पोस्ट ऑफिस के इस स्कीम के तहत डबल होगा आपका पैसा, जानिए पूरी डिटेल

आजकल हर कोई अपने भविष्य के बारे में सोचता है। भविष्य की तैयारी के लिए आज ही से अपने इनकम से कुछ पैसों का निवेश करना शुरू कर दें। लेकिन निवेश ऐसे जगह पर करें जहाँ आपको लाभ अच्छा मिलें। इसलिए हम आपको बताएँगे पोस्ट ऑफिस की एक ऐसी स्किम जहाँ
 
पोस्ट ऑफिस के इस स्कीम के तहत डबल होगा आपका पैसा, जानिए पूरी डिटेल

नई दिल्ली। आजकल हर कोई अपने भविष्य के बारे में सोचता है। भविष्य की तैयारी के लिए आज ही से अपने इनकम से कुछ पैसों का निवेश करना शुरू कर दें। लेकिन निवेश ऐसे जगह पर करें जहाँ आपको लाभ अच्छा मिलें। इसलिए हम आपको बताएँगे पोस्ट ऑफिस की एक ऐसी स्किम जहाँ पर आपका पैसा भी सुरक्षित रहेगा और कोई रिस्क भी नहीं रहेगा। साथ ही इस स्कीम के तहत आपको मुनाफा भी अच्छा मिलेगा। यह जीरो रिस्क वाला निवेश यानी पोस्ट ऑफिस सेविंग स्कीम्स में निवेश ही आपके लिए बेहतर विकल्प है. अगर आप लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट चाहते हैं तो पोस्ट ऑफिस की किसान विकास पत्र (केवीपी) स्कीम में निवेश करें. आइये आपको बताते हैं इस जबरदस्त स्कीम के बारे में.

किसान विकास पत्र स्कीम : किसान विकास पत्र (केवीपी स्कीम) केंद्र सरकार की एक वन टाइम इन्वेस्टमेंट स्कीम है, जिसके तहत एक तय अवधि में आपका पैसा दोगुना हो जाता है. किसान विकास पत्र देश के सभी डाकघरों और बड़े बैंकों में मौजूद है. इसका मेच्योरिटी पीरियड अभी 124 महीने है. इसमें कमसे कम 1000 रुपए का निवेश करना होता है. इसके तहत अधिकतम निवेश की कोई लिमिट नहीं है. किसान विकास पत्र (KVP) में सर्टिफिकेट के रूप में निवेश होता है. 1000 रुपए, 5000 रुपए, 10,000 रुपए और 50,000 रुपए तक के सर्टिफिकेट हैं, जिन्हें खरीदा जा सकता है.गौरतलब है कि पोस्ट ऑफिस स्कीम्स पर सरकारी गारंटी मिलती है, ऐसे में इसमें रिस्क बिल्कुल नहीं है.

स्कीम के लिए जरूरी डाक्यूमेंट्स 

इस स्कीम में निवेश की कोई सीमा नहीं होती है ऐसे में मनी लॉन्ड्रिंग का खतरा भी है. इसलिए सरकार ने इसमें 50,000 रुपए से ज्यादा के निवेश पर पैन कार्ड अनिवार्य कर दिया है. साथ ही पहचान पत्र के तौर पर आधार भी देना होता है. अगर आप इसमें 10 लाख या इससे ज्यादा निवेश करते हैं तो आपको इनकम प्रूफ भी जमा करना होगा, जैसे आईटीआर, सैलरी स्लिप और बैंक स्टेटमेंट.

जानिए कैसे खरीदते हैं सर्टिफिकेट

1. सिंगल होल्डर टाइप सर्टिफिकेट: ये खुद के लिए या किसी नाबालिग के लिए खरीदा जाता है
2. ज्वाइंट A अकाउंट सर्टिफिकेट: ये दो वयस्कों को ज्वाइंट रूप से जारी किया जाता है. दोनों होल्डर्स को भुगतान होता है, या जो जीवित हो
3. ज्वाइंट B अकाउंट सर्टिफिकेट: ये दो वयस्कों को ज्वाइंट रूप से जारी किया जाता है. दोनों में से किसी एक को भुगतान होता है या जो जीवित हो

खासियत 

  • इस स्कीम पर गारंटी के साथ रिटर्न मिलता है, इसका शेयर बाजार से कोई लेना देना नहीं है। इसलिए इसमें निवेश करना सुरक्षित है.
  • इसमें अवधि खत्म होने के बाद आपको पूरी रकम मिल जाती है.
  • इनकम टैक्स के सेक्शन 80C के तहत टैक्स छूट नहीं मिलती है.
  • इस पर मिलने वाला रिटर्न पूरी तरह से टैक्सेबल है. मैच्योरिटी के बाद निकासी पर कोई टैक्स नहीं लगता है.
  • मैच्योरिटी पर आप रकम इसके निकाल सकते हैं, लेकिन इसका लॉक-इन पीरियड 30 महीनों का होता है. इससे पहले आप स्कीम से पैसा नहीं निकाल सकते, बशर्ते खाताधारक की मृत्यु हो जाए या कोर्ट का आदेश हो.
  • इसमें 1000, 5000, 10000, 50000 के मूल्य वर्ग में निवेश किया जा सकता है.
  • किसान विकास पत्र को कोलैटरल के तौर या सिक्योरिटी के तौर पर रखकर आप लोन भी ले सकते हैं.