Thursday, August 18, 2022
spot_img
Homeहेल्थस्वास्थ्य सुविधाओं में गाजियाबाद अव्वल तो लखनऊ तीसरे पायदान पर, स्वास्थ्य विभाग...

स्वास्थ्य सुविधाओं में गाजियाबाद अव्वल तो लखनऊ तीसरे पायदान पर, स्वास्थ्य विभाग ने जारी की रिपोर्ट

लखनऊ। स्वास्थ्य सुविधाओं में तेजी से सुधार आ रहा है। हर महीने जारी होने वाली हेल्थ रैंकिंग में इस बार गाजियाबाद नम्बर एक पर है। बागपत दूसरे स्थान पर आया। वहीं लखनऊ स्वास्थ्य सुविधाओं के मामले में तीसरे पायदान पर रहा। इससे पहले लखनऊ 12 वें स्थान पर था।

स्वास्थ्य विभाग की तरफ से मई की रिपोर्ट जारी की गई। अस्पताल में उपलब्ध 14 बिन्दुओं पर सर्वे कराया गया है। सरकारी अस्पतालों में मरीजों के इलाज से लेकर दवाएं, जांच, टीकाकरण व मरीजों के नोटिफिकेशन मामलों में काफी सुधार आया है। साफ-सफाई की व्यवस्था भी पहले से बेहतर हुई है।

100 फीसदी अंक मिले
गाजियाबाद, बागपत और लखनऊ में बच्चों के सम्पूर्ण टीकाकरण व टीबी मरीजों के नोटिफिकेशन में 100 फीसदी अंक हासिल किए हैं। गर्भवती महिलाएं प्रसव पूर्व सभी जांचें सरकारी अस्पतालों में मुफ्त मुहैया कराई जा रही हैं। सभी गर्भवती महिलाओं की एचआईवी जांच कराई जा रही है। इससे मातृ एवं शिशु मृत्युदर में कमी आएगी।

डिप्टी सीएम के निरीक्षण से बढ़ रही सुविधाएं
स्वास्थ्य सेवाओं में लगातार सुधार आ रहा है। उप मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री ब्रजेश पाठक लगातार योजनाओं की निगरानी कर रहे हैं। अस्पतालों का निरीक्षण कर रहे हैं। इसका साकारात्मक असर पड़ रहा है।

माल-मोहनलालगंज टॉप पर
सीएमओ डॉ. मनोज अग्रवाल ने बताया कि लखनऊ में मरीजों को बेहतर इलाज मुहैया कराने की दिशा में माल और मोहनलालगंज में शानदार काम किया है। ओपीडी से लेकर इमरजेंसी सेवाएं पहले से दुरुस्त की है। भर्ती मरीजों को भी बेहतर इलाज मुहैया कराया जा रहा है। मलिहाबाद में डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ और कर्मचारी मरीजों की सेवा में जुटे हैं।

अस्पतालों की निगरानी बढ़ी
डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने बताया ग्रामीण व शहरी क्षेत्र के अस्पतालों की निगरानी बढ़ा दी गई है। आशा और एएनएम घर-घर जाकर गर्भवती महिलाओं की सेहत का हाल ले रही हैं। उन्हें संस्थागत प्रसव के लिए प्रेरित किया जा रहा है। सभी गर्भवती महिलाओं के पंजीकरण पर जोर है। अधिक से अधिक संस्थागत प्रसव हों। आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर शिशुओं के स्वास्थ्य का समय-समय पर हाल ले रही हैं। इसका असर पड़ेगा। बच्चों का टीकाकरण अस्पतालों में कराया जा रहा है। कोविड की वजह से काफी बच्चे टीकाकरण से छूट गए थे। उनका टीकाकरण कराया जा रहा है। गर्भवती महिलाओं की एचआईवी जांच कराई जा रही है। ताकि संक्रमण की समय से पहचान की जा सकेगा।

टॉप 10 जनपद

जनपद             रैंकिंग
गाजियाबाद         01
बागपत             02
लखनऊ             03
हाथरस             04
कन्नौज            05
मेरठ               06
मुज्जफरनगर     07
मथुरा             08
आगरा            10
गोरखपुर          11
उन्नाव            12

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments