दिल्ली में कोरोना का महाविस्फोट, एक ही दिन में डबल कोरोना संक्रमितों की संख्या

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना की रफ़्तार तेज़ हो गई है। बुधवार को कोरोना के मामलों में दोगुना बढ़ोतरी देखने को मिली है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने इसकी जानकारी दी है। उन्होंने बुधवार सुबह एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दिल्ली में कोरोना के हालातों के बारे में जानकारी दी।
 
दिल्ली में कोरोना का महाविस्फोट, एक ही दिन में डबल कोरोना संक्रमितों की संख्या

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना की रफ़्तार तेज़ हो गई है। बुधवार को कोरोना के मामलों में दोगुना बढ़ोतरी देखने को मिली है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने इसकी जानकारी दी है। उन्होंने बुधवार सुबह एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दिल्ली में कोरोना के हालातों के बारे में जानकारी दी। पिछले 24 घंटे में दिल्ली में करीब 5500 नए मरीज मिले थे। स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी कहा है कि पॉजिटिविटी रेट आज बढ़कर 10 फीसदी हो सकता है।

सत्येंद्र जैन ने कहा कि आज दिल्ली में 10 हजार नए कोरोना के मामले आ सकते हैं। इसी के साथ दैनिक पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 10 प्रतिशत पहुंच जाएगा। उन्होंने कहा कि लगातार आ रहे मामले यह साफ करते हैं कि देश में तीसरी लहर आ चुकी है और दिल्ली में पांचवीं लहर शुरू हो चुकी है। स्वास्थ्य मंत्री ने जानकारी दी कि इन हालातों को देखते हुए दिल्ली सरकार ने निजी अस्पतालों को निर्देश दिया है कि वो अपने कोविड बेड की क्षमता को 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 40 प्रतिशत कर लें। वर्तमान में सरकारी अस्पतालों में सिर्फ दो प्रतिशत बेड ही भरे हैं।

विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि 21 दिसंबर से दिल्ली में जीनोम सीक्वेंसिंग बढ़ाई गई है। तब से लेकर 31 दिसंबर के बीच कुल 655 सैंपल की जीनोम सीक्वेंसिंग हुई है जिनमें 332 सैंपल में ओमिक्रॉन वैरिएंट मिला है। जबकि बाकी सैंपल में डेल्टा और अन्य वैरिएंट पाए गए हैं। 30 से 31 दिसंबर के बीच 187 में से 152 सैंपल में ओमिक्रॉन मिला था। वहीं 21 से 28 दिसंबर के बीच 468 सैंपल की जीनोम सीक्वेंसिंग हुई थी जिनमें से 180 सैंपल में ओमिक्रॉन पाया गया। इस दौरान 147 सैंपल में डेल्टा वैरिएंट भी मिला था।

नाम न छापने की शर्त पर उन्होंने बताया कि 21 दिसंबर से राजधानी में दैनिक संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी हुई है लेकिन 28 दिसंबर के बाद इनकी संख्या में काफी वृद्घि दर्ज की गई है। 28 दिसंबर के बाद ही राजधानी में कोरोना की संक्रमण दर में रोजाना एक से दो फीसदी तक की बढ़ोतरी हुई है।