजन करने के लिए प्लेट की तरफ झुकना होता है, जो एक प्राकृतिक तरीका है। लगातार आगे होकर झुकने और फिर पीछे होने की प्रक्रिया से पेट की मांसपेशियां निरंतर कार्यरत रहती हैं, जिससे पाचन क्रिया में सुधार होता है।

दिल की मजबूती 

सही मुद्रा में बैठने से रक्त का संचार बेहतर होता है और नाड़ियों में दबाव भी कम महसूस होता है। पाचन क्रिया में रक्त संचार की एक अहम भूमिका है। पाचन क्रिया को सुचारू रूप से चलाने में हृदय की भूमिका अहम होती है। जब भोजन जल्दी पच जाएगा तो हृदय को भी कम मेहनत करनी पड़ेगी।

घुटनों का व्यायाम 

जमीन पर बैठकर भोजन करने से आपका पूरा शरीर स्वस्थ रहता है, पाचन क्रिया दुरुस्त रहती है। इसके साथ ही साथ जमीन पर बैठने के लिए आपको अपने घुटने मोड़ने पड़ते हैं। इससे आपके घुटनों का भी बेहतर व्यायाम हो जाता है।

शरीर के मुख्य भागों की मजबूती

भोजन करने के लिए जब आप पद्मासन में बैठते हैं तब आपके पेट, पीठ के निचले हिस्से और कूल्हे की मांसपेशियों में लगातार खिंचाव रहता है जिसकी वजह से दर्द और असहजता से छुटकारा मिलता है। इस मांसपेशियों में अगर ये खिंचाव लगातार बना रहेगा तो इससे स्वास्थ्य में सुधार देखा जा सकता है। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

हेल्थ

इन फलों का करें सेवन, सेहत में सुधार और वजन रहेगा नियंत्रित

Published

on

नई दिल्ली। आज के दौर में सेहत को दुरुस्त रख पाना सबसे बड़ी चुनौती है। भागदौड़ के चक्कर में लाइफस्टाइल बदल गई है और खाने-पीने का ध्यान नहीं रख पाते हैं। अगर आपको अच्छी सेहत चाहिए तो खाने-पीने के साथ ही फलों का भी सेवन करना चाहिए। फल हमारे शरीर के जरूरी है।

सुबह खाना चाहिए फल

फ्रूट्स में कई न्यूट्रिएंट जैसे विटामिन सी, ए, फाइबर पाए जाते हैं। सही फ्रूट्स को सही समय पर खाना आपकी सेहत के लिए सबसे अच्छा होता है। हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक फलों को सबसे पहले सुबह खाना चाहिए। इन्हें कभी भी दूध या दही के साथ मिला कर नहीं खाना चाहिए। इसे मिलाकर खाने से कई तरह के टॉक्सिन बन जाते है जिससे साइनस, कोल्ड, कफ और एलर्जी हो सकती है। अपने आपको सहेतमंद रखने के लिए और वजन नियंत्रित रखने के लिए इन 8 फलों का सेवन कर सकते हैं।

1. पपीता

पपीता में कैल्शियम, विटामिन, आयरन, मिनरल्स और शरीर के लिए फास्फोरस भी पाया जाता है। इसमें कई तरह डाइजेस्टिव एंजाइम पाए जाते है जो खाना पचाने में मददगार है। वहीं इसमें कैलोरी और वसा भी कम होती है।

2. तरबूज

तरबूज में कैलोरी बहुत कम होती है और पानी की मात्रा बहुत अधिक होती है इसलिए तरबूज खाने से आपका शरीर हाइड्रेट रहता है और इसे खाने से वजन भी नहीं बढ़ता है। तरबूज को खाना और इसका जूस पीना दोनों ही वजन कम करने के लिए उपयोगी होता है।

3. केला

एक केले में 105 कैलोरी पाये जाने के कारण यह इंस्टेंट एनर्जी के लिए सबसे उपयुक्त फल है। वर्कआउट के बाद खाने के लिए मिलने वाले कई पैकेज्ड फ़ूड की तुलना में यह फल बहुत अधिक हेल्दी होता है और यह आपके मसल्स क्रैम्प को सही करने में, ब्लड प्रेशर को कंट्रोल रखने में और एसिडिटी से बचाने में भी सहायक होता है।

