आरबीआई : फिर टूटा सस्ते लोन का सपना, ब्याज़ दरों में नहीं हुआ कोई बदलाव

आरबीआई : फिर टूटा सस्ते लोन का सपना, ब्याज़ दरों में नहीं हुआ कोई बदलाव
आरबीआई : फिर टूटा सस्ते लोन का सपना, ब्याज़ दरों में नहीं हुआ कोई बदलाव
  • रेपो दर 4 फीसदी और रिवर्स रेपो दर 3.35 फीसदी पर बरकरार
  • वित्त वर्ष 2021-22 में जीडीपी में 10.5 फीसदी ग्रोथ का अनुमान

नई दिल्‍ली/मुंबई। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने ब्‍याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने देश में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच रेपो दर और रिवर्स रेपो दर में कोई बदलाव नहीं किया है। एमपीसी ने रेपो दर 4 फीसदी और रिवर्स रेपो दर 3.35 फीसदी पर बरकरार रखा है। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने बुधवार को ये जानकारी दी।

इस बैठक के बाद आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने बताया कि मौद्रिक नीति समिति ने ब्‍याज दरों में कोई बदलाव नहीं करने का फैसला किया है। एमपीसी ने रेपो दर और रिवर्स रेपो दर को यथावत रखने का फैसला किया है। गौरतलब है कि वर्तमान में रिजर्व बैंक का रेपो दर 4 फीसदी है, जबकि रिवर्स रेपो दर 3.5 फीसदी है।

शक्तिकांत दास ने वित्त वर्ष 2021-22 की पहली एमपीसी की समीक्षा पेश करते हुए कहा कि आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति ने नीतिगत रुख को ‘उदार’ बनाए रखा है। आरबीआई ने वित्त वर्ष 2021-22 में जीडीपी में 10.5 फीसदी के ग्रोथ का अनुमान जाहिर किया है। उल्‍लेखनीय है कि एमपीसी ने अपनी पिछले पॉलिसी की घोषणा में भी ये अनुमान जाहिर किया था। मुद्रास्फीति पर दास ने कहा कि, वित्त वर्ष 2022 में सीपीआई 5.1 फीसदी रह सकती है। पहली और दूसरी तिमाही में खुदरा महंगाई दर 5.20 फीसदी रह सकती है। चौथी तिमाही में यह पांच फीसदी हो सकती है।

आरबीआई ने 2020-21 की पहली तिमाही के लिए खुदरा महंगाई दर 5% की उम्मीद जताई है। वहीं, वित्त वर्ष 2021-22 की पहली और दूसरी तिमाही के लिए रिटेल महंगाई 5.2% रहने की संभावना है। तीसरी तिमाही में 4.4% और चौथी तिमाही में 5.1% रहने की संभावना है। शक्तिकांत दास ने कहा कि खाने-पीने वाले के सामानों की मंहगाई दक्षिण-पश्चिम मानसून और पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले टैक्स पर निर्भर करेगी।

https://kanvkanv.com/business/rbi-mpc-meeting-will-start-from-today-know-the-opinion-of-the-expert/

Previous articleऑस्ट्रेलिया के लिए 200 मैच खेलने वाली तीसरी महिला क्रिकेटर बनीं एलिसा हीली
Next articleपंजाब: अलग-अलग जगहों से बरामद हुई 295 करोड़ की हेरोइन