Connect with us

Coronavirus

कोरोना की दूसरी लहर : यूरोपीय देशों में लॉकडाउन जैसी पाबंदियां

Published

on

पेरिस। दुनिया भर में कोरोना वायरस के मामले तेज़ी से बढ़ रहे हैं. कुछ देशो में काफी हद तक कोरोना के मामले को नियंत्रण में कर लिया गया था. लेकिन अब फिर से उन देशो में कोरोना संक्रमण दोबारा तेजी से बढ़ने लगा। यूरोपीय देशों फ्रांस, इटली, बेल्जियम, ब्रिटेन और स्पेन समेत कई देशों में बड़े कदम उठाते हुए लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लागू हैं। अधिकांश यूरोपीय देशों में कॉफी शॉप, रेस्तरां आदि बंद हैं। रेस्तरां हमेशा यूरोपीय सामाजिक जीवनशैली के केंद्र में रहे हैं।

इनसे सिर्फ नौकरियां और राजस्व ही नहीं बल्कि सामाजिक ताने-बाने का अस्तित्व भी दांव पर लगा है। इन जगहों को बंद कर दिए जाने से सामाजिक जीवन प्रभावित हो रहा है। यहां पर पड़ोसी मेल-मिलाप करते हैं, पारिवारिक मुलाकातें होती हैं और नए परिवारों के बीज बोए जाते हैं। यह केवल भोजन के लिए नहीं है, यह कल्याणकारी है।

ब्रसेल्स में डी वाइरिंग रेस्तरां में शुक्रवार रात की डिनर सेवा इस महीने की शुरुआत में शुरू हुई थी, रेस्तरां में बुकिंग भी फुल रहने लगी थी। इसी बीच, बेल्जियम के प्रधानमंत्री ने कैफे, बार और रेस्तरां को एक महीने के लिए बंद करने का आदेश दे दिया। यह निश्चित रूप से एक झटका था। फ्रांस,जर्मनी, स्पेन आदि में भी रेस्तरां शाम को बंद कर दिए जाते हैं, जो कि सबसे अहम समय होता है।

रेस्तरां कारोबार में 79.3% की गिरावट

वहीँ, यूरोपियन यूनियन ने कहा कि होटल और रेस्तरां उद्योग को फरवरी से अप्रैल के बीच कारोबार में 79.3% की गिरावट आई है। इटली में रेस्तरां लॉबी समूह के एक अनुमान के अनुसार, सितंबर में, इटली में रेस्तरां और कैफे के 04 लाख से अधिक कर्मचारी बेरोजगार थे। आने वाले महीनों में संख्या और भी भयावह होगी। नीदरलैंड में 60 से अधिक बड़े रेस्तरां दिवालिया होने की कगार पर है।

सर्दियों में मामले और बढ़ने की आशंका

यूरोप में 2,05,809 नए संक्रमित सामने आए थे। इनमें सबसे ज्यादा फ्रांस से 45 हजार और ब्रिटेन में 23 हजार नए मामले मिले। विशेषज्ञों का मानना है कि सर्दियां आने पर कोरोना संक्रमण का और भयानक रूप देखने को मिल सकता है। सिर्फ यूरोप ही नहीं कई अन्य देशों को भी दूसरी लहर का सामना करना पड़ सकता है।

यूरोपीय देशों ने उठाये सख्त कदम

  • प्रधानमंत्री सांचेज़ ने कहा कि अलग-अलग क्षेत्र अगर रात के कर्फ़्यू के वक़्त में अपने हिसाब से कुछ बदलाव करना चाहते हैं तो वो इसे एक घंटे आगे-पीछे कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि एक ज़िले से दूसरे ज़िले में आने-जाने के प्रतिबंध क्षेत्रीय नेता तय करेंगे और हो सकता है कि सिर्फ काम या स्वास्थ्य संबंधी ज़रूरतों के लिए ही इजाज़त मिले.स्पेन के 17 क्षेत्रों में से आधे से ज़्यादा सख़्त प्रतिबंध लगाए जाने की मांग कर रहे थे, और ताज़ा प्रतिबंध कैनरी द्वीप को छोड़कर सभी क्षेत्रों पर लागू होंगे.
  • बेल्जियम में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर सोमवार से नए प्रतिबंधों को लागू कर दिए गए हैं। सभी बार-रेस्तरां को करीब एक माह बंद रखने का आदेश दिया है।
  • इटली ने भी रविवार को नए प्रतिबंध घोषित किए हैं। यहां बाहर निकलने पर मास्क अनिवार्य है। सभी बार-रेस्तरां छह बजे बंद करने होंगे।
  • फ्रांस के नौ प्रमुख शहरों में रात्रि नौ बजे से लेकर सुबह छह बजे तक कर्फ्यू रहेगा। अनावश्यक बाहर निकलने पर जुर्माना भरना होगा।
  • जर्मनी में चांसलर एंजला मर्केल ने लोगों से घर में रहने की अपील की। साथ ही बार-रेस्तरां को जल्दी बंद करने का आदेश भी दिया गया है।
  • ब्रिटेन के लाखों लोग एक बार फिर सख्त लॉकडाउन की जद में हैं। ग्रेटर मैनचेस्टर, इंग्लैंड के लिवरपूल सिटी और लंकाशायर में व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे।

Trending