4. संतरा

इसका सिर्फ स्वाद ही अच्छा नही होता बल्कि संतरे के 100 ग्राम टुकड़े में करीब 47 कैलोरी होती हैं इसलिए यह डाइटिंग और वजन कम करने के वालों के लिए बहुत उपयोगी है।

5. नाशपाती

नाशपाती में पर्याप्त मात्रा में फाईबर होता है। इसके सेवन से लंबे समय तक पेट भरा रहता है और भूख नहीं लगती है इसलिए यह वजन कम करने में लाभकारी होती है।

6. आम

आम में फाइबर, मैग्निशियम, एंटीऑक्सीडेंट और आयरन होता है जो भूख को नियंत्रित रखता है। ऐसे में आपका वजऩ भी कंट्रोल रहता है।

7. स्ट्रॉबेरी

स्ट्रॉबेरी में फैट फ्री और लो कैलोरी वाली होती है जिसमें ना तो शक्‍कर होती है और ना ही सोडियम। रोजाना डेढ़ कप स्‍ट्रॉबेरी खाने से आपको बाहर का कोई स्‍नैक्‍स खाने की जरुरत नहीं पड़ेगी जिससे वजन नियंत्रण में रहेगा।

8. अनार

हर रोज एक लाल अनार खाकर आप न केवल वजन कम कर सकते हैं बल्क‍ि ये शारीरिक कमजोरी को भी दूर करने में सहायक होता है।

Continue Reading

राज्य5 hours ago

प्रियंका गांधी ने सीएम योगी को लिखा पत्र, यूपी में कम रखी जाए मेरी सुरक्षा, तारीफ भी की

वीडियो5 hours ago

और जब ग्रीन सिग्नल होने के बावजूद ट्रेन रोककर पटरियों पर पेशाब करने लगा ड्राइवर, देखें वीडियो

देश6 hours ago

एनडी तिवारी के पुत्र रोहित शेखर की मौत मामले में कोर्ट में चार्जशीट दाखिल, पत्नी अपूर्वा मुख्य आरोपी

राज्य6 hours ago

श्रावस्ती : फर्जी मास्टर रोल लगाकर गांव सभा का पैसा निकालने के मामले एफआईआर दर्ज करने की मांग

राज्य6 hours ago

श्रावस्ती : अधिवक्ता संघ भ्रष्टाचार के विरोध में शुक्रवार से कोर्ट का करेगा बहिष्कार

राज्य6 hours ago

कन्नौज : कलेक्ट्रेट कालोनी के जलभराव से निपटने की कार्ययोजना दो दिन में तलब

राज्य6 hours ago

कन्नौज: गोशालाओं में न होने पाए कीचड़, बीमारियों पर अंकुश के लिए उठाएं प्रभावी कदम: डीएम

राज्य6 hours ago

कन्नौज : पात्र किसान अपनी तहसील में जाकर कराएं पंजीकरण-डीएम

राज्य6 hours ago

कन्नौज : जिला अस्पताल के प्रसव वार्ड में सफाई-व्यवस्था को लेकर महिला आयोग ने जताई नाराज़गी

राज्य6 hours ago

सपा सांसद आजम खां भू-माफिया घोषित, मामलों की जांच के लिए एसआईटी गठित

राज्य7 hours ago

मानसून सत्र के दौरान बहराइच से समाजवादी पार्टी के एमएलसी इमलाक खां बेहोश, कार्यवाही स्थगित

राज्य7 hours ago

बलरामपुर : बाढ़ राहत को लेकर जिला प्रशासन ने मॉक ड्रिल का किया प्रशिक्षण 

राज्य10 hours ago

UP पुलिस का अमानवीय चेहरा, शहीद सिपाहियों के शव को लावारिस की तरह लोडर से पहुंचाया पोस्टमार्टम हाउस

