Connect with us

बिज़नेस

महंगाई के र्मोचे पर मिली राहत, 22वें दिन नहीं बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए क्या हैं आज की कीमतें

Published

on

नई दिल्‍ली। तेल बढ़ती कीमतों के र्मोचे पर आम आदमी थोड़ी राहत मिली है। दरअसल पिछले 21 दिनों से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी चला आ रहा सिलसिला 22वें दिन थमा है। तेल विपणन कंपनियों ने रविवार को पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कोई बढ़ोतरी नहीं की है।

इंडियन ऑयल के वेबसाइट के मुता‍बिक देश के चार महानगरों में पेट्रोल राजधानी दिल्‍ली, मुंबई, चेन्‍नई और कोलकाता में क्रमश: 80.38 रुपये, 87.14 रुपये, 83.59 रुपये और 82.05 रुपये प्रति लीटर की कीमत पर उपलब्‍ध है। इसी तरह डीजल भी क्रमश: 80.40 रुपये, 78.71 रुपये, 77.61 रुपये और 75.52 रुपये लीटर के भाव बिक रहा है।

उल्‍लेखनीय है कि पिछले 21 दिनों में पेट्रोल की कीमत 9.12 रुपये प्रति लीटर, जबकि डीज़ल की कीमत में 10.77 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है। हालांकि, इस हिसाब से अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में कच्‍चे तेल की कीमत में बढ़ोतरी नहीं हुई है।

जानिए आपके शहर में कितना है दाम

पेट्रोल-डीजल की कीमत आप एसएमएस के जरिए जान सकते हैं। इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, आपको RSP और अपने शहर का कोड लिखकर 9224992249 नंबर पर भेजना होगा। हर शहर का कोड अलग-अलग है, जो आपको आईओसीएल की वेबसाइट से मिल जाएगा।

बिज़नेस

पेट्रोल-डीजल की कीमतें आज भी स्थिर, जानिए आपके शहर में कितना है दाम 

Published

on

नई दिल्‍लीअंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में नरमी का असर अब घरेलू बाजार पर भी दिखाने लगा है। तेल कंपनियों ने लोगों को राहत देनी शुरू कर दी है। सरकारी तेल कंपनियों ने आज लगातार 5वें दिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों में तब्दीली नहीं की है।

इससे पहले, बीते जून में लगातार 21 दिनों तक लगातार पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी हुई थी। हालांकि उस दौरान अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में लगभग नरमी रही थी। आज से 5 दिन पहले, मतलब बीते सोमवार को जहां डीजल 13 पैसे महंगा हुआ वहीं पेट्रोल की कीमत में 5 पैसे का इजाफा हुआ था. लेकिन आज कीमतें स्थिर हैं।

आज दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 80.43 रुपये प्रति लीटर है. वहीं, डीजल की कीमत 80.53 रुपये प्रति लीटर है। आईओसीएल की वेबसाइट से मिली जानकारी के अनुसार,पेट्रोल और डीजल के दाम:

शहर का नाम पेट्रोल/रुपये लीटर डीजल/रुपये लीटर
दिल्ली 80.43 80.53
मुंबई 87.19 78.83
चेन्नै 83.63 77.72
कोलकाता 82.10 75.64
नोएडा 81.08 72.59
रांची 80.29 76.51
बेंगलुरु 83.04 76.58
पटना 83.31 77.40
चंडीगढ़ 77.41 71.98
लखनऊ 80.98 72.49

 

Continue Reading

दुनिया

जेफ बेजोस ने अमीरी के अपने ही रिकॉर्ड को तोड़ा, पूर्व पत्नी को भी हुआ खूब फायदा

Published

on

By

नई दिल्‍ली। ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस की संपत्ति में सिर्फ एक हफ्ते में भारी उछाल देखने को मिल है। जिसके बाद उन्होंने अपने ही रिकॉर्ड को तोड़ दिया है।

खास बात है कि पिछले साल तलाक के बाद उन्हें अपनी संपत्ति का एक बड़ा हिस्सा अपनी पूर्व पत्नी को देना पड़ा था। इसके बाद भी बेज़ोस की संपत्ति नये रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है।

आपको बता दें कि पिछले साल तलाक निपटारे के तहत उन्हें अमेजन डॉट कॉम में अपनी हिस्सेदारी के एक चौथाई हिस्से को त्यागना पड़ा था। सीएटल बेस्ड रिटेलर शेयरों में बुधवार को 4.4 फीसद की तेजी आई थी और यह 2,878.70 डॉलर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया था। जिससे जेफ बेजोस की संपत्ति बढ़कर 171.6 बिलियन डॉलर पर पहुंच गई।

