किसे मिलेगी रिलायंस इंडस्ट्रीज की कमान? मुकेश अंबानी ने पहली बार उत्तराधिकार पर की यह बड़ी बात

रिलायंस इंडस्ट्रीज-मुकेश अंबानी
 
mukesh
देश के सबसे अमीर शख्स और रिलायंस इंडस्ट्रीज के मुखिया मुकेश अंबानी ने पहली बार रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमुख ने उनके उत्तराधिकारी को लेकर बड़ी बात कही है। 

मुंबई। देश के सबसे अमीर शख्स और रिलायंस इंडस्ट्रीज के मुखिया मुकेश अंबानी ने पहली बार रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमुख के रूप में उत्तराधिकार की बात की. अंबानी ने रिलायंस फैमिली डे (आरएफडी) कार्यक्रम में अपने संबोधन के दौरान ये बातें कहीं. उत्तराधिकार योजनाओं पर पहली बार आरआईएल प्रमुख ने कहा कि युवा पीढ़ी अब नेतृत्व की भूमिका निभाने के लिए तैयार हैं. अंबानी ने अपने पिता धीरूभाई अंबानी के जन्मदिन पर आयोजित कार्यक्रम में उत्तराधिकार सौंपने की प्रक्रिया शुरू करने की जानकारी दी.

अंबानी ने कहा, हमें उनका मार्गदर्शन करना चाहिए, उन्हें सक्षम बनाना चाहिए, उन्हें प्रोत्साहित करना चाहिए और बैठकर तालियां बजानी चाहिए क्योंकि वे हमसे बेहतर प्रदर्शन करते हैं. 64 वर्षीय अंबानी ने 2002 में अपने पिता की मृत्यु के बाद आरआईएल के अध्यक्ष के रूप में पदभार संभाला.

रिलायंस को और भी अधिक ऊंचाइयों तक ले जाएंगे बच्चे
उनके तीन बच्चे, आकाश, ईशा और अनंत, आरआईएल के दूरसंचार, खुदरा और ऊर्जा व्यवसायों में शामिल हैं. जबकि कोई भी आरआईएल के बोर्ड में नहीं है, वे कंपनी में निदेशक हैं. उन्होंने कहा, मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है कि आकाश, ईशा और अनंत, अगली पीढ़ी के नेताओं के रूप में, रिलायंस को और भी अधिक ऊंचाइयों तक ले जाएंगे.

अंबानी ने कहा, मैं हर दिन रिलायंस के लिए उनके जुनून, प्रतिबद्धता और समर्पण को देख और महसूस कर सकता हूं. मुझे उनमें वही चिंगारी और क्षमता दिखाई देती है जो मेरे पिता के पास लाखों लोगों के जीवन में बदलाव लाने और भारत के विकास में योगदान देने के लिए थी. उनका बयान सूचीबद्ध कंपनियों में चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्ट पदों को विभाजित करने के लिए सेबी की अप्रैल 2022 की समय सीमा से पहले आया है.

सेबी ने लिस्टेड कंपनियों के लिए अपने नए मानदंडों का पालन करने के लिए समय सीमा बढ़ा दी है. सेबी के चेयरमैन अजय त्यागी ने कहा, हमने चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर के पद को विभाजित करने के लिए इंडस्ट्रीज को पर्याप्त समय दिया है. मैं केवल उद्योग जगत से इसका पालन करने की अपील कर सकता हूं.

अंबानी ने आगे कहा कि समय आ गया है कि इस विशाल अवसर का लाभ उठाकर आरआईएल के भविष्य के विकास की नींव रखी जाए. आरआईएल, जो एक टेक्सटाइल कंपनी के रूप में शुरू हुई थी, अलग-अलग व्यावसायिक हितों के साथ एक समूह में बदल गई है, जिसके उत्पाद हर दिन लोगों के जीवन को छूते हैं.

ग्रीन एनर्जी में बढ़ाया कदम
हमने अपने ऊर्जा कारोबार को पूरी तरह से नया रूप दिया है. अब रिलायंस स्वच्छ और हरित ऊर्जा में वैश्विक नेता बनने की ओर अग्रसर है. उन्होंने कहा, हमारे सबसे पुराने व्यवसाय का यह परिवर्तन हमें रिलायंस के लिए सबसे बड़ा विकास इंजन प्रदान करेगा.