हेल्थ10 hours ago

जवां दिखने के लिए इन आसनों को करना न भूलें, जानें इनके बारे में

दुनिया10 hours ago

भ्रष्टाचार में नवाज शरीफ के बाद अब पाकिस्तान के पूर्व PM शाहिद खाकान अब्बासी गिरफ्तार, देखें वीडियो

वीडियो11 hours ago

शराब के नशे में धुत युवती का हाईवोल्टेज ड्रामा, ट्रैफिक पुलिस के साथ की धक्का-मुक्की, देखें वीडियो

वीडियो12 hours ago

देखें वीडियो : बस में लड़की ने सपना चौधरी के गाने पर किया हॉट डांस, नप गए कर्मचारी

हेल्थ12 hours ago

जमीन पर बैठकर भोजन करने पर मिलते हैं गजब के फायदे, सेहत के साथ दूर हो जाती हैं ये बीमारियां

देश2 weeks ago

पत्नी एम्स में थी नर्स, पति को चरित्र पर था शक, बीवी व 3 बच्चों की हत्या कर किया सुसाइड

वीडियो1 week ago

भाजपा विधायक राजेश मिश्रा की बेटी ने दलित युवक से की शादी, कहा-पिता से जान का खतरा, देखें वीडियो

देश2 weeks ago

नई नवेली दुल्हन ने वॉट्सएप पर लोकेशन भेज प्रेमी को बुलाया, पति देखता रहा और कर दिया ये बड़ा कांड

राज्य5 days ago

नशेबाज व गुंडा प्रवृत्ति का है साक्षी मिश्रा का कथित पति अजितेश, लिखता है क्षत्रिय, कई युवतियों से हैं संबंध

देश4 weeks ago

रात में टहल रही थीं दो सगी बहनें, 8 लड़कों ने किया रेप, वीडियो भी बनाया

हेल्थ3 weeks ago

बैली फैट को कम करने में अंडा है बेहद कारगर, अपनाएं ये रेसिपी

बिज़नेस4 weeks ago

कारोबारी सप्ताह के आखिरी दिन शेयर बाजार में मायूसी, 219 अंक फिसला सेंसेक्स

वीडियो3 weeks ago

देखें वीडियो : आमिर की बेटी इरा ने बॉयफ्रेंड संग किया रोमांटिक डांस, यूजर बोले-पिता का नाम बदनाम कर रही

राज्य5 days ago

साक्षी मिश्रा के बाद इस लड़की ने भी की इंटरकास्ट शादी, पिता बोले-वापस आओ नहीं बन जाऊंगा मुसलमान

राज्य6 days ago

दलित से शादी करने वाली BJP विधायक की बेटी साक्षी मिश्रा के पति की पहले हो चुकी है सगाई, देखें फोटो

दुनिया4 weeks ago

US के ड्रोन को मार गिराए जाने से अमेरिका और ईरान के बीच सैन्य टकराव की बढ़ी आशंका

मनोरंजन3 weeks ago

लखनऊ की मिजाजी शाम में महानायक अमिताभ ने की शूटिंग, भुट्टा खाते हुये आए नजर

राज्य3 weeks ago

पढ़ाई में बहन थी तेज, कमजोर करने के लिए भाई करने लगे गैंगरेप, इस तरह हुआ खुलासा

देश3 weeks ago

हाई प्रोफाईल सेक्स रैकेट का पर्दाफाश, पांच महिलाओं सहित 9 गिरफ्तार, 7 मॉडलों को कराया मुक्त

वीडियो2 weeks ago

अमरनाथ श्रद्धालुओं पर गिरने लगे पत्थर तो चट्टान बनकर खड़े हो गए जवान, देखें सांसे थमा देने वाला वीडियो

राज्य4 weeks ago

दोस्ती की आड़ में दोस्त ही बनाते थे मां-बेटी से सम्बन्ध, बेटे को लगी भनक तो दे दी मौत

राज्य4 weeks ago

बरेली : उर्स-ए-ताजुशारिया को लेकर कलेक्ट्रेट सभागार में हुई बैठक

देश3 days ago

पिता ने पैर छूने झुकी गर्भवती बेटी का काटा गला, सामने आई हत्या की ये बड़ी वजह

Trending