दुनिया में पहली बार किसी व्यक्ति की कुल संपत्ति इस स्तर पर पहुंची है। इसके पहले का रिकॉर्ड भी खुद बेजोस के नाम पर ही है, जो कि 167.7 अरब डॉलर था. ​4 सितंबर 2018 को बेज़ोस की संपत्ति 167.7 अरब डॉलर पर पहुंची थी। पिछले एक साल में बेज़ोस की संपत्ति में 56.7 अरब डॉलर का इजाफा हुआ है।

कोरोना काल में एक तरफ जहां लोग कंगाल हो रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ बेजोस की संपत्ति में जमकर उछाल देखने को मिला है। कोरोना वायरस के इस संकट के दौर में अमेजॉन के ऑर्डर्स में दुनिया भर में इजाफा हुआ है।

दुनिया भर में लॉकडाउन के चलते ग्राहकों ने ऑनलाइन शॉपिंग का रुख किया है और इसी के चलते अमेजॉन जैसी कंपनियों के शेयरों में तेजी देखने को मिली है। इसका फायदा सिर्फ बेजोस को ही नहीं बल्कि इसका फायदा जेफ बेजोस की पूर्व पत्नी मैकेंजी बेजोस को भी मिला है। क्योंकि अमेजन के कुछ शेयर उनके पास भी है, उनकी संपत्ति अब 57 बिलियन डॉलर है और दुनिया के अमीरों में वह 12वें नंबर है। महिलाओं की बात करें तो वह दुनिया भर में अमीरों की लिस्ट में दूसरे नंबर पर हैं।

दुनिया के अन्य अमीर व्यक्तियों की बात करें, तो दूसरे नंबर पर आते हैं बिल गेट्स इनकी कुल संपत्ति 114 बिलियन डॉलर है। तीसरे नंबर पर हैं मार्क जुकरबर्ग हैं। उनकी संपत्ति 90.2 बिलियन डॉलर है।

Continue Reading

देश

चीन से अब बिजली उपकरण आयात नहीं होंगे 

Published

on

By

नई दिल्ली। बिजली मंत्री आर के सिंह ने शुक्रवार के कहा कि भारत अब चीन जैसे देशों से बिजली उपकरणों का आयात नहीं करेगा। उन्होंने यह भी कहा कि वितरण कंपनियों (डिस्कॉम) को आर्थिक दृष्टि से मजबूत बनाना जरूरी है क्योंकि ऐसा नहीं होने पर क्षेत्र व्यावहारिक नहीं होगा।

राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के बिजली और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रियों के सम्मेलन के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए उन्होंने यह बात कही। वीडियो कांफ्रेन्सिंग के जरिए आयोजित इस सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ”प्रायर रेफरेंस कंट्री (पूर्व संदर्भित देशों) से उपकरणों की आयात की अनुमति नहीं होगी। इसके तहत हम देशों की सूची तैयार कर रहे हैं लेकिन इसमें मुख्य रूप से चीन और पाकिस्तान शामिल हैं।”

‘प्रायर रेफरेंस कंट्री की श्रेणी में उन्हें रखा जाता है जिनसे भारत को खतरा है या खतरे की आशंका है। मुख्य रूप से इसमें वे देश हैं जिनकी सीमाएं भारतीय सीमा से लगती हैं। इसमें मुख्य रूप से पाकिस्तान और चीन हैं। उन्होंने राज्यों से भी इस दिशा में कदम उठाने को कहा।

सिंह ने यह बात ऐसे समय कही जब हाल में लद्दाख में सीमा विवाद के बीच भारत और चीन की सेना के बीच हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए। उन्होंने कहा, ”काफी कुछ हमारे देश में बनता है लेकिन उसके बावजूद हम भारी मात्रा में बिजली उपकरणों का आयात कर रहे हैं। यह अब नहीं चलेगा। देश में 2018-19 में 71,000 करोड़ रुपये का बिजली उपकरणों का आयात हुआ जिसमें चीन की हिस्सेदारी 21,000 करोड़ रुपए है।”

मंत्री ने यह भी कहा, ”दूसरे देशों से भी उपकरण आयात होंगे, उनका देश की प्रयोगशालाओं में गहन परीक्षण होगा ताकि यह पता लगाया जा सके कि कहीं उसमें ‘मालवेयर और ‘ट्रोजन होर्स का उपयोग तो नहीं हुआ है। उसी के बाद उसके उपयोग की अनुमति होगी।”

Continue Reading

Trending